देश की उम्मीदों, आकांक्षाओं पर ज़रा भी खरोंच नहीं आने दूंगा : प्रधानमंत्री - Live Aaryaavart

Breaking

सोमवार, 12 फ़रवरी 2018

देश की उम्मीदों, आकांक्षाओं पर ज़रा भी खरोंच नहीं आने दूंगा : प्रधानमंत्री

narendra-modi-development-new-india-dreams-muscat
मस्कट 11 फरवरी, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि देशवासियों ने उनसे जो उम्मीदें एवं आकांक्षाएं पाल रखीं हैं, वह उन पर ज़रा सी भी ‘खरोंच’ नहीं आने देंगे और देश के विकास एवं ‘न्यू इंडिया’ के सपने को हर हाल में पूरा करेंगे। श्री मोदी ने चार देशों की यात्रा के अंतिम चरण में आज शाम आेमान की राजधानी मस्कट पहुंचने के बाद प्रवासी भारतीयों के एक कार्यक्रम में शिरकत की। श्री मोदी ने कहा, “मेरे प्यारे देशवासियों, मैं सर झुका कर नम्रता से कह हूं कि देश ने जिस आशा और आकांक्षा से मुझे यहां बिठाया है, उसे बिल्कुल भी खरोंच नहीं आने दूंगा।” उन्होंने कहा कि सरकारें आतीं हैं, जातीं हैं लेकिन महत्वपूर्ण यह है कि शासन किस ‘क्वालिटी’ का दिया जाता है। पहले योजनाएं बनतीं थीं और 30-40 तक पूरी नहीं हो पातीं थीं। खंभे गढ़ जाते थे बिजली नहीं आती थी, तारों पर कपड़े सूखते थे। नई ट्रेनों की घोषणा हो जाती थी, पटरी बदलने के बारे में कोई नहीं कहता था। ऊपर से घोटालों की लिस्ट से नुकसान पहुंचा है।  उन्होंने कहा कि लेकिन हम देश को इस स्थिति से निकाल कर ले आए हैं। आज कोई नहीं कहता है कि ‘मोदी’ कितना ले गया। उन्होंने कहा, “हमारे विरोधी पूछते हैं कि बताओ कितना आया। देश में विश्वास पैदा हुआ है। देश में जन्मी यह नयी आशा, नये भारत के हमारे संकल्प को संबल प्रदान कर रही है। आज हम देश में नागरिक मित्र, राष्ट्र मित्र शासन देने का प्रयास कर रहे हैं और उसका फर्क नज़र आ रहा है। देश सड़क, रेल, गैस पाइपलाइन, बैंक खाते आदि क्षेत्र में दो -तीन गुना गति से बढ़ रहा है।” प्रधानमंत्री ने देश में विभिन्न योजनाओं का उल्लेख किया और कहा कि इस बार के बजट में आयुष्मान भारत की योजना को विश्व भर में हैरानी से देखा जा रहा है। उन्होंने कहा कि देश में 53 हजार किलोमीटर राजमार्ग निर्माण की भारतमाला परियोजना, रेलवे कॉरीडोर, 11 शहरों में मेट्रो परियोजना, 110 जलमार्गों का नियमन, तटीय अर्थव्यवस्था को बल देने के लिए सागरमाला परियोजना, मछुआरों को आधुनिक ट्रॉलर देने जैसे अनेक काम शुरू किए हैं। देश में करीब 1400 -1450 पुराने कानून खत्म कर दिए हैं। 

उन्होंने कहा कि देश में नीतियों के सुधार से करीब एक लाख 40 हजार करोड़ रुपए की बचत हुई है। यह पैसा गरीब के हक़ का पैसा है और उसी के काम आएगा। देश में ईमानदारी की पहल हुई है। भ्रष्टाचार करके करोड़ों रुपए कमाने वाले, काले धन का लेनदेन करने वाले, फर्जी कंपनियों के माध्यम से काले धन को सफेद बनाने वाले सरकार की नज़र में हैं आैर उन पर कार्रवाई होगी। अब तक करीब साढ़े तीन लाख फर्जी कंपनियां बंद हो चुकीं हैं। देश में ईमानदारी की कमाई का ईमानदारी से उपयोग हो, ऐसा माहौल बना है। श्री माेदी ने प्रवासी भारतीयों को भरोसा दिलाया कि उनकी समस्याओं को लेकर भारत सरकार ओमान सरकार के संपर्क में है और उसे दूर करने के प्रयास किये गये हैं। मदद एवं ई-माइग्रेट पोर्टलों से भी बहुत सहायता दी जा रही है। उन्होंने देश के विकास में प्रवासियों के योगदान का आह्वान करते हुए कहा कि आपको देश के विकास और न्यू इंडिया के सपने को पूरा करने में आपके प्रभाव के दर्शन होंगे। प्रधानमंत्री ने यह भी याद दिलाया कि मध्यप्रदेश के बीना में नई तेल रिफायनरी भारत आेमान सहयोग का उदाहरण है।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...