बिहार : कभी इस राज्य के आशा की किरण थे नीतीश कुमार : प्रशांत किशोर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

बुधवार, 25 जनवरी 2023

बिहार : कभी इस राज्य के आशा की किरण थे नीतीश कुमार : प्रशांत किशोर

  • विकास को ताक पर रख कर आज भाजपा और राजद के बीच झूल रहे हैं

Prashant-kishore-attack-nitish
जन सुराज पदयात्रा के दौरान प्रशांत किशोर ने गोपालगंज जिले के भोरे प्रखंड में एक आमसभा के दौरान नीतीश कुमार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि बिहार की राजनीति में केवल दो ही दल बचे हुए है। बिहार में मोदी जी की भाजपा या लालू जी का लालटेन के अलावा कोई दल ही नहीं है। नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए प्रशांत ने कहा कि कभी इस राज्य (बिहार) के आशा की किरण रहे नीतीश कुमार का आज उनका कोई दल ही नहीं बचा है। नीतीश कुमार कभी लालटेन पर लटके रहते हैं, तो कभी कमल पर बैठकर तैरते हैं। बिहार की जनता को समझ ही नहीं आ रहा है की वह कब-कहां चले जाएंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: