बिहार : आज भी जहरीली शराब से 10 मरे, मौत का आंकड़ा 43 पहुंचा - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 15 दिसंबर 2022

बिहार : आज भी जहरीली शराब से 10 मरे, मौत का आंकड़ा 43 पहुंचा

10-more-died-bihar-alcohal
पटना : छपरा जिले में जहरीली शराब से आज गुरुवार को फिर 10 लोगों की मौत हो गई। समूचे जिले के विभन्न थाना क्षेत्रों में बड़ी संख्या में लोग अब भी अस्पतालों में भर्ती हैं और जिंदगी की जंग लड़ रहे हैं। मंगलवार की रात से बिहार में शुरू हुआ जहरीली शराब के इस तांडव से मौत का आंकड़ा अब 43 पहुंच गया है। वहीं बिहार विधानसभा से लेकर देश की संसद तक इसकी गूंज आज सुनाई दी जिसमें नीतीश सरकार की शराब नीति की चौतरफा आलोचना की गई। मामले पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ संसद में भाजपा सांसद सुशील मोदी और बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजय सिन्हा ने मोर्चा खोल दिया है। जानकारी के अनुसार छपरा जिले के इसुआपुर और अन्य जगहों पर आज फिर जहरीली शराब पीने की वजह से 10 और लोग मर गए। अब तक जहरीली दारू पीने से मृतकों की संख्या 43 पहुंच गई है। छपरा से खबर है कि मृतकों के परिजनों ने सड़क पर जाम लगाकर प्रदर्शन शुरू कर दिया है। यह भी खबर है कि इसुआपुर और मशरख के थानेदारों को निलंबित कर दिये जाने के बावजूद परिजन और ग्रामीण काफी गुस्से में हैं। नाराज लोगों ने थाने का घेराव कर दिया है और वे हंगामा कर रहे हैं।वहीं बिहार विधानसभा में भी भाजपा विधायकों ने भारी हंगामा किया। बीजेपी विधायक बार—बार वेल में आकर प्रदर्शन किया। इस कारण सदन की कार्यवाही को अध्यक्ष द्वारा स्थगित करना पड़ा। इसपर भाजपा विधायक गेट पर ही धरने पर बैठ गए। भाजपा ने इस सबके बीच दारूबंदी के फेल होने और जहरीली शराब से मौत को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इस्तीफे की मांग कर दी है। विधान परिषद में भी सम्राट चौधरी के नेतृत्व में भाजपा सदस्यों ने नीतीश सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। हंगामे के चलते सदन की कार्रवाई को स्थगित करना पड़ा।

कोई टिप्पणी नहीं: