मधुबनी : कृषक प्रषिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन - Live Aaryaavart

Breaking

सोमवार, 14 मई 2018

मधुबनी : कृषक प्रषिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन

agriculture-training-madhubani
मधुबनी (आर्यावर्त डेस्क) : जिला पदाधिकारी, मधुबनी के द्वारा शनिवार को बेनीपट्टी स्थित कृषि भवन में आयोजित कृषक प्रषिक्षण कार्यक्रम सह कृषक-वैज्ञानिक वार्तालाप कार्यक्रम का दीप प्रजव्लित कर उद्घाटन किया गया।  इस अवसर पर श्री मुकेष रंजन, अनुमंडल पदाधिकारी,बेनीपट्टी, श्री रेवती रमण, जिला कृषि पदाधिकारी,मधुबनी श्री पुष्कर कुमार, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी,बेनीपट्टी, श्री अभय कुमार, प्रखंड विकास पदाधिकारी,बेनीपट्टी, श्री पूरेन्द्र कुमार सिंह,अंचल अधिकारी,बेनीपट्टी, श्री अषोक कुमार चैधरी, उप प्रमुख,बेनीपट्टी, श्री नित्यानंद झा, पूर्व प्रमुख सह अध्यक्ष, आत्मा, श्री रामराजी सिंह, किसान भूषण, श्री महेष्वर ठाकुर, प्रगतिषील किसान,श्री सुमीत कुमार झा समेत काफी संख्या में किसान एवं कृषि विभाग से जुड़े अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला पदाधिकारी ने कहा कि किसानों के विकास के बिना देष का विकास संभव नहीं है। सरकार के द्वारा किसानों की आमदनी को दोगुणा करने के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाये चलायी जा रही है। जिसका लाभ उठा कर किसान अपनी आमदनी को दोगुणा कर सकता है। उन्होने कृषि विभाग के पदाधिकारियों को निदेष दिया कि वे वैसे गांवों/पंचायतों का चयन करें, जहां के 75 प्रतिषत किसान लिखित रूप में आगे आये कि वे अपनी आमदनी को दोगुणा करना चाहते है। वैसे गांवों/पंचायतों को प्राथमिकता के आधार पर लेते हुए सरकारी योजनाओं के लाभ और तकनीकी तरीकों को अपना कर उनकी आमदनी को दोगुणा करने में मदद करें।  जिला पदाधिकारी ने कहा कि वे किसानों में जागरूकता फैलाने के उद्देष्य से ही कृषि टास्क फोर्स की बैठक प्रगतिषील किसानों के खेतों में करेंगे,ताकि उससे प्रेरित होकर अन्य किसान भी लाभ उठायंे। उन्होने कहा कि किसान मेहनत करें, प्रषासन उन्हें आमदनी बढ़ाने के तरीकों एवं लाभकारी योजनाओं के लाभ दिलाने में मदद करेंगी। सभी कृषकगण वैसे धान के बीजों का प्रयोग करें, जो 8-10 दिन तक पानी में डूबे रहने पर भी फसल बर्बाद न होने पाये। उन्होने कहा कि बिहार में खासकर मधुबनी की मिट्टी खेती के लिए काफी बेहतर है।  जिला पदाधिकारी ने कृषि विभाग के अधिकारियों को कृषक समिति का गठन शीघ्र कराने का निदेष दिया। 
एक टिप्पणी भेजें
Loading...