वेंकट राहुल ने भारोत्तोलन स्पर्धा में भारत को चौथा स्वर्ण पदक दिलाया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 7 अप्रैल 2018

वेंकट राहुल ने भारोत्तोलन स्पर्धा में भारत को चौथा स्वर्ण पदक दिलाया

venkat-rahul-won-4th-gold-for-india
गोल्ड कोस्ट , सात अप्रैल, आर वेंकट राहुल (85 किग्रा ) मौजूदा राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले चौथे भारतीय भारोत्तोलक बन गये। इक्कीस वर्षीय राहुल ने कुल 338 किग्रा (151 किग्रा और 187 किग्रा ) का वजन उठाया जिससे वह शीर्ष पर रहे।  इस भारतीय भारोत्तोलक को समोआ के डॉन ओपेलोज से करीबी चुनौती का सामना करना पड़ा जो कुल 331 किग्रा (151 किग्रा और 187 किग्रा ) का वजन उठाने में सफल रहे।  दोनों भारोत्तोलकों ने क्लीन एवं जर्क में अपने अंतिम प्रयास में 191 किग्रा वजन उठाने का विकल्प चुना लेकिन दोनों ही इसमें चूक गये। लेकिन समोआ का भारोत्तोलक 188 किग्रा वजन उठाने के दूसरे प्रयास में भी विफल हो गया जिससे राहुल शीर्ष स्थान हासिल करने में कामयाब हुए।  अगर ओपेलोज अपने अंतिम प्रयास में सफल हो जाते तो राहुल को रजत से संतोष करना पड़ता क्योंकि वह तीसरे प्रयास में फाउल हो गये थे।  पिछले साल राष्ट्रमंडल चैम्पियनशिप में राहुल ने कुल 351 किग्रा (156 किग्रा और 195 किग्रा ) का वजन उठाया था। 
एक टिप्पणी भेजें
Loading...