सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 01 मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

गुरुवार, 1 मार्च 2018

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 01 मार्च

सफलता की कहानी : स्ट्रारिपर से हुई आय मे वृ‍ध्दि साथ ही पर्यावरण संरक्षण भी

sehore news
सीहोर जिले की नसरूल्लागंज तहसील के ग्राम बड़ोदिया निवासी कृषक श्री जीवन सिंह के पास 12 एकड़ सिंचित कृषि भूमि है। जिस पर गेहूँ की फसल मजदूरों का अभाव होने से हार्वेस्टर से निकलाते थे। उनके खेत की नरवाई को जला देते थे। पालतू पशुओं के लिए 30 ट्राली भूसा किराये की मशीन से बनवाते थे जिसमे 30 हजार रूपये का खर्च आता था। उन्हें ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी से राष्ट्रीय कृषि विकास योजनांतर्गत स्ट्रारीपर क्रय कर 80 हजार रूपये का अनुदान प्राप्त किया । अब अपना भूसा खुद ही बनाते हैं। नरवाई जलाने की आवश्यकता नहीं पड़ती जिससे पर्यावरण का संरक्षण हो रहा है। व बताते हैं स्ट्रारीपर से जहाँ स्वयं का भूसा बनाकर 30 हजार रूपये की बचत हो रही हैं वहीं पड़ोसी खेतों मे स्ट्रारिपर चलाकर लगभग 50 हजार की अतिरिक्त आय प्राप्त की है। जीवन सिंह कहते हैं इससे मेरी आर्थिक स्थिति ठीक हुई है साथ ही नरवाई न जलाने से पर्यावरण भी संरक्षित हो रहा है। वे अन्य कृषकों से भी आग्रह करते हैं कि शासन की इस योजना का लाभ उठाकर अपनी आर्थिक स्थिति मजबूत करें साथ ही पर्यावरण संरक्षण मे भी अपना योगदान दें।

राष्ट्रीय बालिका दिवस द्वितिय चरण के अवसर पर पंचायत स्तर पर  कार्यक्रम का आयोजन 
sehore news
म0प्र0षासन द्वारा महिला एवं बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान हेतु कई प्रकार की अभियान एंव योजनाएं संचालित कि जा रही है ताकि समाज में महिलाओ एवं बालिकाओ को सम्मान जनक स्थान प्राप्त हो सके प्रदेष सरकार द्वारा राष्ट्रीय बालिका दिवस के उपलक्ष्य में दिनांक 24 जनवरी 2018 से 08 मार्च 2018 तक महिलाओ के लिये सम्मान, सुरक्षा, स्वारक्षा थीम के साथ अभियान चलाया जा रहा है जिसमें प्रथम चरण में महिला एवं बाल विकास विभाग तथा पुलिस विभाग के समन्वयक से पूरे प्रदेष के साथ साथ सीहोर जिले के समस्त थानो में यह अभियान संचालित किया गया । द्वितिय चरण में ग्राम पंचायम स्तर पर कार्यक्रमों का आयोजन किया गया । इसी क्रम में सीहोर विकास खण्ड अंतर्गत ग्राम पंचायत जानपुर बावडिया में कार्यक्रम का आयोजन किया गया है जिसमें महिला सषक्तिकरण विभाग के परामर्षदाता सुरेष पांचाल, बाल कल्याण समिति सदस्य अनिल सक्सैना, पर्यवेक्षक रजनी जयसवाल, श्रद्धा मेहता, सरपंच सुरेष वर्मा, सचिव हकिम खान रोजगार सहायक रोहित वर्मा आंगनवाडी कार्यकर्ताओ के साथ ग्राम के महिलाए बालिकाए प्रतिभागी के रूप में  सम्मिलीत हुये परामर्षदाता सुरेष पांचाल द्वारा महिलाओं एवं बालिकाओं के लिये संचालित शासन की लाडली लक्ष्मी योजना उषा किरण योजना , साथ ही महिलाओं की  सुरक्षा हेतु संचालित हेल्प लाईन नम्बर 1090, 1098, 108,100 आदि महत्वपूर्ण नम्बरो की जानकारी दी गई। बाल कल्याण समिति सदस्य अनिल सक्सैना द्वारा बच्चो की सुरक्षा के लिये बनाये गये पाक्सो एक्ट की जानकारी देते हुये बताया गया कि बच्चो के षरीर के चार अंगो को केवल उनके माता पिता ही छु सकते एवं डाक्टर भी अपने माता पिता की उपस्थिति में छु सकते है । यदि ओर कोई छूता है तो शोर मचाये। कार्यक्रम में उपस्थित सभी प्रतिभागियो षासन द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओ व अधिनियमो से संबंधित जानकारी की सामग्री उपलब्ध कराई गई।

हायर सेकेण्डरी परीक्षा केन्द्रों का कलेक्टर ने किया निरीक्षण, लापरवाह शिक्षक पर कार्यवाही के निर्देश

sehore news
सीहोर जिले में हायर सेकेण्डरी परीक्षा गुरूवार एक मार्च से निर्धारित केन्द्रों पर आयोजित होना प्रारंभ हो गई है। परीक्षा केन्द्रों पर 105 प्रेक्षकों के रूप में जिला स्तरीय अधिकारियों की ड्यूटी लगायी गयी है जिन्होंने शासन के निर्देशानुसार परीक्षा प्रारंभ होने के पूर्व से परीक्षा समाप्ति तक निर्धारित परीक्षा केन्द्र पर उपस्थित रहकर सघन निरीक्षण किया। कलेक्टर श्री तरूण कुमार पिथोडे ने सीहोर जिला मुख्यालय के दो केन्द्रों क्रमश: सुभाष स्कूल गंज तथा उत्कृष्ट विद्यालय का निरीक्षण किया। उत्कृष्ट विद्यालय में परीक्षा कक्ष में ड्यूटी दे रहे शिक्षक को टेबल पर बैठा पाकर उन्होंने केन्द्राध्यक्ष को नियमानुसार सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए। कलेक्टर ने सभी केन्द्राध्यक्षों को निर्देशित किया है कि परीक्षा माध्यमिक शिक्षा मण्डल के निर्धारित नियमानुसार संपन्न हो इसका ध्यान रखा जाए। जिले के सभी राजस्व अनुभाग में भी अनुविभागीय दंडाधिकारियों तथा कार्यपालिक दंडाधिकारियों ने अपने अपने क्षेत्र में परीक्षा केन्द्रों का औचक निरीक्षण किया।

