दुमका : कस्तुरबा विद्यालय में नामांकन के अनुमोदन लिये बैठक संपन्न - Live Aaryaavart

Breaking

मंगलवार, 1 मई 2018

दुमका : कस्तुरबा विद्यालय में नामांकन के अनुमोदन लिये बैठक संपन्न

admission-in-kasturba-school-meeting-dumka
दुमका (अमरेन्द्र सुमन) समाहरणालय सभागार दुमका  में उपायुक्त मुकेश कुमार की अध्यक्षता में शैक्षणिक सत्र 2018-19 में कस्तुरबा गांधी आवासीय बालिका उच्च विद्यालय में नामांकन हेतु विद्यालयवार एक साथ प्रखंड नामांकन समिति द्वारा चयनित बालिकाओं के नामांकन से संबंधित सूची के अनुमोदन हेतु बैठक की गई। जिसमें जिला चयन समिति के सदस्यों के साथ सभी प्रखंडों के प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी एवं वार्डन उपस्थित थे।  इस अवसर पर शिकारीपाड़ा विधायक नलिन सोरेन ने कहा कि कस्तुरबा विद्यालय की कल्पना  बालिकाओं के सर्वांगिण विकास के लिए की गई थी। उन्होंने कहा कि आप सभी पर एक बड़ी जिम्मेदारी है विद्यालय में सभी छात्राओं के माता-पिता आप ही हैं। बच्चियों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के साथ-साथ उन्हें अपना प्यार भी दें। उन्होंने कहा कि कस्तुरबा विद्यालय में कई ऐसी भी बच्चियाँ पढ़ाई कर रही हैं जिनके माता-पिता इस दुनियां में नहीं हैं। किसी भी प्रकार की परेषानी हो तो जिला प्रषासन को अवगत करायें। जिला प्रषासन निष्चित रूप से आपकी समस्याओं का हल ढूंढ निकालेगा। 

इस अवसर पर दुमका के उपायुक्त मुकेश कुमार ने कहा कि कस्तुरबा विद्यालय में बच्चियों को दी जाने वाली सुविधायें उन्हें निष्चित रूप से मिले इसे सुनिष्चित करें। किसी भी कीमत पर विद्यालय में बच्चियों की सीट खाली ना रहे इसका ध्यान रखा जाय। उन्होंने कहा कि सुदुर इलाकों से आने वाले बच्चियों का नामांकन प्राथमिकता के आधार पर किया जाय। नक्सल प्रभावित क्षेत्रों से भी आने वाले बच्चियों का नामांकन हो। उन्होने प्रखंड विकास पदाधिकारी जरमुण्डी को निदेष दिया कि हर हाल में शुक्रवार को बैठक कर कस्तुरबा में नामांकन की प्रक्रिया अविलम्ब शुरू करें उन्होंने उपस्थित सभी कस्तुरबा विद्यालय के वार्डेन से कहा कि विद्यालयों में बच्चियों के साथ आपका व्यवहार अच्छा हो। उन्होंने बीईओ को निदेश दिया कि अल्पसंख्यक क्षेत्रों में कैम्प लगाकर वहां की बच्चियों का दाखिला कस्तुरबा विद्यालय में करायें। साथ ही फोकस एरिया को बच्चियों का भी कस्तुरबा विद्यालय में नामांकन किया जाय। उन्होंने कहा कि वैसी छात्रायें जिनके माता-पिता अब इस दुनियां में नहीं हैं उनका नामांकन प्राथमिकता के आधार पर किया जाय। आपकी जरा सी मेहनत जिला प्रशासन और सरकार की बेहतर छवि लोगों के बीच प्रस्तुत करती है। एक सप्ताह के अन्दर  सारी रिक्तियों पर दाखिला सुनिश्चित करें।

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा सभी कस्तुरबा विद्यालयों में टैबलेट भी उपलब्ध कराया गया है। इन टैबलेट का उपयोग बच्चियाँ अपने पठन-पाठन के लिए करें। विद्यालय पुस्तकालय के तर्ज पर टैबलेट का वितरण बच्चियों के बीच करें। वाईफाई की सुविधा उन्हंे उपलब्ध कराई जाय। विद्यालय में स्थित जिम की स्थिती ठीक रखा जाय ताकि बच्चियाँ इसका उपयोग कर सकें। उन्होंने कहा कि विद्यालय में शौचालय की बेहतर व्यवस्था हो इसका ध्यान रखा जाय। दुमका जिले में स्थित सभी कस्तुरबा विद्यालय आईएसओ सटिफाईड हैं इसका ध्यान रखा जाय। एक महीने बाद जिला प्रशासन द्वारा सभी दस कस्तुरबा विद्यालय की रैंकिंग की जायेगी। बेहतर कार्य करने वाले वार्डन को सम्मानित भी किया जायेगा। उन्होंने कस्तुरबा विद्यालय के सभी वार्डन को निदेश दिया कि विद्यालय के लाॅग बुक को अच्छे तरह से मेंटेन किया जाय। विद्यालय आने वाले सभी लोगों का नाम आवष्यक रूप से अंकित हो। समय समय पर बच्चियों का काउनसेलिंग किया जाय। वार्डेन बिना अनुमति के मुख्यालय न छोड़े ,किसी को अपने स्थान पर नियुक्त कर ही मुख्यालय छोड़े। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन हमेशा आपके साथ है। किसी भी प्रकार की परेशानी हो उसे अविलंब जिला प्रशासन के संज्ञान में लाएं।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...