झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 05 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

रविवार, 5 अगस्त 2018

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 05 अगस्त

जिला बाल कल्याण समिति पहुंची कुपोषित बच्चों के बीच, चिकित्सक से चर्चा कर बच्चों के स्वास्थ्य के बारे में जाना
  • एक बच्ची की माता जीवित ना होने पर फास्टर केयर योजना का लाभ देने के लिए की सिफारिष

jhabua news
झाबुआ। जिला बाल कल्याण समिति झाबुआ (सीडब्ल्यूसी ज्यूडिषयल बेंच) द्वारा रविवार को दोपहर 12 बजे जिला चिकित्सालय पहुंचकर यहां कुपोषित वार्ड एवं चिल्ड्रन वार्ड का निरीक्षण किया गया एवं यहां बच्चों को मिल रहीं सुविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की। समिति की अध्यक्ष निवेदिता सक्सेना एवं यषवंत भंडारी तथा गोपालसिंह पंवार ने इस दौरान कुपोषित बच्चों की माताओं से चर्चा की एवं उन्हें स्वास्थ्य के बारे में डूयटी पर कार्यरत कर्मचारियों एवं उनकी माताओं से चर्चा कर जानकारी प्राप्त की। समिति के पदाधिकारी एवं सदस्य पहले जिला चिकित्सालय के द्वितीय तल पर स्थित कुपोषण वार्ड में पहुंचे। जहां कुपोषित बच्चों की माता से चर्चा करते हुए उनसे पूछा गया कि वार्ड में उन्हें स्वास्थ्य विभाग की ओर से समुचित सुविधा मिल रहीं है, या नहीं। कुपोषित बच्चों को मीनू अनुसार समय पर भोजन, उनका उपचार एवं देखरेख आदि किया जा रहा है, या नहीं। इस दौरान वार्ड में पदस्थ नर्सेस ने समस्या बताते हुए कहा कि वार्ड की छत एवं दीवारांे से तृतीय तल पर सफाई कार्य एवं बारिष के दौरान पानी टपकता है, इस कारण जिस हिस्से से पानी टपकता है, वहां बच्चों को बेड पर नहीं सुला पाते है, वह बेड खाली पड़े रहते है। इस पर सीडब्ल्यूसी की टीम ने निरीक्षण के दौरान उपस्थित चिकित्सक डाॅ. जितेन्द्र बामनिया से कहा कि वे लोक निर्माण विभाग को संपर्क कर तत्काल रिपेयरिंग कार्य करवाएं। इसके साथ ही यहां बच्चों के किए जा रहे उपचार एवं उनके स्वास्थय की प्रगति रिपोर्ट (भर्ती कार्ड) का भी सदस्य श्री भंडारी द्वारा सूक्ष्म निरीक्षण किया गया।

एक बच्ची की ली जिम्मेदारी
इसके बाद चिल्ड्रन वार्ड के निरीक्षण के दौरान यहां तीन गंभीर रूप से तीन कुपोषित बच्चे, जिन्हें विषेष उपचार हेतु चिल्ड्रन वार्ड में भर्ती किया गया था, उनकी माताओं से चर्चा कर उनके स्वास्थय पर अधिक ध्यान देने की बात कहीं। इस दौरान ग्राम करड़ावद बड़ी निवासी वेस्ती पिता कालू मेड़ा उम्र 9 माह भर्ती थी, जिसे उसके निकटतम रिष्तेदार द्वारा यहां भर्ती बुखार एवं उल्टी-दस्त की षिकायत होने पर एडमिट किया गया था। बच्ची के रिष्तेदार से चर्चा करने पर बताया कि उसका मां का निधन हो चुका है, इसलिए वर्तमान में वह उसकी देखरेख कर रहीं है। इस पर समिति ने उक्त बालिका को फास्टर केयर योजना के तहत लाभ प्राप्त हो तथा इसके भरण-पोषण जो परिवार कर रहा है, उसे आर्थिक मद्द मिले, की कार्रवाई हेतु सामाजिक कार्यकर्ता को प्रकरण बनाकर समिति के समक्ष प्रस्तुत करने के निर्देष देने की बात कहीं।

