बिहार : भाकपा-माले ने जनअधिकार पदयात्रा में गांव-गांव से चलो का दिया नारा. - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 28 अप्रैल 2018

बिहार : भाकपा-माले ने जनअधिकार पदयात्रा में गांव-गांव से चलो का दिया नारा.

  • चर्चित दलित नेता व गुजरात से विधायक जिग्नेश मेवाणी ने किया माले की पदयात्रा का स्वागत.
  • 29 अप्रैल को माले महासचिव नालंदा के हिलसा में पदयात्रियों का करेंगे स्वागत.

cpi-ml-jan-adhikar-yatra
पटना 28 अप्रैल 2018, देश के चर्चित दलित युवा नेता व गुजरात से विधायक जिग्नेश मेवाणी ने भाकपा-माले की जनअधिकार पदयात्रा का स्वागत किया है. उन्होंने अपने संदेश में देश की जनता से पदयात्रा के उद्देश्य को चारो तरफ फैला देने और और बिहार के लोगों से इसमें शामिल होने की अपील की है. उन्होंने कहा कि जनता का आंदोलन जारी है और उसे हमारा सलाम है. कहा कि हमें विश्वास है कि फासीवादी ताकतों को हम इतिहास के कुड़ेदान में उठाकर फेंक देंगे.

काॅ. दीपंकर कल पहुंचेंगे हिलसा
भाकपा-माले के महासचिव काॅ. दीपंकर भट्टाचार्य, राज्य सचिव कुणाल, केंद्रीय कमिटी के सदस्य काॅ. संतोष सहर कल 29 अप्रील को बिहारशरीफ से निकली यात्रा का स्वागत करने के लिए हिलसा पहुंचेंगे. बिहारशरीफ से निकली पदयात्रा एकंगरसराय, परवलपुर होते हुए हिलसा पहुंच रही है और फिर फतुहा होकर पटना पहुंचेगी. इस पदयात्रा का नेतृत्व भाकपा-माले की केंद्रीय कमिटी के सदस्य

भाकपा-माले ने जनअधिकार महासम्मेलन को ऐतिहासिक बनाने की अपील की.
भाकपा-माले के वरिष्ठ नेता काॅ. स्वदेश भट्टाचार्य ने कहा है कि जनअधिकार पदयात्रा को बिहार की जनता का व्यापक समर्थन मिल रहा है. हमने नारा दिया है - गांव-गांव से उठो. फासीवादी भाजपा के खिलाफ गांव-गांव से दलित-महिलायें-अकलियत व कमजोर वर्ग के लोग पदयात्रा में हिस्सा ले रहे हैं. लोग भीषण गर्मी और कई प्रकार के संकटों को झेलते हुए लगातार आगे बढ़ रहे हैं. उन्होंने बिहार की जनता से अपील की है कि 1 मई को पटना के गांधी मैदान में आयोजित जनअधिकार महासम्मेलन को हर प्रकार से सहयोग दें और उसे सफल बनायें.
एक टिप्पणी भेजें