मधुबनी : जयनगर में भारतबंदी का रहा असर - Live Aaryaavart

Breaking

सोमवार, 2 अप्रैल 2018

मधुबनी : जयनगर में भारतबंदी का रहा असर

  • बाइक जूलूस,चक्का जाम करके जताया विरोध 


bharat-bandh-in-jaynagar
मधुबनी/जयनगर (आर्यावर्त डेस्क) 02) अप्रैल, अनुसूचित जाति से जुडे लोगो ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ प्रायोजित भारतबंदी का जयनगर में असर रहा।  शहर के विभिन्न मुख्य सड़क शहीद चौक,पटनागद्दी चौक,युनियन टोल महेन्द्र चौक,सुरेका अतिथि भवन के निकट ,निबंधन कार्यालय के निकट बेरिकेटिगं लगा कर चक्का जाम कर दिया। जिससे बड़ी वाहन तो दुर साईकल .मोटरसाइकिल चालकों को भी आवागमन में भारी फजीहत उठानी पड़ी। वीर कुंवर सिंह के निकट बंद सर्मथकों ने नेपाली चार चक्के वाहन को रोककर उसके सीसा फोड़ दी तथा ड्राइवर व उसमें बैठे लोगों के साथ हाथापाई की। वहीं पर दो नास्ते दुकान को बंद करने के क्रम में हंगामा हुआ और उनका सामान फेंक दिया गया ।  सोमवार होने के कारण बाजार स्वतः बंद थी। बंदी इतना असरदार था कि मानो जयनगर में नाकाबंदी कि तरह माहौल था। यहांतक कि होटल,नास्ता,चाय,पान समेत स्कूल समेत अन्य प्रतिष्ठान बंद रही।  बंदी सर्मथक अलग अलग तरीकों से विरोध दर्शाया। जिसमें बाइक जूलूस से प्रर्दशन ,टायर जलाकर, तथा विभिन्न मार्गो पर चक्का जाम शामिल था। बंदी सर्मथन का नेतृत्व अनुसुचित जाति व जनजाति मंच के अध्यक्ष कैलाश पासवान, अम्बेडकर विकास मंच के सुशील कुमार पासवान, भाकपा से अमीरूदीन, भाकपा माले के भुषण सिंह, कांग्रेस के रामचंद्र साह,राजद के इदरीश मंसुरी, विनोद शर्मा, विमल यादव,रामबाबू यादव के नेतृत्व में अलग अलग जत्था बनाये हुये थे। बंदी में उप प्रमुख मिथलेश पासवान, प्रदीप पासवान, विजय महतो,भोला पासवान, विनोद पासवान, प्रीति पासवान, अशोक पासवान, मो. मुस्तफा, राम अशीष राम,अर्जुन पासवान, श्रवण साह समेत दर्जनों लोग शामिल थे।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...