हम ऐसा बिहार बनायेंगे जिसका कोई उपहास न उड़ा सकें - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 23 दिसंबर 2022

हम ऐसा बिहार बनायेंगे जिसका कोई उपहास न उड़ा सकें

Prashant-kishore-attack-peeyush-goyal
शिवहर, बिहार। प्रशांत किशोर ने केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के बयान - "इनका बस चले तो पूरे देश को बिहार बना दें" का जवाब देते हुए कहा, "आज बिहारी शब्द गाली के समान है। ये बिहार के प्रति जो दुर्भावना या लोगों के मन में यह बिहारी शब्द है वह गाली बन गया है। मंत्री (पीयूष गोयल) कहा तो आप लोगों को पता चला, जबकि बिहार के लोगों को अन्य राज्यों में बिहारी मतलब बेवकूफ, मजदूर समझते हैं। मंत्री जी को पता होना चाहिए कि बिहार ज्ञान की भूमि रही है, देवताओं को भी यहां आकर ज्ञान मिला है। आज यहां के नेताओं ने व्यवस्था को मजदूर बनाने की फैक्ट्री बनाकर रख दिया है। जिन मंत्री ने ये बात कही है उन्हें ये समझाना चाहिए कि बिहार ने संसद में 40 में 39 सांसद एनडीए को दिए हैं। जब प्रधानमंत्री यहां आते हैं तो जनता को झुक कर प्रणाम करते हैं और लोगों से मीठी-मीठी बात कर कर वोट लेते हैं। फिर उनके मंत्री उसी बिहार का उपहास उड़ा रहे हैं। यह उनकी मानसिकता को दर्शाता है। अब मेरी चिंता यह नहीं है कि मंत्री क्या कह रहे हैं मेरी चिंता इस बात को लेकर है कि बिहार को कैसे इतना सुंदर बनाया जाए ताकि कोई इसका उपहास न उड़ा सके।

कोई टिप्पणी नहीं: