मधुबनी : डीएम-एसपी की जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 22 अक्तूबर 2022

मधुबनी : डीएम-एसपी की जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक

  • नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के द्वारा प्रतिबंधित पटाखों के इस्तेमाल के रोकथाम को लेकर दिए निर्देश, सभी संवेदनशील छठ घाटों पर दंडाधिकारी और पर्याप्त पुलिस बल की होगी तैनाती। निजी नाव के संचालन पर पूर्णतया रोक रहेगी।

Madhubani-shanti-samiti-baithak
मधुबनी, जिला पदाधिकारी अरविन्द कुमार वर्मा एवं पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार की संयुक्त अध्यक्षता में जिले में शांतिपूर्ण एवं सौहाद्रपूर्ण वातावरण में  दीपावली एवं छठ पर्व मनाए जाने को लेकर समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में   जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक आयोजित हुई। जिलाधिकारी ने उपस्थित लोगों को दीपावली और छठ पर्व की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि दीपावली एवं छठ पर्व हम सभी के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण पर्व है और हम  सभी इसे शांतिपूर्ण एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण में मनाएं। उन्होंने  अहा की साफ सफाई, रौशनी की व्यवस्था और पटाखों के इस्तेमाल से लेकर घाटों पर जल की गहराई आदि सावधानी जैसे अहम बिंदुओं पर गौर करने की जरूरत है। उन्होंने सभी अनुमंडल पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी छठ घाटों पर स्थानीय ट्रेंड गोताखोर मानदेय सहित रखे जाएं। *उन्होंने नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के द्वारा प्रतिबंधित पटाखों के इस्तेमाल के रोकथाम को लेकर भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बिना उचित अनुज्ञप्ति के* पटाखे बेचना प्रतिबंधित है। इसलिए सभी थानाध्यक्ष इसका खयाल रखें और गैर कानूनी तरीके से पटाखे की बिक्री पर रोक लगाएं। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी संवेदनशील छठ घाटों पर दंडाधिकारी और पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती की जा रही है। *उन्होंने कहा कि पूजा के दौरान एसडीआरएफ की टीमें सजग होकर कर्तव्य का निर्वहन करेंगी। इस दौरान किसी निजी नाव के संचालन पर पूर्णतया रोक रहेगी। बैठक को संबोधित करते हुए पुलिस अधीक्षक ने कहा कि ऐसे सभी छठ घाटों जहां पर्याप्त भीड़ भाड़ रहती है, पूजा समितियों से अपेक्षा है कि *वॉच टॉवर का निर्माण करें। ताकि, भीड़ के* मूवमेंट पर नजर रखी जा सके। उन्होंने छठ घाटों पर सक्षम साउंड सिस्टम लगाने के निर्देश भी दिए। ताकि, छठ घाट पर लोगों को समय समय पर आवश्यक निर्देश दिया जा सके। उन्होंने निर्देश दिया कि यदि कोई छठ घाट रेलवे ट्रैक के नजदीक अवस्थित हों, तो वहां सुरक्षा के दृष्टिकोण से पुलिस बलों की प्रतिनियुक्ति की जाए। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने जिले के विभिन्न क्षेत्रों से शांति समिति की बैठक में आए हुए लोगों को से छठ पर्व के सफल आयोजन के लिए सुझाव भी मांगे। उपस्थित लोगों ने बताया कि समूचे जिले में छठ पर्व को बेहद शांतिपूर्ण तरीके से मनाने की परम्परा रही है, जो आगे भी जारी रहेगी। लोगों ने बताया कि कई ऐसे तालाबों जहां अत्यधिक जल उत्प्लावन की समस्या है, से अतिरिक्त जल की निकासी पंप द्वारा की जा रही है। नगर निगम क्षेत्र में साफ सफाई और स्वच्छता के लिए अभियान चलाकर प्रयास किया जा रहा है। लोगों द्वारा ऐसे छठ व्रतियों के लिए जो दंडवत होकर छठ घाटों तक आते हैं के लिए रास्तों को दुरुस्त कराए जाने की मांग की गई । जिला परिषद सदस्य और समिति की सदस्य सईदा बानो ने बिजली के लटके हुए तारों को दुरुस्त करवाने की आवश्यकता के बारे में कहा। रामधीर खन्ना द्वारा जिलाधिकारी का ध्यान आकर्षित करते हुए जिले के पिपराघाट, सहोरबा घाट पिरही, मुराहद्दी, हदियाही पोखर जैसे जगहों पर इस दौरान किए जाने वाले कल्प वास के समय सुरक्षा के दृष्टिकोण से कदम उठाए जाने की मांग की। लदनिया के विष्णुदेव भंडारी द्वारा गिद्धवास गांव में तालाब के सटे बने सुरक्षा वॉल की अत्यधिक ऊंचाई को देखते हुए सीढ़ी के निर्माण की मांग की गई। सदस्यों द्वारा बताया गया कि बाबूबरही के सलखनिया घाट में बने नदी के फाटक को कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा छठ पूजा के दिन अकारण खोल दिया जाता है। जिससे जल का स्तर अचानक से बढ़ जाता है। इसके रोकथाम के लिए पर्याप्त कदम उठाने की मांग की गई। जिलाधिकारी सभी सदस्यों को उनके महत्वपूर्ण सुझाव के लिए धन्यवाद भी दिया। उक्त बैठक में उप विकास आयुक्त विशाल राज, नगर आयुक्त अनिल चौधरी, विशेष कार्य पदाधिकारी, जिला गोपनीय शाखा, अमेत विक्रम बैनामी, अनुमंडल पदाधिकारी सदर, अश्वनी कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी जयनगर, बेबी कुमारी, अनुमंडल पदाधिकारी बेनीपट्टी, अशोक कुमार मंडल, अनुमंडल पदाधिकारी, झंझारपुर, शैलेश कुमार चौधरी, अनुमंडल पदाधिकारी, फुलपरास, अभिषेक कुमार, जिले के सभी अनुमंडल के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सहित अन्य संबंधित अधिकारी व शांति समिति के सदस्यों के रूप में कैलाश साह, इस्तियाक अहमद, नवो नारायण झा, मो नूर अली, राकेश कुमार रंजन, विवेक कुमार, अनिल सिंह, चूल्हाई कामत, नसीम अहमद, रामचंद्र मिश्र सहित अन्य सदस्य उपस्थित थे। 

कोई टिप्पणी नहीं: