बिहार में दो सहेलियों ने लिए सात फेरे - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 21 अक्तूबर 2013

बिहार में दो सहेलियों ने लिए सात फेरे


bihar map
बिहार की राजधानी पटना में दो सहेलियों ने साथ रहने का फैसला कर लिया और विवाह के बंधन में बंध गईं। ये दोनों सहेलियां घर से भागकर न केवल पति-पत्नी की तरह जी रही हैं, बल्कि पत्नी बनी सहेली अपने कथित पति की लंबी आयु के लिए प्रतिदिन मांग में सिन्दूर भी लगा रही हैं। 

यह मामला तब प्रकाश में आया जब दोनों सहेलियां रीमा और सीमा (बदला हुआ नाम) अपने घर से लापता हो गईं और मामला पुलिस के सामने पहुंच गया। पुलिस ने दोनों सहेलियों को रोहतास जिले के सासाराम के एक धर्मशाला से पकड़ लिया, जहां एक के मांग में सिन्दूर था और एक पुरुष की पोशाक में थी।

पटना के एक पुलिस अधिकारी ने सोमवार को बताया कि फुलवारी शरीफ थाना में सीमा के पिता ने छह अक्टूबर को एक मामला दर्ज कराया था जिसमें आरोप लगाया गया था कि उनकी पुत्री को महुआबाग की उसकी दोस्त रीमा और उसके परिजन भगा कर ले गए। इस मामले में छानबीन के बाद पुलिस ने दोनों को सासाराम के एक धर्मशाला से पकड़ा। 

फुलवारीशरीफ के थाना प्रभारी एऩ क़े रजक ने बताया कि दोनों को मोबाइल टावर लोकेशन द्वारा पकड़ा जा सका। दोनों ने नर्सरी से लेकर 12 वीं तक की पढ़ाई साथ में की थी और इसी दौरान उनमें गहरी दोस्ती हो गई। सीमा शुरू से ही पुरुषों के लिबास पहनती थी। बाद में दोनों के परिजनों को यह दोस्ती खटकने लगी और दोनों पर परिजनों ने मिलने पर पाबंदी लगा दी। 

इसी बीच दोनों सहेलियां चार अक्टूबर को घर से भाग गईं और सासाराम में विवाह कर एक साथ रहने लगीं। रजक के मुताबिक, दोनों का कहना है कि वे एक-दूसरे के बगैर नहीं रह सकतीं।

कोई टिप्पणी नहीं: