मधुबनी : जाति जनगणना के लिए ट्रेनर के समूह को प्रशिक्षण - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 17 दिसंबर 2022

मधुबनी : जाति जनगणना के लिए ट्रेनर के समूह को प्रशिक्षण

Cast-cencess-madhubani
मधुबनी, जिला पदाधिकारी अरविन्द कुमार वर्मा के निर्देश के आलोक में जिले में होने वाले जाति आधारित गणना के सफल क्रियान्वयन के लिए आज जिला सांख्यिकी कार्यालय में भूमि सुधार उप समाहर्ता, सदर, राकेश कुमार, जिला सांख्यिकी पदाधिकारी, शंभू प्रसाद यादव, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, समग्र शिक्षा अभियान, राजेश मिश्रा द्वारा मास्टर ट्रेनर के समूह को प्रशिक्षण दिया गया। बताते चलें कि आज के प्रशिक्षण में प्रशिक्षित सभी मास्टर ट्रेनर द्वारा जिले भर के प्रगणकों को वॉटसन स्कूल में 19, 21 एवं 22 दिसंबर की तिथि को जाति आधारित गणना हेतु प्रशिक्षित किया जाएगा। इस प्रशिक्षण के दौरान सभी मास्टर ट्रेनर को जाति आधारित गणना की व्यापक जानकारी दी गई। विशेषकर गणना ब्लॉक कैसे बना, मकान सूचीकरण और वास्तविक गणना की बारीकियां और प्रायः होने वाली भ्रांतियों से बचने की सलाह दी गई। प्रशिक्षण के दौरान बताया गया कि सभी लोगों की गणना की जाएगी चाहे वह अप्रवासी निवासी ही क्यों न हों। बताया गया कि कोई भी व्यक्ति यदि अपनी जानकारी दो अलग अलग स्थानों में दर्ज कराएंगे तो कंप्यूटरीकृत विरूपण के दौरान स्वतः एक जगह से नाम विलोपित हो जाएगा। ऐसे में कठिनाई से बचने के लिए किसी एक जगह से ही नाम दर्ज करवाने की सलाह देने की बात कही गई। एक प्रगणक केवल अपने निर्धारित वार्ड में ही गणना करने हेतु अधिकृत होंगे। वास्तविक गणना से पूर्व दिनांक 07 से 21 जनवरी 2023 तक सभी प्रगणक अपने अपने निर्धारित क्षेत्र का नजरी नक्शा बनायेंगे, जिसमें पूर्ण शुद्धता का खयाल रखने की हिदायत दी गई है। बताया गया कि सभी प्रकार की सूचना गोपनीय रखी जाएगी और किसी भी परिस्थिति में अधिकृत लोगों के अतिरिक्त किसी अन्य से इसे साझा नहीं किया जाएगा। प्रायः छह गणना ब्लॉक पर एक पर्यवेक्षक नियुक्त किए गए हैं, जो सभी प्रगति की समीक्षा करते रहेंगे। उनके ऊपर सहायक चार्ज पदाधिकारी और चार्ज पदाधिकारी सभी गतिविधियों की निगरानी रखेंगे। आईटी एक्सपर्ट प्रशांत कुमार ने बताया कि संग्रह की गई सभी सूचनाओं का डिजीटलाईजेशन किया जाना है। ऐसे में डेटा संकलन में पर्याप्त सावधानी बरतने की आवश्यकता है, ताकि शुद्धता बनी रहे। प्रशिक्षण के उपरांत सभी मास्टर ट्रेनर द्वारा ट्रेनिंग की गुणवत्ता पर संतोष व्यक्त किया गया। प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले मास्टर ट्रेनर में अफाक अहमद, प्रकाश कुमार कारण, गजेंद्र प्रसाद, सतीश चन्द्र झा, अशोक महतो, राजीव कुमार झा, राजेश कुमार रंजन सहित अन्य मास्टर ट्रेनर शामिल थे।

कोई टिप्पणी नहीं: