बिहार : वार्षिक बैठक में सरकारी योजनाओं पर अधिक चर्चा - Live Aaryaavart

Breaking

बुधवार, 25 अप्रैल 2018

बिहार : वार्षिक बैठक में सरकारी योजनाओं पर अधिक चर्चा

minority-christian-meeting
पटना. आज सुपर संडे को अल्पसंख्यक ईसाई कल्याण संघ की वार्षिक बैठक की गयी. स्थानीय सेवा केंद्र, कुर्जी पटना में  विजय ओस्ता  की अध्यक्षता में की गयी।संस्था के अध्यक्ष एम्ब्रोस पैट्रिक ने आगत  सदस्यों का स्वागत करते हुए संस्था की गतिविधियों की जानकारी देते हुए आपसी एकता की बात कही।कोषाध्यक्ष विक्टर जेरमी ने वार्षिक आय-व्यय का व्योरा पेश  किया। संस्था के महा सचिव एस.के. लॉरेंस ने पटना तथा दूसरे शहर से आए संस्था के प्रतिनिधियों का  स्वागतम करते हुए संस्था द्वारा अबतक किये गए कार्यों की जानकारी दी।उन्होंने बताया कि यह संस्था बिना किसी सरकारी या एन.जी. ओ.के आर्थिक सहयोग के  सिर्फ समुदाय के लोगों के सहयोग से यह संस्था सकारात्मक कार्य कर रही है।जैसे विधार्थिओं को छात्रवृति दिलाने में सहयोग करना, ख्रीस्त जयंती मिलन समारोह का आयोजन कर समुदाय के समाजसेवी महिलाओं तथा  धार्मिक कार्यों में सहयोगरत तेजस्वी युवाओं को सम्मानित करना, जरूरतमंदों को सहयोग करना, कम्बल एवम् वस्त्र वगैरह बांटना जैसे कई तरह के कार्य किये गए।ईसाई बहुल इलाकों की सड़क बनवाने, कब्रिस्तानों की उचित घेराबंदी कराने, जेरुसलम की यात्रा हेतु अनुदान प्रदान करने बिहार के सरकारी उच्च विद्यालयों में रद्द किये गए गुड फ्रायडे के अवकाश  को बहाल करने वगैरह के लिए सरकार से मांग की गयी।सरकार की योजना के तहत अल्पसंख्यकों को प्राप्त होने वाली सुविधा की जानकारी प्रदान कर आवश्यकतानुसार सहयोग कर दिलाने में सहयोग करने जैसे कार्य किये गए।इस दौरान सदस्यों के साथ साथ सहायक सचिव रंजीत कुमार,रिचर्ड रंजन,विजय कुमार पॉल,शोभा रंजन, उमेश्वर प्रसाद, मुकुल अंतोनी, शिखा कुमारी, एग्नेस, जेरमी, आलोक बेसरा, तरुण साइमन तथा अन्य क्षेत्रों से आए प्रतिनिधियों ने अपनी अपनी बातें रखीं तथा सुझाव पेश किये।समुदाय द्वारा यह प्रसन्न्ता जाहिर की गयी कि कुर्जी चर्च से सटे कब्रिस्तान की चहारदीवारी को ऊँचा कर उस पर कंटीला तार लगाने की पांच माह पूर्व की गयी घोषणा के बावजूद अबतक कोई कार्य नहीं किये जाने  के रुकावट को जल्द दूर कर कार्य कराने के लिए मुख्य मंत्री जी तथा डी. एम्. साहब से अनुरोध किया गया था ,जिसपर उन्होंने त्वरित कार्यवाही की।इस दौरान उपस्थित सदस्य ने केंद्रीय कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद जी द्वारा दलित आरक्षण पर दिए गए बयान को दुर्भाग्यपूर्ण  बताते हुए कहा कि इससे देश के दलित ईसाइयों को बेहद निराशा हुयी है।जिसमें उन्होंने कहा था कि संविधान में आरक्षण का अधिकार सिर्फ दलित हिंदुओं को ही है तथा इस आरक्षण पर दूसरों को हकमारी नहीं करने देंगे। साथ ही संस्था को और मजबूती प्रदान करने की बात कही गयी।सरकार की योजना के तहत अल्पसंख्यकों को प्राप्त होने वाली योजनाओं की चर्चा की गयी। संस्था को और मजबूत बनाने की बात कही गयी ताकि यह संघ अपने समुदाय के लिए और ज्यादा अच्छा कार्य कर सके।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...