कांग्रेस ने भाजपा से छीनी जयनगर विधानसभा सीट - Live Aaryaavart

Breaking

बुधवार, 13 जून 2018

कांग्रेस ने भाजपा से छीनी जयनगर विधानसभा सीट

congress-won-jaynagar-seat-in-karnatak
बेंगलुरू , 13 जून, बेंगलूर की जयनगर विधानसभा सीट पर आज कांग्रेस ने भाजपा को 2,800 से ज्यादा वोटों से हराकर जीत दर्ज की। इस सीट पर 2008 से लेकर अब तक भाजपा का कब्जा था। बीते 23 मई को कांग्रेस - जद (एस) गठबंधन की सरकार बनने के बाद हुए चुनावी इम्तिहानों में यह कांग्रेस की लगातार दूसरी जीत है। इस जीत से राज्य की गठबंधन सरकार की स्थिति और मजबूत होने के आसार हैं। राजराजेश्वरी नगर सीट पर हुए चुनाव में कांग्रेस और जद (एस) ने एक - दूसरे के खिलाफ अपने उम्मीदवार उतार थे , लेकिन जयनगर में जद (एस) ने अपना उम्मीदवार वापस ले लिया और अपने गठबंधन सहयोगी कांग्रेस का समर्थन करने का निर्णय किया , जिससे कांग्रेस को जीत हासिल करने में मदद मिली। चुनाव अधिकारियों के मुताबिक , कांग्रेस की सौम्या रेड्डी को 54,457 जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी और भाजपा उम्मीदवार बी एन प्रहलाद को 51,568 वोट मिले। जयनगर में जीत के साथ ही बेंगलूर की 28 विधानसभा सीटों में से 15 पर अब कांग्रेस का कब्जा हो गया है। 

राज्य में 12 मई को विधानसभा चुनाव हुए थे लेकिन भाजपा प्रत्याशी बी एन विजयकुमार की मौत के बाद जयनगर सीट पर चुनाव नहीं हुआ था। विजयकुमार इस सीट से विधायक थे। इस सीट पर मतदान 11 जून को कराया गया था।  विजयकुमार के भाई प्रहलाद और वरिष्ठ कांग्रेस नेता एवं पूर्व मंत्री रामलिंगा रेड्डी की बेटी सौम्या रेड्डी के बीच सीधा मुकाबला था। अपनी बेटी की जीत पर रेड्डी ने कहा , ‘‘ जीत का अंतर मेरी अपेक्षा से कम है। ’’  सौम्या राज्य की नवगठित विधानसभा में आठवीं महिला विधायक हैं। इस जीत के साथ ही कांग्रेस - जद (एस) गठबंधन को 224 सदस्यीय विधानसभा में अब 118 विधायकों का समर्थन प्राप्त है। अभी विधानसभा में प्रभावी संख्याबल 222 है। अभी विधानसभा की दो सीटें खाली हैं , क्योंकि मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने दो सीटों पर जीत दर्ज करने के बाद एक सीट से इस्तीफा दे दिया था और एक अन्य सीट - जमखांडी - के कांग्रेस विधायक की हाल में सड़क हादसे में मौत हो गई।  

अभी कांग्रेस के 79, जद (एस) के 36 और बसपा के एक विधायक हैं। इस गठबंधन को केपीजेपी के एकमात्र विधायक और एक निर्दलीय विधायक का भी समर्थन प्राप्त है। भाजपा के पास 104 सीटें हैं और हाल में संपन्न हुए विधानसभा चुनावों में वह सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर सामने आई थी। हालांकि , बहुमत परीक्षण से पहले ही भाजपा नेता बी एस येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया , क्योंकि उनके पास सरकार बनाने के लिए जरूरी संख्या बल नहीं था। सौम्या की जीत पर कुमारस्वामी ने एक ट्वीट कर उन्हें बधाई दी।  भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष येदियुरप्पा ने कहा कि पार्टी उम्मीदवार को महज 2,889 वोटों से हार मिली है। उन्होंने कहा , ‘‘ हम जनादेश का सम्मान करते हैं। पार्टी को पिछले चुनाव की तुलना में ज्यादा वोट मिले हैं। मैं उन वोटरों का शुक्रिया अदा करता हूं जिन्होंने हमारा समर्थन किया। ’’ 
एक टिप्पणी भेजें
Loading...