मां का दूध जरूर पिलाएं
समिति द्वारा कुपोषित बच्चों के वार्ड में उपस्थित सभी माताओं को एकसाथ बुलाकर उनके बच्चों के संबंध में विषेष ध्यान रखने की बात कहते हुए कहा कि यहां उपस्थित दो वर्ष तक के बच्चों को मां स्वयं अपना दूध अवष्य पिलाएं, क्योंकि मां के दूध से बच्चों में रोग प्रतिरोधात्मक क्षमता में वृद्धि होती है तथा उनका स्वास्थ्य जल्दी ठीक होता है।

सफाई में पाई कमी
कुपोषित बच्चों के वार्ड के निरीक्षण के दौरान समिति ने पाया कि यहां की फर्षों पर फिनाईल आदि से पोता नहीं लगाने के कारण फर्ष चिपचिपी रहती है। साथ ही कक्ष के बाहर फैली दुर्गंध का असर कक्ष के अंदर भी आ रहा था। जिसे दूर करने के निर्देष जिला चिकित्सालय के उपस्थित स्टीवर्ट को दिए। कुपोषित बच्चों के स्वास्थय के संबंध में डाॅ. जितेन्द्र बामनिया ने कहा कि यहां आने के दो दिन बाद से कुपोषित बच्चों के स्वास्थय में सुधार शुरू हो जाता है तथा उन्हें जो डाइ्र्रट दी जाती है, इससे उनका वनज बढ़ने लगता है तथा 10 दिनों के भीतर बच्चा स्वस्थ दिखाई देने लगता है, परन्तु डिस्चार्ज होने के पश्चात् घर पहुंचने पर पुनः उसे पर्याप्त एवं पोष्टीक आहार नहीं मिलने के कारण बच्चें पुनः कुपोषण के षिकार होने लगते है। इस बात को समिति ने गंभीरता से दृष्टिगत रखते हुए संबंधित ग्राम के आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को कुपोषित बच्चों के लिए विषेष ध्यान देने के संबंध में निर्णय लेने की बात कहीं।

उत्‍तरप्रदेश के परिवहन मंत्री द्वारा झाबुआ जिले के पेदलावद में दिये गए बयानों पर जिला कांग्रेस ने की कड़े शब्‍दों में निंदा