विधानसभा संबंधी उत्तर ऑन लाईन भेजने हेतु निर्देश 

कलेक्टर श्री तरूण कुमार पिथोडे ने जिले के समस्त विभागों के कार्यालय प्रमुखों को निर्देशित किया है कि वे विधानसभा सचिवालय द्वारा विभागों को सभी प्रश्नों के उत्तर ऑन लाईन के माध्यम से भेजना सुनिश्चित करें। http://mid.mp.nic.in/euttar पोर्टल पर विधानसभा प्रश्न, आश्वासन, ध्यानाकर्षण तथा अपूर्ण प्रश्नों के ऑन लाईन उत्तर भेजने की व्यवस्था है।

हड़ताल का असर : जिले की १४० शासकीय राशन दुकानों पर डले ताले,

  • हजारों किसानों का पंजीयन कार्य रूका, वसूली कार्य प्रभावित, शासन को लाखों रूपए के राजस्व का नुकसान 
  • सहकारी समिति कर्मचारियों का जारी है आंदोलन 

sehore news
सीहोर। बीते दिनों से अपनी चार मांगों के लिए जिला मुख्यालय स्थित बाल बिहार मैदान में धरना प्रदर्शन कर सरकार का ध्यान आकार्षित करने की कोशिश कर रहे जिले के सैकड़ों सहकारी समितियों के कर्मचारियों ने गुरूवार को कोतवाली चौराहा से बाल बिहार मैदान तक विरोध रैली निकाली। इस दौरान कर्मचारियों ने गूंगी बेहरी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर विरोध दर्ज कराया। सहकारी समितियों के कर्मचारियों ने अबतक  मुंडन, क्रमिक भूख हडताल, अध्र्द नग्र धरना, ज्ञापन, नारेबाजी जैसे प्रदर्शन किए है लेकिन सरकार सुनने को तैयार नही है।

एसडीएम को दिया ज्ञापन 
हड़ताली कर्मचारियों की रैली कोतवाली चौराहा से शुरू हुई। मुख्य बाजार लीसा चौराहा से तहसील चौराहा तक रैली निकाली गई। रैली में कर्मचारी हाथों में हमारी मांगे पूरी करों सहित अन्य वाक्य लिखी तख्तियां लेकर नारेबाजी करते हुए चल रहे थे। कर्मचारियों ने जिलाध्यक्ष कैलाशचंद्र पंवार के नेतृत्व में एसडीएम राजकुमार खत्री को मांग पत्र प्रदान किया।

हड़ताल का व्यापक असर 
जिले भर की सहकारी समितियों में किसानों के पंजीयन रूक गए है, सहकारी समितियों के द्वारा संचालित १४० शासकीय राशन दुकाने पूर्ण रूप से बंद है जिस कारण नागरिकों को राशन नही मिल रहा है राशन तेल नही मिलने से  होली का त्योैहार फीका हो गया है। हडताल पर बने हुए कर्मचारियों के कारण शासन को हर रोज लाखों रूपए के राजस्व की हानी हो रही है। 

यह है कर्मचारियों की मांग
सहकारी समिति कर्मचारी लम्बे समय से सरकार से  जिला कैडर, वेतमान व स्थानान्तरण आदेश तत्काल देने। सहकारी समिति में कार्ररत या नियुक्त विक्रेता को दो उचित मूल्य की दुकाने संचालन के लिए देने। समिति में कार्ररत कम्प्यूटर ऑपरेटरों को सेवानियम के तहत लिपिक वर्ग में रखने के लिए नियम में संशोधन करने। जिला सहकारी केंन्द्रीय बैंक शाखाओं में खोले जा रहे डीएसआर खातों पर प्रतिबंध लगाने की मांग कर रहे है।

कलेक्टर को दे चुके ज्ञापन 
प्रदेश सरकार से लम्बे समय से सहकारी समितियों के कर्मचारी चार सूत्रीय मांगों को पूरा कराने के लिए प्रयासरत है। कर्मचारी मध्य प्रदेश सहकारिता समिति कर्मचारी महासंघ के बेनर तले क्रमानुसार विरोध दर्ज करा रहे है। कर्मचारियों ने 5 फरवरी सोमवार को एक दिवसीय धरना देकर मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन जिला कलेक्टर, उप पंजीयक, खाद्य अधिकारी, सहकारी बैंक के महाप्रबंधक को दिया।

रैली प्रदर्शन में यह रहे शामिल
बालबिहार मैदान पर जारी प्रदर्शन में कर्मचारी मध्य प्रदेश सहकारिता समिति कर्मचारी महासंघ के पदाधिकारी कृपाराम मालवीय, कैलाश पवांर, दीपक वर्मा, सुरेश गौर, मुरलीधर शर्मा, दिनेश पाटीदार, प्रहलाद चौधरी, राजेश पंवार, राजेश कुलकर्णी, माल सिंह, गोपाल सिंह , बनप सिंह वर्मा सहित सैकड़ों कर्मचारी गण शामिल है। 
एक टिप्पणी भेजें
Loading...