बिहार : प्रशांत किशोर की जन सुराज पदयात्रा का पूर्वी चंपारण जिले में आज आखिरी दिन, - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 14 जनवरी 2023

बिहार : प्रशांत किशोर की जन सुराज पदयात्रा का पूर्वी चंपारण जिले में आज आखिरी दिन,

  • जन सुराज पदयात्रा: 105वां दिन, कल गोपालगंज में प्रवेश करेगी पदयात्रा

Prashant-kishore-yatra
संग्रामपुर, पूर्वी चंपारण, जन सुराज पदयात्रा शिविर में आज प्रशांत किशोर तुरकौलिया, कोटवा और संग्रामपुर के जन सुराज प्रखंड समिति के सदस्यों के साथ बैठक की और जिले में जन सुराज की आगे क्या रणनीति होगी इस पर विस्तार से चर्चा की। इसके साथ ही उन्होंने संग्रामपुर प्रखंड के अलग अलग गांव से आए लोगों की समस्याओं को सुना और उसका संकलन किया। आज पूर्वी चंपारण में जन सुराज पदयात्रा का आख़िरी दिन है, इसके बाद पदयात्रा गोपालगंज जिले में प्रवेश कर जाएगी। पदयात्रा के दौरान प्रशांत किशोर ने पूर्वी चंपारण के 21 प्रखंडों में 200 से भी अधिक पंचायतों में पैदल चलकर गए। पूरे जिले में लगभग 500 से भी अधिक जनसभाओं को संबोधित कर जन सुराज मुहिम के बारे में गांव के लोगों बताया और सही लोगों को इससे जुड़ने की गुजारिश की। प्रशांत अबतक पदयात्रा के माध्यम से लगभग 1260 किमी से अधिक पैदल चल चुके हैं। इसमें 550 किमी से अधिक पश्चिम चंपारण में पदयात्रा हुई और शिवहर में उन्होंने 140 किमी से अधिक की पदयात्रा की। पूर्वी चंपारण में अबतक 560 किमी से अधिक पैदल चल चुके हैं।


पैसे के अभाव में किसी गरीब आदमी को चुनाव लड़ने की दिक्कत न हो इसकी जिम्मेदारी मैं लेता हूं

जन सुराज पदयात्रा के दौरान संग्रामपुर प्रखंड से आए लोगों से संवाद करते हुए प्रशांत किशोर ने कहा कि पूर्वी चंपारण के सभी लोगों को मैं आश्वस्त करना चाहता हूं कि समाज के सही लोगो को चुनाव लड़ने में पैसा कोई बाधा न बने इसकी जिम्मेदारी मेरी है, आपको चिंता करने की जरुरत नहीं है। उसे चुनाव मैं लड़ाऊंगा इसकी चिंता आप मुझपर छोड़ दें। आपको बस सही आदमी चुन कर लाना है। आप अब शिकायत करना छोड़िए की बिहार में क्या था और अब तक क्या हुआ। अब आप अपने और अपने बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए खड़े होकर बिहार को बदलने की मुहिम में जुड़ जाइए और बिहार को एक विकसित राज्य बनाने में हमारा साथ दीजिए।

कोई टिप्पणी नहीं: