बिहार : खंभे से उतरकर बिजली रानी 70 साल के बाद केंदुआ गांव में - Live Aaryaavart

Breaking

मंगलवार, 27 फ़रवरी 2018

बिहार : खंभे से उतरकर बिजली रानी 70 साल के बाद केंदुआ गांव में

  • गांव में हर्षोल्लास का माहौल

power-in-villege
फतेहपुर.गया जिले में फतेहपुर प्रखंड है.इस प्रखंड में निमी,केतरा,भारेऔर मोडिढीह गांव है. इन गांवों में एक दशक से कम दिनों से बिजली आपूर्ति है.मगर निमी के उत्तर,दक्षिण में केतरा ,पूरब में मोडिढीह और पश्चिम में भारे गांव के समीप केंदुआ गांव के लोग लालटेन युग में जीने को बाध्य थे. केंदुआ गांव के निवासी छात्र दीपक  कुमार ने बताया कि तीन साल पूर्व बिजली विभाग ने खम्भा गाड़ा और तार तान कर तीस हजार रू.की मांग करने लगे.मनमानी राशि मांगने पर विरोध किया.फ्री बिजली देने का प्रावधान था.आगे श्री कुमार ने कहा कि आजादी के 70 साल केंदुआ गांव के लोग लालटेन युग में रहे.पिछड़ी जाति के यादव और प्रजापति के सार्म्थयवान लोग बिजली की वैकल्पिक व्यवस्था कर लिये.महादलित मुसहर और चौधरी लालटेन और ढ़ीबरी पर ही निर्भर रहे. उन्होंने कहा कि सीएम नीतीश कुमार के सात निश्चय के तहत केंदुआ गांव में 70 साल के खम्भे पर से उतरकर बिजली रानी गांव के घरों में पहुंची है.बिजली रानी के पहुंचने पर हर्ष का माहौल है.इस बार प्रति घर 200 रू.दिये  है.
एक टिप्पणी भेजें
Loading...