बिहार : 8 अगस्त को पटना विश्वविद्यालय पर रोषपूर्ण प्रदर्शन का ए. आइ. एस. एफ. ने किया ऐलान - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 6 अगस्त 2018

बिहार : 8 अगस्त को पटना विश्वविद्यालय पर रोषपूर्ण प्रदर्शन का ए. आइ. एस. एफ. ने किया ऐलान

कुलपति को पत्र भेज दी जानकारी.
aisf-protest-at-patna-university-at-8th
पटना (आर्यावर्त डेस्क) ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन ने 8 अगस्त को पटना विश्वविद्यालय पर प्रदर्शन का ऐलान किया है. AISF की पटना विश्वविद्यालय इकाई की बैठक में यह निर्णय लिया गया. बैठक में पटना विश्वविद्यालय कुलपति के द्वारा समस्याओं को सुलझाने के बजाय टाल मटोल करने पर रोष व्यक्त किया गया. बैठक के बाद कुलपति को प्रेषित पत्र में कहा गया कि छात्र हितों के प्रति आपका रवैया संवेदनहीन है. पीजी शुल्क वृद्धि,छात्रावास आवंटन, लॉ कॉलेज नामांकन में व्याप्त अनियमितता,पी एच डी के विद्यार्थियों के सत्र की देरी, फर्जी छात्र संघ प्रतिनिधियों के सामने आत्मसमर्पण, मगध महिला हॉस्टल में व्याप्त कुव्यवस्था, दरभंगा हाउस में बुनियादी सुविधाओं के घोर अभाव आदि सवाल बने हुए हैं.इन मसलों पर कई बार पत्राचार किया गया और आपसे वार्ता कर समाधान के प्रयास हुए लेकिन कोई सकारात्मक परिणाम नहीं आना दुखद है.इसी को लेकर विवश होकर आगामी 8 अगस्त को आपके समक्ष प्रदर्शन का निर्णय लेना पड़ा है. बैठक में मौजूद संगठन के राज्य सचिव सुशील कुमार ने कहा कि छात्र हितों को लेकर अब आर-पार के संघर्ष के लिए तैयार होना पड़ेगा. पी यू कुलपति एक कमजोर कुलपति साबित हुए हैं. पी यू सचिव मुकेश कुमार यादव ने कहा कि छात्र हितों को लेकर ए.आई. एस.एफ. हमेशा सजग रहा है.अब और इंतजार नहीं कर चरणबद्ध चलाना समय की मांग है.अध्यक्षता मगध महिला की काउन्सिलर भाग्य भारती ने किया. बैठक में राज्य उपाध्यक्ष सुशील उमाराज, जिला अध्यक्ष अक्षय कुमार, मानविकी संकाय काउंसलर , अभिषेक राज,बब्लु राज, राहुल कुमार, वरुण कुमार,केशव कुमार भगत, अलका वत्स, शेखर सुमन सहित दर्जनों छात्र छात्राएं शामिल थे
एक टिप्पणी भेजें