झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 29 जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

रविवार, 29 जुलाई 2018

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 29 जुलाई

आदिवासी कल्‍याण दिवस भाजपा सरकार का मात्र छलावा:- कांतिलाल भूरिया (प्रदेश आदिवासी अध्‍यक्ष विकास परिषद)

jhabua news
झाबुआ । मध्‍यप्रदेश में आगामी दिसंबर माह में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। भाजपा द्वारा अपनी जनविरोधी नीतियों एवं नाकामियों के कारण उनके द्वारा किए गए सर्वे में यह संकेत है कि आदिवासी जिलों में भाजपा की पेठ कमजोर होती जा रही है। आदिवासी समाज भी भाजपा की जनविरोधी नीतियों के कारण आक्रोशित है। चूंकि मध्‍यप्रदेश में 47 विधानसभा सीटें अनसुचित जनजाति कोटे से है। भाजपा सरकार इन सीटों को बहुत महत्‍वपूर्ण मानते हुए अब इन इलाकों पर विशेष ध्‍यान देने कर डेमेज कंट्रोल करने में जूटी है। 9 अगस्‍त को हमेशा की तरह इस वर्ष भी आदिवासी दिवस आदिवासी समाज मनाता आ रहा है। शिवराज सरकार ने एक आदेश जारी कर मध्‍यप्रदेश के श्‍योपुर, रतलाम, अलीराजपुर, झाबुआ, बड़वानी, धार, खरगोन, खंडवा, बुरहानपुर, बैतुल, छिंदवाड़ा, मंडला, बालाघाट, सिवनी, डिंडोरी, अनुपपूर, शहडोल, उमरिया, सिधी एवं होशंगाबाद जिले के कलेक्‍टरों को आदेश दिया है कि 9 अगस्‍त को आदिवासी कल्‍याण दिवस के रूप में मनाए और विभिन्‍न तरीकों से आयोजन करें। इस आदेश पर तंज कसते हुए आदिवासी विकास परिषद के महामंत्री डॉ.विक्रांत भूरियाण एवं कलावती भूरिया ने शिवराज सिंह पर तंज कसते हुए कहा कि मामा के द्वारा आदिवासी परंपरा को दरकिनार करते हुए चुनाव नजदीक होने के कारण यह आदेश जारी कर सरकारी तंत्र का दुरूपयोग किया है। डॉ.भूरिया ने आगे कहा कि इस तरह के कार्यक्रम आयोजित कर भाजपा शासकीय खर्च पर सरकार अपने आपको महिमामंडित करने का प्रयास करने में लगी हुई है। इस आदेश के माध्‍यम से शिवराज सरकार 15 वर्षों की अपनी नाकामियों को छिपाते हुए अब आदिवासियों को याद कर उन्‍हें गुमराह कर लुभाने के प्रयास में लगी हुई है। डॉ.विक्रांत भूरिया ने कहा कि इस संबंध में आदिवासी विकास परिषद के प्रदेश अध्‍यक्ष एवं क्षेत्रीय सांसद कांतिलाल भूरिया ने कहा कि केंद्र एवं राज्‍य की भाजपा सरकारों ने हमेशा आदिवासियों की उपेक्षा की। आदिवासी किसान आज आत्‍महत्‍या के लिए मजबूर है। आदिवासी इलाकों में बच्‍चों को पढाने के लिए न तो शिक्षकों की व्‍यवस्‍था की गई है, न छात्रावासों की व्‍यवस्‍था की गई है और जहां छात्रावास है वहां सुविधा की व्‍यवस्‍था नहीं की गई है। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग द्वारा ग्रामीण इलाकों में कोइ डॉक्‍टर की व्‍यवस्‍था नहीं है जिससे ग्रामीण मरीज चिकित्‍सा के अभाव में अपनी जान गवां रहे है। परंतु सरकार के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही। जिले में रोजगार के नाम पर केवल कागजी कार्यवाही की जा रही है। आज झाबुआ जिले के लाखों ग्रामीण रोजगार के अभाव में पलायन को मजबूर है। रोजगार के मामले में सरकार पूर्ण रूप से नाकाम साबित हुई है। ऐसे में शिवराज चुनाव आने पर आदिवासी कल्‍याण दिवस मनाने की नोटंकी कर रही है लेकिन आज का आदिवासी इनके बेहकावें में आने वाला नहीं है। अब प्रदेश की जनता ने 2018 के चुनाव में भाजपा को सत्‍ता से बेदखल करके सबक सिखाए गी।

