बीजेपी नेता संजय बेड़िया गिरगांवकर ने 35 वर्षों बाद छोड़ी भाजपा - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 24 दिसंबर 2022

बीजेपी नेता संजय बेड़िया गिरगांवकर ने 35 वर्षों बाद छोड़ी भाजपा

  •  - राजनीति और समाजसेवा के क्षेत्र से जुड़े रहेंगे-

Sanjay-bediya-quit-bjp
मुंबई : मुम्बई में लगातार 35 वर्षो तक भारतीय जनता पार्टी से जुड़कर समाजसेवा के कार्य करते रहे संजय बेड़िया ने पार्टी नेताओं पर हिटलरशाही का इल्जाम लगाते हुए पार्टी छोड़ने की घोषणा कर दी। उन्होंने भाजपा का झंडा लपेटकर पूरे सम्मान के साथ कोरियर के द्वारा भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा को भेजने की बात कही। भाजपा लीडर संजय बेड़िया का कहना है कि भारतीय जनता पार्टी अपने सिद्धांतों से भटक गई है, इसलिए बड़े दुखी मन के साथ उन्हें पार्टी छोड़नी पड़ रही है। दुख इसी बात का है कि आप ऊपर के नेताओं को सेफ करते हैं जबकि कार्यकर्ताओं का ध्यान नहीं रखते। 35 वर्षो तक मैं भाजपा से जुड़ा रहा लेकिन अब मेरा इस पार्टी से कोई वास्ता नहीं है।  संजय बेड़िया ने आगे बताया कि मैंने 1985 से लेकर आज तक भाजपा के लिए काम किया। नेताओं मंगलप्रभात लोढा, आशीष शेलार और देवेंद्र फडणवीस के इतने खराब रवैये के कारण मैंने रिजाइन कर दिया है और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा जी को पत्र भेज दिया है। इतने वर्षों इस पार्टी से जुड़कर काम किया है, आज छोड़ा है तो दुख भी हुआ है। हजारों दोस्त हमारे साथ हमेशा बने रहेंगे। संघ परिवार से मैंने रिक्वेस्ट की है कि आप जब जब मुझे बुलाएंगे मैं हाजिर रहूंगा।  मैंने आज रिजाइन कर भाजपा के झंडे को लपेटकर रख दिया है और इसे जेपी नड्डा जी को कोरियर कर दूंगा।  संजय बेड़िया ने बताया कि हालांकि वह राजनीति और समाजसेवा के क्षेत्र से जुड़े रहेंगे और बहुत जल्द अपनी नई गतिविधियों के संदर्भ में विस्तार से बताएंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: