विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 14 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 14 अप्रैल 2018

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 14 अप्रैल

बाबा साहब के सपनों को साकार करने में हम सबकी  महती भूमिका-राज्यमंत्री श्री मीणा

vidishaa news
भारत रत्न बाबा साहेब डाॅ बीआर अम्बेडकर की 127वीं जयंती के अवसर पर एक दिवसीय सद्भावना शिविर का आयोजन जिला मुख्यालय पर किया गया था। जिला मुख्यालय पर आज एसएटीआई के कैलाश सत्यार्थी सभागृह में सद्भावना शिविर को सम्बोधित करते हुए उद्यानिकी राज्यमंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा ने कहा कि बाबा साहब डाॅ भीमराव अम्बेडकर के द्वारा संविधान के माध्यम से जो एकजुटता देश को दी है उसे हम सब बनाए रखें। उनके सपनों को साकार करने में हर भारतीय की महती भूमिका है।   राज्यमंत्री श्री मीणा ने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश के अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग के उत्थान एवं चहुंमुखी विकास के लिए जो-जो नवाचार किया गया है का अनुसरण एवं उपयोग अन्य राज्यों के द्वारा भी किया जा रहा है जिसका मुख्य उद्धेश्य सामाजिक समरसता को बढ़ावा देना है। आज विशेष ग्रामसभा का आयोजन किया गया है जिसका मुख्य उद्वेश्य ग्राम स्वराज अभियान के  क्रियान्वयन को गति देना है।  राज्यमंत्री श्री मीणा ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा अम्बेडकर जी की जन्म भूमि महू को तीर्थ स्थल का रूप दिया है। राज्यमंत्री श्री मीणा ने कहा कि शिक्षा को बढावा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा विशेष पहल की जा रही है खासकर अनुसूचित जाति जनजाति वर्ग के विद्यार्थी शिक्षावान हो उनके लिए विशेष योजनाओं का क्रियान्वयन राज्य सरकार द्वारा किया जा रहा है। नगरपालिका अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन ने कहा कि गरीब दीनदुखियों खासकर अनुसूचित जाति जनजाति वर्ग के उत्थान हेतु मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा विशेष प्रयास प्रदेश में किए जा रहे है इन वर्गो में शिक्षा का बेहतर प्रचार-प्रसार हो और युवाजन शिक्षावान बनें। साथ ही साथ स्वरोजगार एवं रोजगार के माध्यम से आर्थिक रूप से सबल हो के प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। उन्होंने कहा कि अम्बेडकर जी ने जो सपना देखा था उसे पूरा करने में हम सबकी महती भूमिका है खासकर गांव शहर के ऐसे व्यक्ति जिन्हंे वाजिब में शासन की योजनाओं का लाभ मिलना चाहिए। उन तक पहुंचाने मंे यदि हम योगदान देते है तो इससे अच्छा उदाहरण कोई नही हो सकता है। बासौदा विधायक श्री निशंक जैन ने समाजों को पिछड़ने में सबसे महत्वपूर्ण कारण अशिक्षित होना बताया। उन्होंने कहा कि भारत रत्न डाॅ बीआर अम्बेडकर ने सबसे पहले शिक्षा पर जोर दिया ताकि पिछडे वर्ग के लोग शिक्षित होकर अपने अच्छे बुरे की पहचान जान सकें।विधायक श्री जैन ने समाज सबसे पहले नशामुक्त हो इसके लिए हम सबकों जनजागृति के माध्यम से परिणाममूलक प्रयास करने होंगे। उन्होंने शासन की जनकल्याणकारी योजनाआंे को और अधिक सहज व सरल बनाने के लिए स्थानीय बोली में योजनाओं के फ्लैक्स, पेम्पलेट सारगर्भित रूप से प्रकाशित कराने पर बल दिया ताकि आमजन बोलचाल की भाषा में सुगमता से योजनाओं की जानकारी प्राप्त कर सकें। जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी ने कहा कि बाबा साहब डाॅ बीआर अम्बेडकर के बताए गए मार्ग पर चलकर हम उन्हें सच्ची श्रद्धाजंलि देें। उनका पूरा जीवन संघर्षपूर्ण रहा किन्तु उन्होंने राष्ट्रभक्त की भावना को कभी नही छोड़ा। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने उनके सपनो को साकार करने में कोई कोर कसर नही छोड़ी है। कलेक्टर श्री अनिल सुचारी ने कहा कि डाॅ भीमराव अम्बेडकर दूरदृष्टा थे उन्होंने समाजों में एकरूपता लाने के लिए जो मंत्र बताए थे वो भी आज कारगर है। उन्होंने महिलाआंे के उत्थान और सशक्तिकरण के लिए अनेक कार्य किए है जिसमें प्रसूति सहायता से लेकर वैवाहिक उम्र भी शामिल है। उनके लिए हमारी सच्ची श्रद्वांजलि यही है कि हम उनके बताए गए मार्ग पर चलकर समाज, गांव और जिले के साथ-साथ प्रदेश के विकास में अपना योगदान दें। उन्होंने अज्ञानता के अंधकार को दूर करने के लिए शिक्षारूपी दामन को पकड़ने की बात कही है जो आज अतिआवश्यक है। कार्यक्रम को पुलिस अधीक्षक श्री सम्पत उपाध्याय, एसएटीआई के संचालक श्री जेएस चैहान ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम के दौरान एसएटीआई के प्रोफेसर श्री एसएस गोलिया ने डा भीमराव अम्बेडकर के व्यक्तित्व, जीवन परिचय पर प्रकाश डाला।