‘’नवसर्जन’’ से कांग्रेस संगठन मजबूत होगा:- श्री सजोतिया

jhabua news
झाबुआ । प्रदेश कांग्रेस द्वारा आगामी 2018 के प्रदेश में होने जा रहे चुनाव को ध्‍यान में रखते हुए प्रदेश कांग्रेस के अध्‍यक्ष कमलनाथ जी बहुत गंभीर है और उन्‍हें निचले स्‍तर के कार्यकर्ताओं को भी सम्‍मानजनक स्‍थान देने के लिए उन्‍होंने जो सक्रिय एवं निष्‍ठावान कांग्रेसजन है उनका ब्‍लॉक, मंडलम तथा सेक्‍टर एवं बुथ स्‍तर तक के पदाधिकारियों को जोड़ने के लिए प्रदेश अध्‍यक्ष ने ‘’नव सृजन 2018’’ का गठन कर सुचियों में नाम जोड़ने के लिए अंतिम सूची निर्धारित की है। इसी संदर्भ में मुझे प्रदेश कांग्रेस ने संगठन प्रदेश पर्यवेक्षक का दायित्‍व सोंपा है और आज झाबुआ तथा अलीराजपुर जिले के जिला कांग्रेस के साथ जिले से नियुक्‍त प्रदेश प्रतिनिधि एवं अखिल भारतीय राष्‍ट्रीय कांग्रेस के प्रतिनिधियों का मिला-जुला सम्‍मेलन उक्‍त संशोधन हेतु आयोजित किया गया है। दोनों जिलों में ब्‍लॉक से लगाकर बुथ स्‍तर तक जो संशोधन किया जाना है उसका निराकरण आज ही किया जाकर उसके अंतिम रूप दिया जाएगा। उक्‍त आशय के सारगर्भित उद्गार पूर्व प्रदेश मंत्री एवं संगठन प्रभारी सुभाष सजोतिया ने झाबुआ में आज सर्किट हाउस में झाबुआ एवं अलीराजपुर के जिला कांग्रेस अध्‍यक्षों के साथ अन्‍य प्रदेश व राष्‍ट्री कांग्रेस के प्रतिनिधियों से बैठक के दौरान ली। जिला कांग्रेस अध्‍यक्ष निर्मल मेहता ने जिले में पूर्व से गठित नामों की सूची प्रदान करने के साथ अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रतिनिधि सुश्री कलावती भूरिया, डॉ.विक्रांत भूरिया, जेवियर मेड़ा, ने सुची में संशोधन बाबत अपने नाम सुझाए। श्री मेहता ने बताया कि जिला कांग्रेस ने ब्‍लॉक, मंडलम, सेक्‍टर एवं बुथ स्‍तर तक अपनी तैयारी पूर्व में करली है और इस आशय की जानकारी प्रदेश कांग्रेस को देने के साथ प्रदेश के प्रभारी एवं राष्‍ट्रीय महासचिव दीपक बावरिया द्वारा भी उनसूचियों की समिक्षा करने के साथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की सक्रियता को जिले में सम्‍मेलन आयोजित कर देखी एवं जांची गई है जिससे पूर्ण रूप से संतुष्‍ट हुए हैं। बावजुद इसके अगर कोई प्रतिनिधि या पदाधिकारी इन चारों स्‍तर पर वंचित रह गये हैं तो उन्‍हें आज समन्‍वय रूप से जोड़ने के लिए सूची उपलब्‍ध कर्राइ जा रही है। अलीराजपुर जिला कांग्रेस अध्‍यक्ष सरदार सिंह पटेल तथा कमरू अजनार एवं सुमेरसिंह अजनार ने अपने जिले की संशोधित सूची सभी से परामर्श करने के बाद प्रस्‍तुत की तथा अपने जिले की संगठानात्‍मक स्थिति के बारे में विस्‍तृत रूप से उपलब्‍ध कराई। बैठक में पूर्व विधायक वीरसिंह भूरिया, वालसिंह मेडा, ब्‍लॉक कांग्रेस अध्‍यक्ष हेमचंद्र डामोर, गेंदाल डामोर, यामीन शेख, केमता डामोर, कैलाश डामोर प्रवक्‍ता आचार्य नामदेव, साबीर फिटवेल, हर्ष भट्ट, कांग्रेस नेता रमेश डोसी, आशीष भूरिया, रूपसिंह डामोर, प्रकाश रांका, मानसिंह मेडा, मनुबेन डोडियार, शायरा बानो, गौरव सक्‍सेना, बंटु अग्निहोत्री, शंकर भूरिया, मनीष बघेल, मन्‍नालाल हामड़, शंकर बामनिया, यतीन्‍द्र शर्मा, मनोहर भंडारी, प्रकाश जैन, बाबुलाल कोठारी, बबलु कटारा, विशाल राठौर, विजय भाभर, दिव्‍येश अम्लियार, राजेश डामोर सहित बड़ी संख्‍या में कांग्रेस पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।

