दरभंगा : तूफान और बारिश से दरभंगा में भारी क्षति - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 31 मई 2018

दरभंगा : तूफान और बारिश से दरभंगा में भारी क्षति

storm-in-darbhanga
दरभंगा (आर्यावर्त डेस्क)  31 मई : भीषण तूफान के बीच भारी बारिश से यहां जन-जीवन प्रभावित हुआ है. कई जगहों पर पेड़ गिर गये हैं. दिवाले ढ़ही है और बिजली के तार टूट कर गिर गये. जिसका असर यातायात पर पड़ा. तूफान के कारण बड़ी संख्या में आम फसल की बर्बादी हुई है. आज दिन के 3 बजे पश्चिम और उत्तर की दिशा से काला बादल आकाश में छाने लगा. महज आधे घंटे के अंदर पूरे क्षेत्र में अंधेरा छा गया. यहां तक कि वाहन के चालकों को हेड लाईट जलानी मजबूरी हो गई. इतना ही नहीं अंधकार इतनी अधिक हो गई कि सोलर लाईट अपने आप जल गया. विश्वविद्यालय परिसर में कई वृक्ष धराशायी हो गये. वहीं माधवेश्वर प्रांगण की चाहरदीवारी भी गिर गई. दरभंगा-सकरी पथ में एकभिन्डा गुमती से लेकर बेला गुमती तक कई जगहों पर पेड़ के डाली और बिजली के तार टूट कर गिरने से तूफान के समय यात्रा कर रहे लोगों को भारी कठिनाई हुई. भीषण तूफान में सड़क पर लोग फसे रहे. वैसे भालपट्टी गांव के आम कृषक बटोही मिश्र ने बताया कि तेज तूफान के कारण बड़ी मात्रा में आम के फल गिर गये. इतना ही नहीं कई पेड़ों की डालियां भी टूट कर गिर गई. क्योंकि आम का फल अभी पकने लायक नहीं हुआ था. जिसके चलते बहुत घाटा उठाना पडेÞगा. बगीचा के मालिक को भुगतान करना ही है. सनद रहे कि इस क्षेत्र में बहुत दिनों से एलर्ट के बाद भी तूफान नहीं आया था. जिसके चलते आज के एलर्ट को लोगों ने हल्के ढंग से लिया, लेकिन आज तूफान के साथ भारी बारिश ने चेतावनी को सत्य करार दिया. वैसे जगह-जगह से मिल रही सूचना के अनुसार पेड़ और घर गिरने की सूचना मिल रही है. कुल मिलाकर कहें, तो तूफान के कारण दरभंगा में काफी क्षति हुई है.
एक टिप्पणी भेजें
Loading...