तेजस्वी ने तेज प्रताप से मनमुटाव से इनकार किया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 11 जून 2018

तेजस्वी ने तेज प्रताप से मनमुटाव से इनकार किया

tejaswi-refuse-to-conflict-with-tej-pratap
पटना, 10 जून, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता व बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने रविवार को अपने बड़े भाई व पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव से किसी तरह के मनमुटाव से इनकार किया। तेज प्रताप के नाखुशी जताए जाने व उनकी राजद में 'उपेक्षा व दरकिनार' किए जाने की बात कहे जाने व मीडिया के एक वर्ग में राजद प्रमुख लालू प्रसाद के दोनों बेटों के बीच दरार की खबर आने के एक दिन बाद तेजस्वी ने कहा, "तेज प्रताप सिर्फ मेरे बड़े भाई नहीं, वह मेरे मार्गदर्शक भी हैं। हमारे बीच मनमुटाव जैसी कोई बात नहीं है।" तेज प्रताप के बयान से हुए नुकसान की भरपाई के लिए तेजस्वी ने कहा कि जो कुछ भी मेरे बड़े भाई ने कहा है, वह पार्टी के हित में है और इससे राजद को मजबूत करने में मदद मिलेगी। तेज प्रताप ने शनिवार को कहा था कि पार्टी में कुछ लोग उनकी नहीं सुन रहे हैं और उन्होंने अपने व छोटे भाई तेजस्वी के बीच दरार पैदा करने की कोशिश करने वाले राजद के तत्वों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। उन्होंने यहा मीडिया से कहा, "कभी-कभी मुझे पार्टी में उपेक्षा व दरकिनार किए जाने जैसा महसूस होता है। लेकिन मैं ऐसा कुछ नहीं करूंगा, जिससे पार्टी की एकता को खतरा हो। तेजस्वी मेरे दिल के बहुत करीब हैं।" तेजस्वी को बहुत से लोग लालू प्रसाद का राजनीतिक उत्तराधिकारी मानते हैं, क्योंकि उन्हें राजद द्वारा बार-बार मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर पेश किया गया है।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...