जिला मुख्यालय पर हितग्राही सम्मेलन 4 अगस्त को
       
झाबुआ । जिला मुख्यालय पर 4 अगस्त को वृहद स्तर पर हितग्राही सम्मेलन आयोजित किये जाने के निर्देश राज्य षासन द्वारा जारी किये गये हैं। जिले में हितग्राही सम्मेलन में स्व-रोजगार ऋण वितरण, रोजगार मेले का आयोजन, संबल योजना अंतर्गत हितग्राहियों को स्वीकृति-पत्र, चेक का वितरण, तेंदूपत्ता संग्राहक बोनस एवं सामग्री वितरण, सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन कल्याण विभाग की विभिन्न हितग्राहियों एवं अन्य विभागों के लाभान्वित हितग्राहियों को सम्मेलन में लाभान्वित करने के निर्देश दिये गये हैं। कलेक्टर श्री आषीष सक्सेना ने सभी संबंधित अधिकारियो को आवष्यक व्यवस्थाए सुनिष्चित कर हितग्राहियो को लाभान्वित करने हेतु निर्देषित किया हैं।

मुख्यमंत्री ऋण समाधान योजना का लाभ 31 जुलाई तक
   
झाबुआ । राज्य शासन प्राथमिक कृषि साख समितियों के डिफाल्टर किसान सदस्यों के बकाया कालातीत ऋणों के निपटारे के लिए लागू की गई मुख्यमंत्री ऋण समाधान योजना में भाग लेने की अंतिम तिथि 31 जुलाई निर्धारित है। यह योजना 12 फरवरी 2018 से लागू हुई है। प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों के जिन डिफाल्टर किसानों द्वारा 12 फरवरी से 06 अप्रैल की अवधि में समाधान योजना लागू किए जाने की प्रत्याशा में बकाया मूलधन जमा की गई है, उन्हें भी इस योजना से नियमानुसार लाभान्वित किया जाएगा।

शिक्षा का स्तर बढ़ाने हेतु प्रतिभा किरण योजना
       
झाबुआ । गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाली शहर की मेधावी छात्राओ में शिक्षा का स्तर बढाने हेतु प्रोत्साहन व आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों की ऐसी छात्राओं को योजना का लाभ मिलेगा, जिन्होंने शहर की पाठशाला से 12वीं कक्षा प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण की हो। छात्रा ने जिस सत्र में कक्षा 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण की हो उसी सत्र में उच्च शिक्षा के लिए प्रवेश लेना जरूरी है। योजना क्रियान्वयन प्रक्रिया के तहत इस योजना में चयनित छात्रा को पाठ्यक्रम हेतु 500 रूपए प्रतिमाह 10 माह तक तथा तकनीकी एवं चिकित्सा शिक्षा पाठ्यक्रम हेतु 750 रूपए प्रतिमाह 10 माह तक दिये जायेगें।

कृषि आदान विक्रेता डिप्लोमा हेतु पंजीयन करायें
झाबुआ । कृषि एवं सहकारिता मंत्रालय भारत शासन द्वारा कृषि आदान विक्रेताओं को कृषि विस्तार सेवा में एक वर्षीय डिप्लोमा प्रदान करने की योजना प्रारंभ की गई। इस योजना का प्रमुख उद्देश्य आदान विक्रेताओं की स्थानीय परिस्थितियों के अनुरूप फसल तकनीकी से अवगत कराकर उनकी तकनीकी दक्षता विकसित करना तथा इनके माध्यम से कृषि तकनीकी का कृषकों के हित में विस्तार और प्रचार-प्रसार किया जाना है। कृषि आदान विक्रताओं से कृषि विभाग द्वारा यह अपील की गई है कि डिप्लोमा पाठ्यक्रम करने हेतु पंजीयन अनिवार्यतः करायें। डिप्लोमा पाठ्यक्रम हेतु न्यूनतम अर्हताएं हाईस्कूल उत्तीर्ण का प्रमाण-पत्र आवश्यक है। अधिक जानकारी हेतु अपने नजदीकी कृषि कार्यालय से सम्पर्क कर सकते हैं।

मनरेगा में अब एक दिन की मजदूरी होगी 174 रूपये
       
झाबुआ । महात्मा गाँधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना अंतर्गत अकुशल श्रमिकों की एक दिन की मजदूरी में दो रूपये का इजाफा किया गया है। अब मनरेगा में काम करने वाले अकुशल श्रमिकों को रोजाना 174 रूपये मजदूरी मिलेगी। यह दर एक अप्रैल 2018 से लागू हो गई है। इस आशय की अधिसूचना भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय ने जारी की है।

बिजली संबंधी शिकायतें दूर करने बना श्उपाय (न्च्।ल्) श् एप
       
झाबुआ । मध्यप्रदेश के बिजली उपभ¨क्ता बिजली फाॅल्ट अ©र बिल संबंधी शिकायत दर्ज करवाने के लिए ट¨ल फ्री नंबर 18002331912 अ©र 0755-2551222 के अलावा म¨बाइल एप श् उपाय (न्च्।ल्)श् पर भी शिकायतें दर्ज करवा सकेंगे। एप से सीधे उपभ¨क्ता अपनी शिकायत काॅल सेंटर में दर्ज करा सकते हैं। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के आईटी विभाग द्वारा इस एप के जरिए उपभ¨क्ताअ¨ं क¨ बिजली बिल भुगतान के अलावा विद्युुत अवर¨ध अ©र बिलिंग संबंधी शिकायतें दर्ज करवाने की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। एप में लाॅग इन की बाध्यता नहीं है। उपाय (न्च्।ल्)  एप क¨ गूगल प्ले स्ट¨र से फ्री में डाउनल¨ड किया जा सकता है। एप क¨ भ¨पाल, ह¨शंगाबाद, ग्वालियर अ©र चंबल संभाग के बिजली उपभ¨क्ता उपय¨ग कर सकेंगे। उपभ¨क्ता बिल में दर्ज आईवीआरएस या उपभ¨क्ता आईडी नंबर एप में सबमिट करेंगे, त¨ उनके कनेक्शन के सभी विवरण स्वतरू खुल जाएंगे। यदि उपभ¨क्ता की शिकायत अन्य व्यक्ति या अन्य पते की है, त¨ एप में अपने म¨बाइल नंबर क¨ दर्ज करना ह¨गा। उपभ¨क्ता क¨ शहर/क्षेत्र/काॅल¨नी अ©र मकान नंबर की जानकारी भरनी ह¨गी। इसके बाद अपनी समस्या या माँग के अनुरूप शिकायत की श्रेणी क¨ चुनना ह¨गा। ऐसा करने पर समस्या या मांग दर्ज ह¨ जाएगी अ©र एसएमएस से शिकायत दर्ज ह¨ने की पुष्टि की जाएगी। शिकायत दर्ज ह¨ने के बाद अगले कुछ ही समय में कंपनी के काॅल सेंटर से फ¨न आएगा। शिकायत का सत्यापन कर संबंधित बिजली ज¨न क¨ फाॅरवर्ड कर दिया जाएगा। एप के जरिये उपभ¨क्ता अपनी शिकायत की स्थिति भी जान सकेंगे। एप पर शिकायत अ©र आवेदन¨ं की माॅनिटरिंग के लिए द¨ स्तर पर सिस्टम तैयार किया गया है।

दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम में 21 प्रकार की दिव्यांगताएं शामिल
       
झाबुआ । सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन कल्याण विभाग द्वारा दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम 2016 के अंतर्गत जागरूकता के लिए 21 प्रकार की दिव्यांगताओं को शामिल किया गया है। अधिनियम में पूर्व में प्रचलित 7 प्रकार की दिव्यांगताओं के स्थान पर अब 21 प्रकार की दिव्यांगताएं शामिल की गई है। अधिनियम के अंतर्गत दिव्यांगता के 21 प्रकार एवं उनके लक्षण जैसे चलन दिव्यांगता, बौनापन, मांसपेशी दुर्विकास, तेजाब हमला पीड़ित, दृष्टि बाधित, अल्पदृष्टि, श्रवण बाधित, कम, ऊंचा सुनना, बोलने एवं भाषा की दिव्यांगता, कुष्ठ रोग से मुक्त, प्रमस्तिष्क घात, बहु दिव्यांगता, बौद्धिक दिव्यांगता, सीखने की दिव्यांगता, स्वलीनता, मानसिक रूग्णता, बहु-स्केलेरोसिस, पार्किसंस, हेमोफीलिया, थेलेसीमिया, सिकल कोशिका रोग शामिल है।

