बिहार : नेताओं ने जनता के नस में जाति-धर्म का नशा घुसा दिया : प्रशांत किशोर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

बुधवार, 4 जनवरी 2023

बिहार : नेताओं ने जनता के नस में जाति-धर्म का नशा घुसा दिया : प्रशांत किशोर

Jan-suraj-yatra-bihar
कल्याणपुर/चकिया, पूर्वी चंपारण, जन सुराज पदयात्रा के 94वें दिन की शुरुआत कल्याणपुर प्रखंड अंतर्गत सिसवा पटना पंचायत स्थित पदयात्रा शिविर में सर्वधर्म प्रार्थना से हुई। प्रशांत किशोर सैकड़ों पदयात्रियों के साथ उदय नारायण कॉलेज से पदयात्रा के लिए निकले। पदयात्रा के क्रम में प्रशांत किशोर ने कल्याणपुर हाई स्कूल में स्थानीय मीडिया से संवाद करते हुए कहा कि आज बिहार में बेरोजगारी, शिक्षा, स्वास्थ्य व्यवस्था, नली-गली का जो हाल है वो भयावह है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण सड़कों की स्थिति लालू जी के जंगलराज से भी खराब है और शिक्षित मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कार्यकाल की सबसे बड़ी नाकामी है बिहार की शिक्षा व्यवस्था का चौपट हो जाना। प्रशांत किशोर ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में व्याप्त भ्रष्टाचार का भी उल्लेख किया। आज जन सुराज पदयात्रा पूर्वी चंपारण के गरीबा, बखरी, कल्याणपुर, परसौनी वाजीद होते हुए चकिया प्रखंड के हरपुर पंचायत में रात्रि विश्राम के लिए पहुंची। 


बिहार के नेताओं ने जनता के नस में जात-धर्म का नशा घुसा दिया है

जन सुराज पदयात्रा के दौरान गरीबा गांव में जनसभा को संबोधित करते हुए प्रशांत किशोर ने जनता से कहा कि आपको अपने बच्चों का दर्द क्यूं नहीं दिखता? आज बिहार के नेताओं ने जनता के नस में जात-धर्म का ऐसा नशा घुसा दिया है कि आपको आपके बच्चों की फटियाली नहीं दिखती। आप अपने जात के नेता को जिताने के पीछे अपने भविष्य को दावं में लगा देते हैं, पर क्या आपने कभी सोचा कि ऐसा करने से आपको क्या हासिल हो रहा है? जनता को स्वीकारने की जरूरत है कि उन्होंने अतीत में गलती की है। हाथ जोड़ कर बोल रहा हूं कि अपने बारे में नहीं तो कम से कम अपने बच्चों का सोचिए। बिहार की जनता में अभी भी बहुत कुछ बाकी है जिसे हमें दुनिया को दिखाना है।


अगर आप अपनी भागीदारी चाहते हैं, तो जन सुराज में आइए

आम सभा को संबोधित करते हुए प्रशांत किशोर ने कहा कि आप वर्षों से अलग-आलग पार्टियों को वोट दे रहे हैं, इससे आपको हासिल क्या हो रहा है? आपको आश्वासन और छलावे के अलावा कुछ मिलेगा भी नहीं। अगर आप आने वाले समय में अपनी भागीदारी चाहते हैं तो जन सुराज अभियान में भागीदार बनिए। मैं आपको आश्वस्त करने आया हूं कि जमीन से जुड़े हर अच्छे आदमी को मौका दिया जाएगा। जिस दिन जीत कर आएंगे उस दिन आपके घर जीत की मिठाई खाएंगे। जब तक महागठबंधन की सरकार है तब तक आप अपने लिए इतना भला कीजिए कि मेरे नाम से स्कूल, कॉलेज और स्वास्थ्य व्यवस्था ठीक करवा लीजिए। वरना बंधुआ मजदूर की तरह जीवन भर वोट करते रहिएगा तो अपने और अपने बच्चों के बेहतर भविष्य की कल्पना नहीं कर सकते।

कोई टिप्पणी नहीं: