मतभेद भुलाकर विकास के लिये बेहतर माहौल तैयार करना होगा : राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू - Live Aaryaavart

Breaking

शुक्रवार, 26 जनवरी 2018

मतभेद भुलाकर विकास के लिये बेहतर माहौल तैयार करना होगा : राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू

work-togather-for-development-draupdi-murmu
रांची 26 जनवरी, झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि राज्य हित में सामाजिक- राजनीतिक मतभेद भुलाकर राज्य के विकास के लिये एक बेहतर माहौल तैयार करना होगा ताकि हर चेहरे पर मुस्कान लाने में सरकार सफल हो सके। श्रीमती मुर्मू ने आज यहां मोरहावादी मैदान में 69वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर आयोजित राजकीय समारोह में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद कहा कि झारखंड की खुशहाली, लोगों के कल्याण और झारखंड को एक विकसित राज्य बनाने के लिये सभी को एकजुट होकर सच्चे मन से प्रयास करने का संकल्प लेना होगा। उन्होंने कहा कि राज्य के चतुर्दिक विकास अंतरराष्ट्रीय मापदंडों के अनुरूप करने की अपनी बचनबद्वता को पूरा करने के लिये सरकार पूरी सजगता एवं समर्पण के साथ काम कर रही है। ऐसे में सामाजिक-राजनीतिक मतभेद भुलाकर राज्य के विकास के लिये एक बेहतर माहौल तैयार करना होगा ताकि हर चेहरे पर मुस्कान लाने में सरकार सफल हो सके। 

राज्यपाल ने कहा कि विकास के सभी क्षेत्रों विशेषकर ग्रामीण विकास, नगर विकास, सिंचाई, पेयजल की सुविधा, शिक्षा, स्वास्थ्य, पर्यावरण संरक्षण और बुनियादी सुविधाओं को आम लोगों तक सहज एवं सुलभ रूप में पहुंचाने के लिये सरकार दिन रात काम कर रही है। श्रीमती मुर्मू ने कहा कि राज्य के अनुसूचित जनजातियों के धार्मिक एवं पवित्र स्थल सरना, मसना, जाहेरस्थान और हडगरी में अतिक्रमण न हो इसके लिये प्राथमिकता के आधार पर इनकी घेराबंदी की जा रही है। उन्होंने कहा कि झारखंड की महिलाओं के सामाजिक, आर्थिक एवं राजनीतिक सशक्तिकरण के लिये सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है। राज्यपाल ने कहा कि राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत अबतक झारखंड के ग्यारह हजार 590 गांवों में करीब 14 लाख 27 हजार 503 परिवारों को एकजुट कर एक लाख 13 हजार 969 सखी मंडलों का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि इन सखी मंडलों को स्वरोजगार के विभिन्न अवसर उपलब्ध कराकर महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने का प्रयास किया जा रहा है । श्रीमती मुर्मू ने कहा कि बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना, मुख्यमंत्री कन्यादान योजना, मुख्यमंत्री लक्ष्मी लाडली योजना, तेजस्वी योजना के माध्यम से राज्य की बालिकाओं का सशक्तिकरण किया जा रहा है। इसी क्रम में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना का लाभ राज्य की अधिक से अधिक बालिकाओं को प्राप्त हो सकें इस उद्देश्य से इस योजना में गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) रहने की बाध्यता को समाप्त कर दिया गया। अब इस योजना में 72 हजार रुपये आय वर्ग के परिवार की बालिकाओं को भी शामिल किया गया है।

राज्यपाल ने कहा कि आज देश के विकास में झारखंड अहम भूमिका निभा रहा है। जन आकांक्षाओं को पूरा करने के प्रति सरकार की प्रतिबद्वता एवं सरकार के निष्ठापूर्ण कार्यो की बदौलत आज पूरे देश में विकास वृद्धि दर में झारखंड गुजरात के बाद दूसरे नम्बर पर है। उन्होंने कहा कि कई ऐसे क्षेत्र है जहां राज्य के उल्लेखनीय कार्यो की न केवल सराहना हो रही है बल्कि अन्य राज्य इसका अनुसरण भी कर रहे हैं। राज्य को समृद्ध एवं विकसित बनाने के लिये सरकार द्वारा सुविचारित नीतियों का निर्माण किया जा रहा है। जहां कहीं भी अपेक्षित है मजबूत एवं दूरगामी निर्णय लिये जा रहे है । श्रीमती मुर्मू ने कहा कि संविधान के आदर्शो के अनुरूप अंतिम व्यक्ति तक विकास का लाभ पहुंचाने के लिये सरकार द्वारा कई अभिनव पहल किये गये हैं। इनमें जोहार योजना, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना, अन्त्योदय योजना और उज्ज्वला योजना शामिल हैं।  राज्यपाल ने कहा कि राज्य में बेरोजगारी एवं पलायन की समस्या को दूर करने के लिये सरकारी सेवाओं में रिक्त परे पदों पर तेजी से नियुक्ति की कार्रवाई की जा रही है। इसके साथ ही राज्य के युवक-युवतियों को हुनरमंद बनाकर रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये जा रहे है। इस अवसर पर आकर्षक झांकियां भी निकाली गयीं। 
एक टिप्पणी भेजें
Loading...