नीतीश के साथ गठबंधन नहीं टूटेगा, जीतेंगे सभी सीटें : अमित शाह - Live Aaryaavart

Breaking

शुक्रवार, 13 जुलाई 2018

नीतीश के साथ गठबंधन नहीं टूटेगा, जीतेंगे सभी सीटें : अमित शाह

will-win-all-40-seats-amit-shah
पटना, 12 जुलाई, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने यहां गुरुवार को कहा कि विपक्षी महागठबंधन 'लार टपकाता रहे' मगर नीतीश कुमार के साथ गठबंधन नहीं टूटेगा। उन्होंने दावा किया कि अगले लोकसभा चुनाव में बिहार की 40 में से 40 सीटें राजग जीतेगा। भाजपा कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए उन्होंने कहा, "हमने जिस जीत की आदत डाली है, उसे बनाए रखना होगा।" पटना में भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ बैठक के बाद भाजपा शक्ति केंद्र प्रभारियों को संबोधित करते हुए शाह ने बिहार के गौरवशाली इतिहास की चर्चा की और देश को कांग्रेस मुक्त करने के अपने अभियान की चर्चा कहते हुए कहा, "कांग्रेस मुक्त भारत बनाने की शुरुआत बिहार से ही हुई है। कांग्रेस के आपातकाल के दौरान इसी धरती पर जयप्रकाश नारायण निकले और कांग्रेस को हटा दिया। बिहार के राजेंद्र प्रसाद, कर्पूरी ठाकुर जी और जय प्रकाश नारायण ने देश को दिशा दी है।" अमित शाह हालांकि अपने गृहराज्य को 'कांग्रेस मुक्त' नहीं कर पाए हैं। गुजरात के 77 विधानसभा क्षेत्रों पर कांग्रेस का कब्जा है। भाजपा अध्यक्ष ने भाजपा को एक विचारधारा बताते हुए कहा, "भाजपा एक परिवार की नहीं, बल्कि विचारधारा की पार्टी है। विचारधारा के संघर्ष में कार्यकर्ताओं पर अत्याचार हुए और हमारे कार्यकर्ता आज भी बलिदान दे रहे हैं। 10 सदस्यों वाली पार्टी आज 11 करोड़ सदस्यों की सबसे बड़ी पार्टी बन गई है।" उन्होंने साढ़े चार वर्ष के राजग सरकार के विकास कार्यो की चर्चा करते हुए कार्यकर्ताओं से सरकार की योजनाओं को सोशल मीडिया के माध्यम से आम जनता को बताने की सलाह दी।

शाह ने 2013 में कांग्रेस कार्यकाल की चर्चा करते हुए कहा, "उस समय देश में नीतिगत लकवा मार गया था। देश का हर मंत्री खुद को प्रधानमंत्री मानता था, परंतु प्रधानमंत्री खुद को प्रधानमंत्री नहीं मानता था। इसके बाद नरेंद्र मोदी की हवा आई जो आंधी बनी और फिर सुनामी बन गई और फिर पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनी।" उन्होंने कांग्रेस के साथ राजद पर भी निशाना साधते हुए कहा, "वर्ष 2014 में सभी विपक्षी पार्टियां हमारे खिलाफ लड़ी थीं और हमने सभी को हराकर ही सत्ता पाई थी। हम इन सभी को फिर से हराएंगे।" शाह ने जोर देकर कहा, "सिर्फ चंद्रबाबू नायडू गए हैं, लेकिन उनके बदले नीतीश कुमार आ गए हैं, तो क्या फर्क पड़ा।" इससे पहले, अपने दो दिवसीय बिहार दौरे पर गुरुवार को पटना पहुंचे अमित शाह और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में शामिल जद (यू) के अध्यक्ष नीतीश कुमार के साथ पटना के राजकीय अतिथिशाला में मुलाकात हुई। दोनों नेताओं ने साथ में सुबह का नाश्ता किया। इस दौरान करीब एक घंटे तक दोनों नेताओं ने सियासी चर्चा की। दोनों नेता एक बार फिर रात के भोजन पर मुख्यमंत्री आवास में मिलेंगे और अगले दौर की बातचीत करेंगे। इससे पहले, शाह गुरुवार की सुबह करीब 10 बजे पटना हवाईअड्डे पहुंचे, जहां भाजपा के नेता और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय सहित कई केंद्रीय मंत्री और बिहार के मंत्री सहित बड़ी संख्या में कार्यकताओं ने उनका स्वागत किया। इधर, शाह के आगमन को लेकर पटना की सड़कें भाजपा के बैनर, पोस्टरों से भरी पड़ी हैं। शाह के आगमन को लेकर सुरक्षा के भी कड़े प्रबंध किए गए हैं।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...