बिहार लेबर का सप्लायर्, अगर बिहार में फैक्ट्री लगा दिया तो मजदूर आएंगे कहां से: प्रशांत किशोर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

बुधवार, 11 जनवरी 2023

बिहार लेबर का सप्लायर्, अगर बिहार में फैक्ट्री लगा दिया तो मजदूर आएंगे कहां से: प्रशांत किशोर

Bihar-labour-suplkier-pk
तुरकौलिया, पूर्वी चंपारण, जन सुराज पदयात्रा के दौरान शंकर सरैया दक्षिणी पंचायत में आम सभा को संबोधित करते हुए प्रशांत किशोर ने कहा कि आज बिहार लेबर का सप्लायर् बन गया है। नेता जानबूझकर कर बिहार में फैक्ट्री नहीं लगाते, उन्हें पता है कि अगर बिहार में फैक्ट्री लगा दिया गया तो 12 हज़ार में 10 लाख मजदूर आएंगे कहाँ से? इसलिए देश के नेता बिहार में फैक्ट्री न लगाकर सूरत, गुजरात जैसों जगहों में फैक्ट्री लगा रहे हैं। कोरोना के समय बिहार के लड़को को मार-मार कर दूसरे राज्यों में घर से बेघर कर दिया गया। वक़्त के साथ जैसे ही कोरोना खत्म हुई वैसे ही दूसरे राज्यों के बड़े फैक्ट्रियों के मालिक बस भेज कर बिहार से मजदूरों को मंगवाने लगे, इससे साफ पता चलता है कि वो बिहारियों को लेबर से ज्यादा कुछ नहीं समझते। पूरा गुजरात में 10 लाख बिहारी मजदूरी कर रहा हैं, किसी बिहार के नेता को देखा है, इसपर चर्चा करते? आज कहानी ठीक वैसी हो गई है जैसे नील की खेती होती थी बिहार में और कपड़े बनते थे इंग्लैंड में।

कोई टिप्पणी नहीं: