प्राइमरी स्कूल के बच्चों को निखारेंगी पूजा बेदी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 19 जुलाई 2018

प्राइमरी स्कूल के बच्चों को निखारेंगी पूजा बेदी

pooja-bedi-will-change-primary-kids
नई दिल्ली, 18 जुलाई, प्राइमरी स्कूल के बच्चों के ज्ञान को अधिक निखारने या संवारने के लिए प्राइमरी प्लस मीडिया जर्नल ने टीच प्राइमरी के साथ समझौता किया है।  साथ ही अपनी मैगजीन टीच प्राइमरी (भारतीय संस्करण) के संपादक की कमान पूजा बेदी को सौंपी है। 30 साल से ज्यादा का अनुभव रखने वाली पूजा बेदी बतौर मां, टीवी शो होस्ट, लेखिका और अभिनेत्री के तौर पर जानी मानी शख्सियत हैं। इस मौके पर पूजा बेदी ने कहा, "21 शताब्दी के अनपढ़ वह नहीं हैं, जो लिख या पढ़ नहीं सकते, बल्कि वह हैं, जो कुछ सीखना नहीं चाहते, अपनी पुरानी सीखी गई बातों को भूलना नहीं चाहते और दोबारा से कुछ सीखना नहीं चाहते। भारतीय शिक्षा व्यवस्था के फॉर्मेट में आमूलचूल बदलाव होना चाहिए। बच्चों को भविष्य के लिए तैयार करने की कोशिश में हम उनसे उनका बचपन छीन लेते हैं।" उन्होंने कहा, "बच्चों को अपनी भावनाओं की अभिव्यक्ति की आजादी होनी चाहिए और उनमें अपनी दिलचस्पी के साधनों के लिए आगे बढ़ने का जुनून होना चाहिए। उनका मानना है कि बच्चों के मानसिक सुकून के लिए आदर्श व्यवस्था तैयार करनी चाहिए। बच्चों को भविष्य के लिए इस तरह से तैयार करना चाहिए, कि जिस करियर को बनाने या जिस जॉब को पाने के लिए वह पढ़ाई कर रहे है, वह भविष्य में नहीं होंगी और जिन जॉब्स के लिए उन्हें तैयार होने की जरूरत है, वह आज अस्तित्व में नहीं है।" टीच प्राइमरी के ग्रुप एडिटर मनबीर बेदी ने कहा, "पूजा बेदी के पास बच्चों की शिक्षा की समझ है, जो हमें इन बच्चों में सीखने के रचनात्मक पहलुओं को प्रोत्साहित करने में उनकी मदद करेगी। वह बच्चों को पढ़ाने की जगह उन्हें सिखाने पर जोर देती हैं।"

कोई टिप्पणी नहीं: