बेतिया : उन्मुखीकरण-सह-प्रशिक्षण कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 15 अक्तूबर 2022

बेतिया : उन्मुखीकरण-सह-प्रशिक्षण कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ

  • ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन के लिए उन्मुखीकरण-सह-प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन

Betiya-dm-news
बेतिया.लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान-द्वितीय चरण अंतर्गत ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन के लिए उन्मुखीकरण-सह-प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन समाहरणालय सभागार में सम्पन्न हुआ. उन्मुखीकरण-सह-प्रशिक्षण कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ उप विकास आयुक्त, श्री अनिल कुमार एवं अपर समाहर्ता, श्री राजीव कुमार सिंह सिंह द्वारा किया गया.इस अवसर पर सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, पंचायत स्तरीय जनप्रतिनिधिगण एवं अधिकारीगण उपस्थित रहे. इस अवसर पर उप विकास आयुक्त, श्री अनिल कुमार ने कहा कि लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान सेकंड फेज अंतर्गत ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन अत्यंत ही महत्वपूर्ण कार्य है.इसके लिए पंचायत के सभी माननीय जनप्रतिनिधिगणों के उन्मुखीकरण-सह-प्रशिक्षण के लिए कार्यक्रम का आयोजन किया गया है.सभी माननीय जनप्रतिनिधिगण एवं एवं अधिकारीगण अच्छे तरीके से प्रशिक्षण को प्राप्त करें ताकि ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन को सफलतापूर्वक पंचायतों में कार्यान्वित कराया जा सके. उन्होंने कहा कि लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के प्रथम चरण में सभी को शौचालय की सुलभता उपलब्ध कराते हुए ग्राम पंचायतों को खुले में शौच मुक्त किया गया.अब लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान फेज दो के अंतर्गत सभी गांव को स्वच्छ एवं समृद्ध गांव बनाना है.लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के तहत फेज दो में जिले के 85 पंचायतों का चयन किया गया है. उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए व्यापक योजना तैयार की गई है. योजना क्रियान्वयन के लिए ग्राम पंचायत को अहम जिम्मेदारियां दी गई है और भली-भांति उसको निभाना है. स्वच्छ गांव समृद्ध गांव बनाने के लिए सरकार का बड़ा प्लान है.योजना का क्रियान्वयन वार्ड प्रबंधन समिति के स्तर से किया जाना है. अभियान के तहत गांव को ठोस व तरल कचरा से मुक्त कराना है. उन्होंने कहा कि घर में निर्मित शौचालय का उपयोग करें, घरेलू कचरे का वर्गीकरण कर व्यक्तिगत स्तर से निपटारा करें. गीले, सूखे कचरे को वर्मी कंपोस्टिंग विधियों द्वारा जैविक खाद बनाएं. सार्वजनिक स्थानों, गलियों सड़कों एवं नालियों की नियमित साफ-सफाई करें. स्वच्छता का मूल मंत्र है घर से लेकर आसपास के स्थानों को साफ सफाई रखना. जिससे होने वाली कई तरह की बीमारियों से बचा जा सकता है. जिला समन्वयक श्री विश्वजीत भारती द्वारा फेज-1 एवं फेज-2 में अभियान अंतर्गत किये गये कार्यों एवं ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन के क्रियान्वयन के लिए कैलेंडर एवं कार्य योजना के विषय में जानकारी दी गयी.वहीं जिला सलाहकार श्री शशि रंजन द्वारा अभियान के क्रियान्वयन के लिए जिला, प्रखंड, पंचायत, एवं वार्ड स्तर पर कार्य करने वाले समितियों एवं उनके कार्य दायित्वों के बारे में विस्तृत जानकारी दी गयी. कार्यक्रम के समापन के पश्चात विश्व हाथ धुलाई दिवस के तहत हाथ धुलाई  महोत्सव मनाया गया.जिसमें उप विकास आयुक्त, अपर समाहर्ता, निदेशक डी0 आर0 डी0 ए0 एवं जिला पंचायत राज पदाधिकारी के साथ अन्य अधिकारी कर्मियों ने भाग लिया.

कोई टिप्पणी नहीं: