दुमका : बासुकिनाथ धाम में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब - Live Aaryaavart

Breaking

सोमवार, 30 जुलाई 2018

दुमका : बासुकिनाथ धाम में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब

huge-rush-at-basukinath-at-shrawan-mela
दुमका (अमरेन्द्र सुमन)  मासव्यापी श्रावणी मेला के तीसरे दिन व  पहली सोमवारी को बासुकिनाथ धाम में श्रद्धालुओं का सैलाब देखने को मिला। देर रात्रि से श्रद्धालु कतारबद्ध होते थे। बासुकिनाथ धाम स्थित शिवगंगा  पूरी तरह से श्रद्धालुओं से पटा था। केसरिया रंग में श्रद्धालु बोल बम के नारों के साथ छोटे-छोटे कदमों के साथ मंदिर प्रांगण की ओर बढ़ रहे थे। जिला प्रशासन की पूरी टीम श्रद्धालुओं को सुगमता पूर्वक जलार्पण के लिये तत्पर थी। पुरोहित पूजा प्रातः 2 बजकर 57 मिनट पर शुरू हुआ। पवित्र आस्था के लोटे में गंगाजल लिए श्रद्धालुओं ने प्रात:  3 बजकर 33 मिनट से बाबा फौजदारी नाथ पर अर्घा सिस्टम के माध्यम से जलार्पण प्रारंभ कर दिया। दुमका डीसी मुकेश कुमार मेला क्षेत्र के विधि व्यवस्था पर देर रात्रि से ही अपनी  नजरें बनाये हुए थे। वाटसअप पर लगातार अधिकारियों को कई महत्वपूर्ण निदेश भी दिया जा रहा था।  प्रशासनिक भवन में प्रतिनियुक्त अधिकारी  वॉकी टॉकी के माध्यम से सुरक्षा व्यवस्था का जायजा ले रहे थे । सभी प्रतिनियुक्त सुरक्षा कर्मी कर्तव्य स्थल पर उपस्थित थे। विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी, कर्मी जरूरी दवाइयों के साथ श्रद्धालुओं की सेवा में तत्पर दिखे।  ध्वनि विस्तारक यंत्र के माध्यम से बिछड़ों को मिलाया जा रहा था। सूचना सहायता कर्मी अपने कर्तव्य पर तत्पर दिखे। सफाई कर्मी मेला क्षेत्र की साफ-सफाई में लगे हुए थे।  सिंह द्वार से सीसीटीवी कैमरे के माध्यम से मेला क्षेत्र की  विभिन्न गतिविधियों को देखा जा रहा था।  पूर्व सांसद अभय कांत प्रसाद व स्थानीय विधायक बादल पत्रलेख भी सिंह द्वार पर उपस्थित थे। जिला प्रशासन की सटीक व्यवस्था का ही परिणाम है कि श्रद्धालु सुगमता पूर्वक जलार्पण कर रहे हैं व उन्हें बहुत देर तक बाबा पर जलार्पण के लिए कतार में खड़े नहीं रहना  पड़ रहा है। श्रावणी मेला में  सुलतानगंज से 105 किमी की पैदल यात्रा  के बाद श्रद्धालु बाबाधाम पहुँचते हैं। बाबा बैद्यनाथ  पर जलार्पण कर श्रद्धालु फौजदारी  बाबा बासुकीनाथ पर जलार्पण करने के लिए निकलते हैं। इतनी लंबी पैदल यात्रा के बाद श्रद्धालु कई बार कतार में खड़े नहीं हो पाते जिसे ध्यान में रखते हुए जलार्पण काउंटर बनाया गया है। श्रद्धालु सीधे जलार्पण काउंटर से बाबा पर जलार्पण कर सकते हैं और उनकी संतुष्टि के लिये एलईडी स्क्रीन भी लगाया गया है ताकि वे लाइव  देख सकें कि वे बाबा पर ही जलार्पण कर रहे हैं। सावन के पहली सोमवारी को ध्यान में रखते हुए उपायुक्त मुकेश कुमार ने रविवार को भी देर रात्रि तक पूरे मेला क्षेत्र का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने सर्वप्रथम सभी आवासन केंद्रों का निरीक्षण किया था एवं संबंधित अधिकारी को निदेश दिया था कि साफ सफाई में कोई कमी न रहे इसका ध्यान रखा जाए। उपायुक्त मुकेश कुमार ने सोमवार को आने वाले श्रद्धालुओं  को  ध्यान में रखते हुए ड्रोन कैमरे से मेला क्षेत्र के विभिन्न महत्वपूर्ण स्थलों के विधि व्यवस्था का जायजा भी लिया था।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...