उन्नाव प्रकरण की जांच सीबीआई को सौंपने की सिफारिश - Live Aaryaavart

Breaking

गुरुवार, 12 अप्रैल 2018

उन्नाव प्रकरण की जांच सीबीआई को सौंपने की सिफारिश

  • विधायक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

unnao-rape-case-sent-to-cbi-fir-against-mla
लखनऊ, 12 अप्रैल, उत्तर प्रदेश सरकार ने आज कहा कि उन्नाव प्रकरण की जांच सीबीआई को सौंपी जाएगी। पुलिस ने आरोपी भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ उन्नाव में प्राथमिकी दर्ज कर ली है, लेकिन उनकी गिरफ्तारी का फैसला सीबीआई करेगी। प्रमुख सचिव (गृह) अरविन्द कुमार ने यहां संवाददाताओं को बताया कि सीबीआई को जांच सौंपने का पत्र आज भेज दिया जाएगा। सीबीआई के जांच अपने हाथ में लेने तक स्थानीय पुलिस जांच जारी रखेगी। उन्होंने कहा कि आरोपी भाजपा विधायक सेंगर की गिरफ्तारी के बारे में फैसला भी सीबीआई जांच के बाद मामले के गुण दोष के आधार पर करेगी। कुमार ने कहा, सरकार ने तय किया है कि पिछले साल चार जून की घटना (कथित बलात्कार) के सिलसिले में मामला दर्ज करने के बाद इसे सीबीआई को हस्तांतरित किया जाए। चूंकि तीन अप्रैल से संबद्ध दो अन्य मामले भी इसी संबंध में हैं इसलिए ये सभी मामले सीबीआई को हस्तांतरित किये जाएं। उन्नाव पुलिस ने आज सुबह सेंगर के खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं और पॉक्सो कानून के तहत माखी थाने में प्राथमिकी दर्ज की है। सवालों के जवाब में कुमार और पुलिस महानिदेशक ओ. पी. सिंह ने कहा कि मजिस्ट्रेट के समक्ष दिये बयान में पीड़िता ने विधायक का नाम नहीं लिया था। लेकिन पीड़िता और उसके परिवार वालों ने अब विशेष जांच टीम (एसआईटी) को बताया कि वह भयवश पहले ऐसा नहीं कर पाये थे। अब सेंगर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। पुलिस विधायक को बचाने का प्रयास कर रही है, इन आरोपों से इंकार करते हुए कुमार और सिंह ने कहा कि इसी वजह से मामले की जांच सीबीआई को सौंपी गयी है।  उन्होंने बताया कि सरकार ने पीड़िता के परिवार को सुरक्षा मुहैया कराने का भी फैसला किया है। अधिकारियों ने आश्वासन दिया कि किसी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। कुछ पुलिसकर्मियों और ​डॉक्टरों के खिलाफ काम में लापरवाही बरतने को लेकर पहले ही कार्रवाई की जा चुकी है।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...