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्षन योजना अंतर्गत रामेष्वरम की यात्रा 30 जुलाई से 3 अगस्त तक
        
झाबुआ । मुख्यमंत्री तीर्थ दर्षन योजना अंतर्गत तीर्थ स्थान रामेष्वरम यात्रा दिनांक 30 जुलाई 2018 से 03 अगस्त 2018 मे जाने हेतु झाबुआ जिले के 102 एवं 3 अनुरक्षक, 5 सुरक्षा, 1 चिकित्सक, सहित कुल 111 सीटे आवंटित की गई है। जिले के तीर्थ यात्री 30 जुलाई को मेघनगर रेलवे स्टेषन से ट्रेन द्वारा रवाना होगे।

वाद्य यंत्र प्रदाय करने हेतु कला मण्डली के प्रस्ताव आमंत्रित
      
झाबुआ । ग्राम पंचायत के अंतर्गत कला मण्डली/भजन मण्डलियो को षासन के निर्देषानुसार वाद्य यंत्र क्रय करने हेतु राषि प्रदाय की जाना है, इस हेतु पंजीकृत कला मण्डलियां/भजन मण्डलियां अपने प्रस्ताव ग्राम पंचायत के माध्यम से संबंधित जनपद पंचायत को 7 दिवस मे भेजना सुनिष्चित करे, ताकि वाद्य यंत्र हेतु षासन से प्राप्त राषि प्रदाय की जा सके।

अंतर्राष्ट्रीय रोजगार मेला 1 अगस्त को भोपाल में

झाबुआ । भोपाल में एक अगस्त को अंतर्राष्ट्रीय रोजगार मेला आयोजित होगा। मध्यप्रदेश रोजगार कौशल विकास व रोजगार निर्माण बोर्ड और टूरिज्म एंड हॉस्पिटलिटी सेक्टर स्किल काउंसिल के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित हो रहे इस मेले में देश की प्रतिष्ठित कंपनियां व नियोजक कैम्पस भर्ती के लिये आयेंगे। रोजगार मेले में भाग लेने के इच्छुक युवा एमपी रोजगार पोर्टल ूूूण्उचतवरहंतण्हवअण्पद पर प्दजमतदंजपवदंस श्रवइ थ्ंपत-ठीवचंस पर क्लिक कर अपना पंजीयन करा सकते हैं। रोजगार मेले में असिस्टेंट मैनेजर, मैनेजर, रेस्टोरेंट स्टोर, वेटर एण्ड वेट्रेस, किचिन असिस्टेंट, ड्राइवर, इंजीनियर-इन्स्ट्रूमेंशन, एकाउण्टेंट, एडमिन मैनेजर, आईटी इंचार्ज, नर्सेज, हेयर ड्रेसर्स इत्यादि की भर्ती की जायेगी। उन्होंने बताया अंग्रेजी भाषा में निपुण युवाओं को विदेश मसलन दुबई, कतर, बहरीन, संयुक्त राष्ट्र अमीरात, कुवैत, ओमान व आयरलैण्ड इत्यादि देशों में भी काम करने का मौका मिलेगा।

मलेरिया होने पर खून की जांच अवश्य करवाएं, बारिश के मौसम में होने वाली बीमारियां और उनसे बचाव के उपाय
       
झाबुआ । बारिश के मौसम में दूषित जल के उपयोग के कारण होने वाली बीमारियां ही मुख्य रूप से देखी जाती हंै। इस दौरान उल्टी, दस्त, पेचिश, हैजा, टायफाइड, पीलिया, कृमि संक्रमण, त्वचा एवं आंखों के रोग, मच्छरों एवं मक्खियों से फैलने वाले रोग प्रमुख हैं। मलेरिया से बचाव हेतु घर के आसपास जल जमा न होने दें और रूके हुए पानी में मिट्टी का तेल या जला हुआ ऑइल डालें। अपने घरों के कूलर, फूलदान, फ्रीज, ट्रे आदि को सप्ताह में एक बार अवश्य साफ करें। सोते समय मच्छरदानी का उपयोग करें। कीटनाशक का छिडकाव करवायें। मलेरिया रोग हो जाने पर खून की जांच अवश्य करायें और चिकित्सकों की सलाह से पूर्ण उपचार लिया जाना चाहिये।

