बिहार : समाज सुधारक नहीं हूं, मेरी भूमिका केवल कुम्हार की है: प्रशांत किशोर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 30 दिसंबर 2022

बिहार : समाज सुधारक नहीं हूं, मेरी भूमिका केवल कुम्हार की है: प्रशांत किशोर

Prashant-kishore-jan-suraj
दरमाहा, पूर्वी चंपारण, जन सुराज पदयात्रा के दौरान दरमाहा पंचायत में आम सभा को संबोधित करते हुए प्रशांत किशोर ने कहा कि मैं कोई समाज सुधारक नहीं हूं। हम सभी लोग मिलकर केवल समाज के स्तर पर एक प्रयास कर रहे हैं। जिससे एक 'स्वच्छ राजनीतिक व्यवस्था' बनाई जा सके। मेरी भूमिका केवल एक सूत्रधार की है। इसके साथ ही प्रशांत किशोर ने कहा कि कोई भी व्यक्ति पदयात्रा करके गांधी नहीं बन सकता। जैसे 4 चुनाव जीतकर आप चाणक्य नहीं बन सकते। शताब्दियों में कोई एक गांधी या चाणक्य बनता है, हम लोग केवल उनकी विचारधारा का अनुसरण कर सकते हैं। उनके बताए हुए मार्ग पर चलने का प्रयास कर सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: