विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 02 जून - Live Aaryaavart

Breaking

शनिवार, 2 जून 2018

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 02 जून

"मनुष्य का श्रेष्ठ आचरण ही भागवत का मंगलाचरण- पं. अंकितकृष्ण"

vidisha news
विदिशा 02 जून,  परम पावन पुरुषोत्तम मास के पावन अवसर पर राजीवनगर स्थित बालाजी एवेन्यू में चल रही श्रीमद्भागवत कथा अमृत वर्षा के दूसरे दिन गौवत्स पं. अंकितकृष्ण वटुकजी ने कहा कि मनुष्य इस मृत्युलोक में आकर श्रेष्ठकर्मो के माध्यम से अपने जीवन को मंगलमय बना लेता है। जो उसका मंगलाचरण बन जाता है। बटुकजी महाराज ने कहा कि महर्षि वेदव्यास ने श्रीमद्भागवत के मंगलाचरण में सत्य की वंदना की है महर्षि वेदव्यास ने जगत को उपदेश करते हुए कहा कि सारा जगत स्वप्न के समान है जिस प्रकार नेत्र खुलते ही स्वप्न टूट जाता है उसी प्रकार इस जगत का स्वप्न नेत्र बंद होते ही टूट जाता है। क्योंकि यें मनुष्य तन पंचायती धर्मशाला है।जो पांच तत्वों द्वारा रचित है जिस दिन किराया पूरा हुआ उसी दिन खाली करके जाना पड़ेगा। इसलिए हम इसके मालिक नहीं है मालिक केवल श्रीहरि है। आज़ का मनुष्य अपने दुखों से दुखी नहीं है।वह अपने निकटवर्ती के सुख से दुखी हैं। क्योंकि अहमता और ममता ही बंधन का कारण है। वटुकजी महाराज ने शुकदेव जन्म, महाभारत प्रसंग, परीक्षित जन्म की कथा को विस्तार पूर्वक श्रवण कराया। कथावाचक गौवत्स पंडित अंकितकृष्ण वटुकजी महाराज ने कहा कि इस कलिकाल में श्रीमद्भागवत जीवो के उद्धार का श्रेष्ठ साधन है। जिसकी रचना स्वयं भगवान नारायण के अवतार महर्षि वेदव्यास ने की। गौवत्स पंडित अंकितकृष्ण वटुकजी महाराज ने कहा कि श्रीमद् भागवत भक्ति,ज्ञान और वैराग्य का संगम है । जिस प्रकार प्रयागराज में संगम में डुबकी लगाने से जीव का कल्याण हो जाता है उसी प्रकार भागवत रूपी संगम में डुबकी लगाकर जीव मोक्ष का अधिकारी हो जाता है। बटुक जी महाराज ने कहा कि भगवान की कृपा सदैव सब पर समानता से बरसती है । लेकिन सुपात्र जीव ही  भगवान की कृपा को प्राप्त करता है। बटुक जी महाराज ने कहा कि वर्तमान समय में अनेक धर्म के आयोजन हो रहे हैं लेकिन पवित्रता और पात्रता के अभाव में हम भगवान की कृपा का अनुभव नहीं कर पा रहे। श्रीमद्भागवत महापुराण तो वह ग्रंथ है प्रेतों के निमित्त भी अगर कथा हो जाए तो उन प्रेतों का उद्धार हो जाता है। जिस प्रकार धुंधुकारी नाम के प्रेत के निमित्त गोकर्ण जी महाराज ने श्रीमद् भागवत श्रवण करायी और भगवान के धाम का अधिकारी हुआ उसी प्रकार  जगत की मोह को छोड़कर हम भगवान की शरण में बैठकर उनकी कथा श्रवण करें तो हमारा भी यह लोक और परलोक दोनों मंगलमय हो जाएगा। कथा के मुख्ययजमान एवं आयोजक नीलिमा प्रवीण जौहरी ने सभी नगरवासियों से अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित होकर धर्मलाभ लेने की अपील की।

आपदा प्रबंधन की तैयारियों हेतु चेक लिस्ट पर कार्य करने के निर्देश 

आगामी वर्षाकाल को ध्यानगत रखते हुए आपदा प्रबंधन के तहत पूर्व मेें की जाने वाली तैयारियों के परिपेक्ष्य में संबंधितांे की कार्यशाला आहूत कर तैयारियों से अवगत कराया जा चुका है। कलेक्टर श्री अनिल सुचारी ने राहत आयुक्त श्री अरूण पांडे के द्वारा जारी पत्र का हवाला देते हुए उन्होंने जिले के समस्त विभागों के अधिकारियों को निर्देश पत्र जारी किए है कि आपदा प्रबंधन की तैयारियों के संबंध में चैकलिस्ट पर कार्यवाही समय सीमा में करें और उसका प्रतिवेदन जिला कार्यालय को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। जुलाई से सितम्बर तक मानसून के मौसम में प्रतिवर्ष बाढ व अतिवर्षा से आपदा की स्थिति उत्पन्न होती है इससे होने वाली क्षति से बचने के लिए की जाने वाली कार्यवाही की चैकलिस्ट तैयार की गई है जो समस्त विभागों को उपलब्ध कराई गई है और विभागीय अधिकारियों को चैक लिस्ट के अनुसार उपलब्ध संसाधनोें को दूरस्थ कराने के निर्देश दिए गए है। जारी चैकलिस्ट में सामान्यतः आपदा संवेदनशील क्षेत्र का आंकलन जिसमंे ग्रामों की संख्या, जिनको बाढ उन्मुख चिन्हित किया गया है। जिले में बाढ उन्मुख नदियों के नाम एवं अन्य बडे तालाब नाले जिनसे बाढ आने की संभावना है। जिले के समस्त ऐसे बडे़ बांध जिनसे सिंचाई के प्रबंध सुनिश्चित किए जाते है उनमें भरने वाले जल, अतिवृष्टि, सृदृढीकरण किया गया है कि नही की जानकारी देना शामिल है। बाढ के मुख्य कारणों का चिन्हांकन कर सूचना सम्प्रेक्षण हेतु क्रियान्वित किए जाने वाले कार्य, आपातकालीन कार्यवाही, आवश्यक सेवाओं का रखरखाव एवं वस्तुओं का भण्डारण, दवाईयां व चिकित्सा दलो का पूर्व निर्धारण, इसी प्रकार पशु चिकित्सा सेवाएं एवं स्वास्थ्य तथा स्वच्छता संबंधी कार्य के अलावा वर्षाकाल के दौरान प्रभावितों को पेयजल की उपलब्धता, अस्थायी शिविरों की व्यवस्था, जनशक्ति एवं खोज तथा बचाव दलों का गठन, जनजागृति अभियान, नोड्ल अधिकारियों का नामांकन, आपदा नियंत्रण केन्द्र, पूर्व अनुबंध, त्वरित क्षति आंकलन और जन सामान्य का सहयोग इत्यादि बिन्दु चैक लिस्ट में शामिल है।  

रोजगार मेले से लाभांवित हो रहे है युवाजन  

vidisha news
मध्यप्रदेश आजीविका मिशन के सौजन्य से एसएससीआई सुरक्षा जवान एवं सुपरवाईजर भर्ती हेतु शिविर का आयोजन किया जा रहा है। शुक्रवार को ततसंबंधी शिविर लटेरी में आयोजित किया गया था यहां चालीस युवाओं ने पंजीयन कराया था जिसमंे से पांच का चयन इसके अलावा आज नटेरन में आयोजित शिविर में 35 का चयन निजी कंपनियों के विभिन्न पदों हेतु किया गया है  कि जानकारी देते हुए आजीविका मिशन की जिला प्रबंधक कौशल उन्नयन अधिकारी सुश्री तृप्ति राय ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों के युवाजनो को भर्ती केम्प के माध्यम से कैरियर काउंसलिंग की गाइड लाइन से अवगत कराया जा रहा है वही निजी संस्थानों में विभिन्न पदांे पर रिक्त पदो की पूर्ति हेतु चयनित होने वाले युवाजनों को एसआईएस इंडिया लिमिटेड नीमच के भर्ती केन्द्र पर प्रशिक्षण मुहैया कराया जा रहा है प्रशिक्षण से लाभांवित होने वालों को कंपनियों में स्थायी नौकरी मुहैया कराई जा रही है। सुरक्षा जवान एवं सुपरवाइजर भर्ती केम्प जिले के सभी विकासखण्डों पर नियत तिथि को आयोजित किए जा रहे है आगामी रविवार तीन जून को उक्त शिविर कुरवाई में, चार को ग्यारसपुर में, पांच को बासौदा में, छह एवं सात को विदिशा में तथा आठ जून को सिरोंज जनपद पंचायत में शिविर का आयोजन किया गया है।

अवैध खनिज परिवहन करते वाहन जप्त 

vidisha news
कलेक्टर श्री अनिल सुचारी के मार्गदर्शन में गौण खनिजों को परिवहन करने वाले वाहनो की सघन जांच करने के निर्देश जारी किए गए है साथ ही साथ खनिजों का अवैध उत्खनन ना हो कि जांच पड़ताल और क्रास मानिटरिंग के लिए कलेक्टर द्वारा दल गठित किए गए है। जिला खनिज अधिकारी श्री रमेश पटेल ने बताया कि आज निरीक्षण दल के द्वारा की गई सघन जांच मंे दो टेªक्टर-ट्राली अवैध रेत परिवहन पाए जाने पर उन्हें अम्बानगर थाना में इसी प्रकार एक टेªक्टर जप्त कर नटेरन थाना को सुपुर्द किया गया है।

भण्डारण हेतु मेपिंग  

रबी उपार्जन में चना, मसूर एवं सरसो की उपार्जित मात्रा के भण्डारण हेतु जिले के गोदामों से मेपिंग की गई है के आदेश कलेक्टर श्री अनिल सुचारी के द्वारा जारी किए गए है जारी आदेश में उल्लेख है कि गोदाम मेपिंग अनुसार ही परिवहन कर भण्डारण कराने का कार्य जिला प्रबंधक नागरिक आपूर्ति निगम, जिला प्रबंधक मध्यप्रदेश वेयर हाउसिंग एवं लाॅजि. कार्पोरेशन को उपार्जित चना, मसूर एवं सरसों का भण्डारण कराया जाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए है। तहसीलवार गोदामों में भण्डारण हेतु की गई मेपिंग व्यवस्था अनुसार लक्ष्य वेयर हाउस ग्राम अलवासा पालिया रोड़ इन्दौर में भण्डारण क्षमता 28 हजार मैट्रिक टन है उक्त गोदाम से जिले की कृषि उपज मंडी बासौदा, एलबीएस काॅलेज परिसर सिरोंज एवं बीज विकास निगम फार्म कुरवाई में खरीदा गया चना, मसूर, सरसों भण्डारित कराया जाएगा। कृषि उपज मंडी बासौदा तहसील के उपार्जन केन्द्र फूफेर, पचमा, पैरवासा को तथा एलबीएस काॅलेज सिरोंज में उपार्जन खरीदी केन्द्र देहरी, करैया, सोना, तरवरिया का और बीज विकास निगम कुरवाई में उपार्जन खरीदी केन्द्र करैया एवं भौरवासा का गेहूं समर्थन मूल्य पर क्रय किया जाएगा। 
एक टिप्पणी भेजें
Loading...