दूषित पानी का उपयोग बिल्कुल न करें
       
बारिश के दौरान दूषित पानी के कारण प्रायः दस्त रोग फैलता है और यह मुख्य रूप से बच्चों में अधिक होता है। इस दौरान सबको शुद्ध पेयजल का ही उपयोग करना चाहिये और जहां तक हो सके पानी उबालकर एवं छानकर पीने में उपयोग में लाना चाहिये। दस्त रोग की रोकथाम के लिये शुद्ध पेयजल एवं शुद्ध भोजन का उपयोग करना चाहिये। सड़े-गले फल एवं खाद्य पदार्थों का उपयोग न करें और खाना खाने से पहले एवं शौच के बाद साबुन से अवश्य हाथ धोएं। खुले में शौच न करें और शौचालय का उपयोग किया जाये। घर के आसपास साफ-सफाई रखें। दस्त लग जाने पर ओआरएस एवं जिंक टेबलेट का उपयोग चिकित्सक की सलाह के अनुसार किया जाये। खाने-पीने की वस्तुओं को ढंककर रखा जाये। मक्खियों से बचाव किया जाये। हरी सब्जी एवं फलों का उपयोग करने के पहले साफ पानी से धोकर उसका उपयोग किया जाये।

आंखों के रोग एवं खुजली होने पर साफ तोलिये या रूमाल का ही उपयोग करें
वर्षा ऋतु में होने वाली बीमारियों में कई लोगों को आंखों में रोग हो जाता है और खुजली आदि होती है। इस दौरान आंखों में खुजली एवं आंखें लाल हो जाने एवं सफेद व पीले रंग का पदार्थ जमा होने के कारण आईफ्लू, कंजक्टिवाईटिस या आंखें आने के रूप में जाना जाता है। यह रोग एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है और इसका कारण संक्रमित उंगलियां, तौलिया, रूमाल आदि का उपयोग एक-दूसरे व्यक्ति के बीच में होना भी प्रमुख कारण है। इन सबसे बचने के लिये आंखें आने पर बार-बार अपने हाथ एवं चेहरे को शुद्ध ठण्डे पानी से धोयें, परिवार के सभी सदस्य अपने अलग-अलग तोलिये एवं रूमाल का उपयोग करें। स्वच्छ पानी का उपयोग करें और बार-बार आंखों को हाथ न लगायें। धूप के चश्मे का प्रयोग किया जाये और चिकित्सक को दिखाया जाये।

पर्यटन क्विज प्रतियोगिता का आयोजन 31 जुलाई को

झाबुआ । मध्यप्रदेश पर्यटन बोर्ड द्वारा गत दो वर्षों से पर्यटन क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। यह प्रतियोगिता प्रदेश के समस्त 51 जिलों में आयोजित की जा रही है। क्विज प्रतियोगिता के प्रथम तीन विजेताओं एवं तीन उपविजेताओं को मध्यप्रदेश राज्य पर्यटन विकास निगम की इकाई में पुरस्कार स्वरूप भ्रमण हेतु गिफ्ट कूपन प्रदान किए जायेंगे। क्विज प्रतियोगिता 31 जुलाई को सभी जिला मुख्यालयों पर आयोजित होगी। प्रतियोगिता प्रथम चरण में प्रातः 9 से 12 बजे तक और द्वितीय चरण में अपरान्ह 2.30 से 5.30 बजे तक आयोजित होगी। इस प्रतियोगिता के आयोजन का उद्देश्य विद्यार्थियों में पर्यटन के प्रति जागरूकता लाना है।

राष्ट्रीय टीकाकरण दल ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से की मुलाकात
      
jhabua news
झाबुआ । भारत सरकार द्वारा झाबुआ जिले में भेजे गये राष्ट्रीय टीकाकरण दल ने 27 जुलाई 18 तक पॉच दिवसीय भ्रमण जिले मे किया। भ्रमण के दौरान दल ने राष्ट्रीय टीकाकरण की गतिविधियों का अवलोकन किया। जिसका फीडबैक देने के लिये टीम के सदस्यो ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर डी एस चैहान से मुलाकात की। मुलाकात के समय जिला टीकाकरण अधिकारी डॉक्टर राहुल गणावा, जिला कार्यक्रम प्रबंधक आर आर खन्ना ,व अन्य स्वास्थ्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...