दिलीप कुमार गहन चिकित्सा कक्ष से बाहर लाए गए - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 22 सितंबर 2013

दिलीप कुमार गहन चिकित्सा कक्ष से बाहर लाए गए


dilip kumar
दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार के स्वास्थ्य में सुधार के बाद रविवार को मुंबई के लीलावती अस्पताल के गहन चिकित्सा कक्ष से बाहर स्थानांतरित कर दिया गया। दिलीप कुमार के निकटतम सहयोगी मुर्शीद खान ने यह जानकारी दी। दिलीप कुमार को पिछले रविवार को दिल का दौरा पड़ने के कारण अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, जहां एक सप्ताह तक उन्हें गहन चिकित्सा कक्ष में रखा गया था। मुर्शीद खान दिलीप कुमार की पत्नी एवं मशहूर अभिनेत्री सायरा बानो के मैनेजर हैं।

खान ने बताया, "दिलीप अब पूरी तरह स्वस्थ हैं। अब वह काफी बेहतर महसूस कर रहे हैं। उन्हें गहन चिकित्सा कक्ष से सामान्य वार्ड में स्थानांतरित कर दिया गया है। पूरी संभावना है कि अगले तीन दिनों में उन्हें अस्पातल से छुट्टी मिल जाएगी।" दिलीप कुमार को बॉलीवुड का पहला सुपरस्टार माना जाता है, और उनके फिल्मी करियर की अवधि को भारतीय फिल्म इतिहास के एक युग की संज्ञा दी जाती है।

दिलीप कुमार ने भारतीय हिंदी सिनेमा पर छह दशक से भी अधिक समय तक राज किया है, तथा मुख्य अभिनेता के साथ-साथ चरित्र अभिनेता के रूप में भी अद्वितीय ख्याति अर्जित की है। नया दौर, गंगा-जमुना, लीडर, मुगल-ए-आजम जैसी युगांतकारी फिल्में बनाने वाले दिलीप कुमार को भारतीय हिंदी सिनेमा का कीर्तिस्तंभ माना जाता है। 1998 में उन्होंने अपनी आखिरी फिल्म 'किला' में अभिनय किया था।

कोई टिप्पणी नहीं: