मुजफ्फरपुर में सरकारी बालिका गृह में यौन शोषण का खुलासा, प्राथमिकी दर्ज - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 2 जून 2018

मुजफ्फरपुर में सरकारी बालिका गृह में यौन शोषण का खुलासा, प्राथमिकी दर्ज

exploitation-in-balika-grih-muzaffarpur
मुजफ्फरपुर, 2 जून, बिहार के मुजफ्फरपुर में सरकार द्वारा संचालित बालिका गृह में रह रहीं लड़कियों का यौन शोषण करने और उन्हें प्रताड़ित करने का मामला सामने आने के बाद स्थानीय महिला थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। पुलिस के अनुसार, मुंबई की टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंस की एक टीम ने राज्य के सभी बालिका गृहों का सोशल ऑडिट किया था। टीम ने 26 मई को उसकी रिपोर्ट बिहार सरकार और मुजफ्फरपुर जिला प्रशासन को भेजी, जिसमें यह मामला सामने आया। रिपोर्ट में टीम ने स्वयंसेवी संस्था 'सेवा संस्थान संकल्प एवं विकास समिति' के खिलाफ तत्काल कानूनी प्रक्रिया शुरू करने और गहन छानबीन के साथ कार्रवाई करने की भी सिफारिश की है। पुलिस के एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि मामला प्रकाश में आने के बाद सामाजिक सुरक्षा कोषांग के सहायक निदेशक दिवेश कुमार वर्मा ने महिला थाने में बालिका गृह का संचालन कर रही स्वसंसेवी संस्था 'सेवा संस्थान संकल्प विकास समिति' के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज कराई है, जिसमें साजिश रचकर यौन शोषण करने का आारोप लगाया गया है। मुजफ्फरपुर की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरप्रीत कौर ने कहा कि एक अडिट रिपोर्ट के आधार पर महिला थाने में एक प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। पुलिस ने पूरे मामले की छानबीन शुरू कर दी है। जांच के लिए पुलिस उपाधीक्षक के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया है। साथ ही कई लोगों से पूछताछ की जा रही है। वहीं जिले के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पटना स्थित समाज कल्याण विभाग के निदेशक के निर्देश पर मुजफ्फरपुर की बाल संरक्षण इकाई ने बालिका गृह से सभी 44 लड़कियों को पटना सहित विभिन्न गृहों में स्थानांतरित कर दिया है।
एक टिप्पणी भेजें