लाइव प्रसारण
भारत रत्न डाॅ बीआर अम्बेडकर की जयंती पर छत्तीसगढ़ राज्य के बीजापुर में आयोहित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी शामिल हुए और उनके भाषण का लाइव प्रसारण विदिशा के एसएटीआई, कैलाश सत्यार्थी सभागृह में भी देखा और सुना गया है। 

हितग्राही लाभांवित
कार्यक्रम स्थल पर अतिथियों द्वारा मुख्यमंत्री निःशक्त शिक्षा प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत चार निःशक्त हितग्राहियों लेपटाॅप प्रदाय किए वही ग्राम मढीचैबीसा के दिव्यांग श्री हरलाल कोरी को ट्राय साइकिल प्रदाय की गई। 

सहभोज
आदिम जाति कल्याण विभाग के माध्यम से आयोजित सदभावना शिविर कार्यक्रम के उपरांत अतिथियों ने स्कूली विद्यार्थियों और स्वंयसेवी संगठनों के अलावा अनुसूचित जाति जनजाति वर्ग के स्वसहायता समूहों के सदस्यों के साथ बैठकर सहभोज भी एसएटीआई के कैलाश सत्यार्थी सभागृह में किया। इस अवसर पर जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्री गुड्डीबाई लालाराम अहिरवार समेत अन्य जनप्रतिनिधिगण एवं श्री सुभाष बोहत और जिला पंचायत सीईओ श्री दीपक आर्य, अपर कलेक्टर श्री एचपी वर्मा, एसडीएम श्री रविशंकर राय समेत अन्य विभागों के अधिकारी, कर्मचारी व गणमान्य नागरिक एवं पत्रकार मौजूद थे।
कहानी सच्ची है : हरलाल की मनोकामनाएं पूरी की योजनाआंे ने

दिव्यांग श्री हरलाल कोरी ने अपने आपको असहाय ना मानते हुए संघर्ष से जीवन में जो परिवर्तन लाने का सोचा था वह शासकीय योजना ने पूरा किया है। योजनाओं से लाभांवित होने के उपरांत हितग्र्राही हरलाल आज विदिशा जिला मुख्यालय पर आयोजित सदभावना शिविर में शामिल हुए और योजनाओं से जीवन में आए परिवर्तन की जानकारी उन्होंने राज्यमंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा को दी और लाभांवित होने पर धन्यवाद ज्ञापित किया। विदिशा जिले के ग्यारसपुर जनपद पंचायत के ग्राम मढीचैबीसा के रहने वाले दिव्यांग श्री हरलाल कोरी पैरो से अशक्त होने के कारण आने-जाने में असमर्थ होने के कारण अपने आप से कुठिंत हो रहे थे ऐेसे समय ग्राम के सचिव ने उन्हें ट्रायसायकिल सामाजिक न्याय विभाग से दिलवाने मंें कारगर पहल की। दिव्यांग हरलाल को ट्रायसाइकिल मिलने के बाद स्वंय का रोजगार संचालित करने का मन बनाया। आठवीं पास हरलाल का यह काम मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना ने पूरा किया है। हितग्राही हरलाल कोरी का कहना है कि निःशक्तता को स्वरोजगार में आडे़ हाथ नही आने दिया। मेरे हौंसला को देखते हुए एसबीआई की शाखा द्वारा मुझे मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के तहत किराना व्यवसाय संचालन हेतु मुझे पचास हजार का लोन दिया। जिससे गांव में ही मेरे द्वारा व्यवसाय का संचालन किया जाने लगा। हर रोज मुझे दो सौ से ढाई सौ रूपए की सामग्री बिकने से 70 से 80 रूपए का मुनाफा होने लगा था मेरे द्वारा बैंक की नियमित किश्त भरी जा रही है। हितग्राही हरलाल कोरी सदभावना शिविर में पुनः ट्रायसायकिल प्राप्ति के उद्वेश्य से आए थे और उनकी मनोकामना पूरी हुई। राज्यमंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा के द्वारा उन्हें ट्रायसाइकिल प्रदाय की गई। ट्रायसाइकिल मिलने के बाद हितग्राही हरलाल कोरी ने प्रसन्नचित मुद्रा में दोनो हाथ जोड़कर धन्यवाद ज्ञापित किया है। 
एक टिप्पणी भेजें
Loading...