मधुबनी : बाढ़ की पूर्व तैयारी को लेकर समीक्षा बैठक - Live Aaryaavart

Breaking

बुधवार, 16 मई 2018

मधुबनी : बाढ़ की पूर्व तैयारी को लेकर समीक्षा बैठक


meeting-for-flood-in-madhubani
मधुबनी (आर्यावर्त डेस्क) 16 मई, मधुबनी  जिला पदाधिकारी, मधुबनी की अध्यक्षता में बुधवार को आगामी बाढ़ की पूर्व तैयारी को लेकर समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। बैठक श्री दुर्गानंद झा,अपर समाहर्ता,मधुबनी, श्री सुजीत कुमार, जिला परिवहन पदाधिकारी, मधुबनी, मो0 अतिकुद्दीन, जिला भू-अर्जन पदाधिकारी,मधुबनी, श्री विनोद कुमार, प्रभारी जिला जनसंपर्क पदाधिकारी,मधुबनी समेत अन्य जिला स्तरीय पदाधिकारीगण एवं अंचल अधिकारी तथा बाढ़ नियंत्रण के कार्यपालक अभियंता समेत अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे। जिला पदाधिकारी द्वारा प्रखंडवार बाढ़ पूर्व तैयारी की समीक्षा की गयी। तथा उन्होने सभी पदाधिकारियों को निदेश दिया कि बाढ़ की स्थिति में किसी गांव या टोले की सड़कों के माध्यम से संपर्क भंग नहीं हो एैसा सुनिश्चित करें। जिला पदाधिकारी द्वारा सभी पथ प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता को बाढ़ पूर्व क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मति कार्य को पूर्ण करने का निदेश दिया गया। जिला पदाधिकारी द्वारा सभी प्रखंडों में लगाये गये वर्षा मापक यंत्र के कार्य करने एवं जलस्तर मापक गेज के कार्यरत होने की समीक्षा की गयी। उन्होने अंचल अधिकारी को बाढ़ के समय प्रभावित होने वाले क्षेत्र एवं संकटग्रस्त व्यक्ति समूहों की पहचान करने का निदेश दिया। उन्होंने कार्यपालक अभियंता,बाढ़ नियंत्रण, झंझारपुर-1 एवं 2/पश्चिमी कोशी तटबंध निर्मली एवं अन्य पदाधिकारियों से तटबंधों की सुरक्षा से संबंधित समीक्षा की गयी। एवं क्षतिग्रस्त तटबंधों की शीघ्र पहचान कर उसकी मरम्मति का निदेश दिया।
        
 जिला पदाधिकारी द्वारा सभी अंचल अधिकारियों से अंचलवार नाव की उपलब्धता की समीक्षा की गयी। साथ ही सभी नाविकों के केयर टेकर का संपर्क नंबर उपलब्ध रखने का निदेश दिया गया। उन्होने कहा कि प्रायः ऐसा देखा जाता है कि बाढ़ के समय सरकारी नावों का उपयोग कुछेक लोग अपने निजी कार्यो में करते है। सरकारी नाव पंचायत स्तरीय अनुश्रवण निगरानी समिति को बाढ़ के समय सौंपा जायेगा। जिससे प्रभावित लोगों को लाभ मिल सकें। उन्होने सभी अंचल अधिकारी को बाढ़ की स्थिति के लिए पूर्व से ही एक बहुउपयोगी हाॅल/विद्यालय की व्यवस्था करने का निदेश दिया गया, जहां बाढ़ की स्थिति में फूड पैकेट का निर्माण या अन्य कार्य किया जा सकें। उन्होने जिला पशुपालन पदाधिकारी को बाढ़ की स्थिति में पशुचारा की उपलब्धता बाढ़ पूर्व सुनिश्चित करने का निदेश दिया गया। जिला पदाधिकारी द्वारा सभी पथ प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता को बाढ़ पूर्व क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मति कार्य को पूर्ण करने का निदेष दिया गया। उन्होने आपदा प्रबंधक विभाग को लाईफ जैकेट की उपलब्धता बाढ़ पूर्व करने का निदेश दिया। साथ ही बाढ़ के समय नियंत्रण कक्ष की स्थापना, राहत एवं बचाव दल का गठन, आकस्मिक फसल योजना का सूत्रण तैयारियों का अभ्यास इत्यादि करने का निदेश दिया। एवं फसल क्षति/जी0आर0 की राशि अगर बैंक में फंसा हुआ तो उसे शीघ्र करने क्लियर करने का भी निदेश दिया
एक टिप्पणी भेजें
Loading...