भारत की प्रगति के लिए हिन्दी आवश्यक : डॉ. व्यास - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 15 अक्तूबर 2022

भारत की प्रगति के लिए हिन्दी आवश्यक : डॉ. व्यास

Hindi-important-for-india
शास नर्मदा महाविद्यालय नर्मदापुरम् के हिंदी विभाग द्वारा शासन के निर्देशानुसार हिंदी विमर्श कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें हिंदी में ज्ञान का प्रकाश विषय पर संगोष्ठी तथा काव्य पाठ-भाषण आदि साहित्यिक गतिविधियां आयोजित की गयीं। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में  डां.संतोष व्यास ,विशिष्ट अतिथि डॉ. नर्मदा प्रसाद सिसोदिया उपस्थित रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता इतिहास  के विभागाध्यक्ष डॉ बी.सी.जोशी ने की । कार्यक्रम का शुभारंभ  अतिथियों के दीप प्रज्ज्वलित करने से हुआ। सरस्वती वंदना  का गायन  श्री जयसिंह ठाकुर द्वारा किया गया। विषय प्रवर्तन हिंदी के विभागअध्यक्ष एवं कार्यक्रम के संयोजक डॉ.के.जी. मिश्र के द्वारा किया गया उन्होंने  चिकित्सा  शिक्षा का शिक्षण कार्य हिंदी भाषा में प्रारंभ करने पर शासन को बधाई देते हुए कहा कि हमारा ज्ञान -विज्ञान हिंदी भाषा में निहित है। स्वागत उद्ववोधन डॉ बी.सी जोशी ने किया, मयंक वाधवानी, श्रेया श्रीवास्तव, नेहा कहार ,देवांश बैरागी आदि विद्यार्थियों ने हिंदी भाषा के महत्व को रेखांकित करते हुए  काव्य पाठ एवं व्याख्यान प्रस्तुत किए। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि डॉ नर्मदा प्रसाद सिसोदिया ने हिंदी की उत्तरोत्तर वृद्धि हेतु कार्य करने के लिए  विद्यार्थियों  को प्रोत्साहित किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि  डॉ. संतोष व्यास ने  देवनागरी लिपि की  वैज्ञानिकता पर अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन डॉ.दिनेश श्रीवास्तव ने किया तथा आभार डॉ अंजना यादव ने व्यक्त किया।  कार्यक्रम में श्रीमती प्रीति कौशिक का विशेष योगदान रहा। इस अवसर पर शाम 6:00 बजे एक दीपक मातृभाषा के नाम कार्यक्रम के अंतर्गत दीप प्रज्वलित कर हिंदी के संवर्धन की कामना भी की गयीं।  डॉ. ममता गर्ग,डॉ. सविता गुप्ता, डॉ.अमिता जोशी, डॉ. हंसा व्यास, डॉ. नीलू दुबे, डॉ अर्पणा श्रीवास्तव सहित  अधिक संख्या में छात्र छात्राएं उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: