मोदी लहर अब उतार पर : स्वामी अग्निवेश - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 13 जून 2018

मोदी लहर अब उतार पर : स्वामी अग्निवेश

modi-popularity-fell-down-swami-agniwesh
बिलासपुर 12 जून, सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश ने कहा है कि मोदी सरकार की लहर का भ्रम चार साल बाद अब जुमलेबाजी की वजह से उतरने लगा है और इस सरकार के नाम पौने नौ लाख करोड़ के एनपीए सरकार की विफलता उदाहरण है। स्वामी अग्निवेश ने केन्द्र और राज्य सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि केन्द्र से मिलने वाले तीन हजार करोड़ की बंदरबांट के लिए नक्सली समस्या का हल नहीं हो रहा है और बातचीत से हल निकालने कोई तैयार नहीं है। निजी प्रवास पर मंगलवार को बिलासपुर पहुंचे स्वामी अग्रिवेश ने संवाददाताओं से कहा कि जुमलेबाजी की वजह से सारे वादे धरे रह गए। उन्होंने कहा कि देश में बड़ा परिवर्तन आने वाला है। किसान और गरीब मेहनतकश खुश नहीं है। मोदी जी ने गरीबों के जीरो बैलेंस पर 32 करोड़ बैंक खाते खुलवा दिए। उनका पैसा भी बड़े उद्योगपति कर्जा लेकर डकार गए।  उन्होंने कहा कि नतीजा यह हुआ कि सरकार की चार साल में उपलब्धि के रूप में आठ लाख 41 करोड़ के एनपीए की विफलता जुड़ गई। भाजपा से जुड़ा व्यापारी वर्ग नोटबंदी और वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) से रो रहा है। बिल्डिंग और रीयल स्टेट ठप पड़ा है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार से कोई खुश नहीं है और 2019 में इसलिए बड़े परिवर्तन का आगाज होने वाला है। ध्रुवीकरण की साम्प्रदायिक राजनीति का अंत होने वाला है। खुद हिन्दू समाज इसे पसंद नहीं कर रहा है। उन्होंने उदाहरण दिया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद अपनी सीट और एक के बाद एक दो उपचुनाव इसीलिए हारे हैं। देश में परिवर्तन के लिए विपक्ष की एकजुटता और संयुक्त घोषणा पत्र पर जोर देते हुए कहा कि वादे पूरे करने विश्वास दिलाना होगा।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...