झाबुआ । भाजपा के राष्‍ट्रीय नेतृत्‍व द्वारा कांग्रेस पार्टी के वरिष्‍ठ नेता, पूर्व केन्‍द्रीय मंत्री एवं क्षेत्रीय सांसद कांतिलाल भूरिया की कांग्रेस की समर्पित परंपरागत संसदीय सीट के लिए नियुक्‍त उत्‍तरप्रदेश के परिवहन मंत्री स्‍वतंत्र सिंह के झाबुआ जिले के पेदलावद नगर प्रवास के दौरान मिडिया को दिये गए वक्‍तव्‍य पर जिला कांग्रेस कमेटी ने कड़े शब्‍दों में निंदा करते हुए उन्‍हें अपने बयान वापस लेने की मांग की है। परिवहन मंत्री ने मिडिया के सांसद कांतिलाल भूरिया के विरूद्ध जो ओछी बयानबाजी कर अपने आपको झाबुआ जिले में अपनी ओछी व छिछोली मानसिकता का ही परिचय दिया है। जिला पंचायत अध्‍यक्ष सुश्री कलावती भूरिया, जिला कांग्रेस अध्‍यक्ष निर्मल मेहता, जिला कांग्रेस उपाध्‍यक्ष डॉ.विक्रांत भूरिया, पूर्व विधायक वीरसिंह भूरिया, वालसिंह मेडा़, जेवियर मेडा, कांग्रेस नेता रमेश डोशी, हनुमंतसिंह डाबड़ी, नगीन शाह, रूपसिंह डामोर, जिला प्रवक्‍ता हर्ष भट्ट, आचार्य नामदेव, साबीर फिटवेल, लोकसभा युवक कांग्रेस अध्‍यक्ष आशीष भूरिया एवं जिला कांग्रेस के पदाधिकारियों ने संयुक्‍त विज्ञप्ति जारी कर कहा कि जो व्‍यक्ति उत्‍तरप्रदेश के काल्‍पी विधानसभा क्षेत्र के वर्ष 2012 में संपन्‍न हुए विधानसभा चुनाव बतौर भाजपा प्रत्‍याशी के रूप में अपनी साख व जमानत भी नहीं  बचा सका हो जो प्रधानमंत्री व भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह से उनकी नजदिकीयां होने के कारण वर्ष 2015 में नियुक्‍त प्रभार वाले प्रदेश बिहार-विधानसभा चुनाव में भाजपा की करारी हार करा चुका हो और वर्ष 2017 में उत्‍तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में पराजय के भय से चुनाव लड़ने की हिम्‍मत न जुटा पाया हो वह मध्‍यप्रदेश सरकार एवं क्षेत्रीय भाजपा विधायकों की नाकामयाबी को छुपाने के लिए और कौन-कौन से तरीके अपनाएंगे यह चर्चा का विषय बन गया है। जिला पंचायत अध्‍यक्ष सुश्री कलावती भूरिया ने कहा कि भाजपा के तथा कथित नेता सत्‍ता के मद में चुर होकर अर्नगल व बैसिरपैर की बयानबाजी पर उतर आये है उन्‍हें न तो राजनीति का ज्ञान है और न ही क्षेत्र की राजनैतिक स्थितियों का। वे केवल भाजपा के चाटुकार नेताओं जो स्वयं तो कोई बयान बाजी नही करते है केवल अपना स्‍वार्थ सिद्ध करने के लिये उत्‍तरप्रदेश के परिवहन मंत्री को मन घंडंत सुचनाएं देकर ऐसी ओछी व निम्‍न कोटी की बयान बाजी करवाकर केवल अपनी ओछी मानकिसता का परिचय देते है तथा भाजपा की नाकामयाबी को छुपाकर अपनी उपलब्धियों को गिनाने की बजाय कांग्रेस नेताओं के खिलाफ अनरगल बयानबाजी कर जनता को गुमराह करने का प्रयास करने में लगे हुए है। उन्‍हें न तो आम जनता से कोई लेना देना है। सुश्री भूरिया ने कहा कि सांसद कांतिलाल भूरिया जो इस संसदीय क्षेत्र के विकास पुरूष है तथा राष्‍ट्रीय स्‍तर के आदिवासी नेता है। ऐसे में स्‍वतंत्र सिंह द्वारा दिये गए बयानों का कोई आधार नहीं है और वे अपनी बचकानी हरकतों से भी बाज नहीं आ रहे है। प्रदेश एवं संसदीय क्षेत्र की जनता सांसद भूरिया द्वारा किए गए विकास कार्यों से भलीं-भांति परिचित है तथा वे हमेशा इस क्षेत्र के विकास हेतु विपक्ष में रहते हुए भी आवाज उठाते रहते हैं। आज कई बड़ी योजनाएं उनके द्वारा किए गए प्रयास से जिले में विकास को दर्शा रही है जबकि भाजपा ने जिले में जनता एवं क्षेत्र का विकास तो नहीं किया वरन नेताओं ने अपना व अपने परिवार का जरूर किया है। जो भाजपा के जनप्रतिनिधि व नेता साईकिलों पर घुमा करते थे वे आज बड़ी-बड़ी महंगी गाडियों में घुम रहे हैं। चुनाव नजदीक आने पर वे कांग्रेस के जनप्रतिनिधियों के खिलाफ अनरगल बयानबाजी कर जनता को भ्रमित करने का प्रयास कर रहे है। जनता चुनाव में उन्‍हें पूरी तरह नकार कर इसका जवाब देगी। जिला कांग्रेस अध्‍यक्ष निर्मल मेहता ने स्‍वतंत्र देव पर तंज कसते हुए कहा कि वे 11 माह बाद अब झाबुआ जिले के प्रवास पर आए हुए है लगता है अब वे चुनाव के बाद ही झाबुआ जिले के प्रवास पर आवें। मेहता ने स्‍वतंत्रदेव के बयान ‘’कांग्रेस पार्टी नहीं व्‍यापार है और उन्‍होंने बीजेपी को मिशन बनाया है’’ पर पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस 135 वर्ष पूरानी पार्टी है। देश के स्‍वतंत्रता आंदोलन में भाजपा का कोई आस्‍तित्‍व ही नहीं था। कांग्रेस ने देश व प्रदेश में अनेक वर्षों तक सेवा की है व देश की अखण्‍डता व एकता के लिए जो बलिदान किया है उसे आज पूरा विश्‍व जानता है जबकि भाजपा ने ऐसा कोई कार्य नहीं किया जिसकी उपलब्धि पर वह गर्व कर सके। डॉ.विक्रांत भूरिया ने भाजपा नेताओं पर प्रश्‍न करते हुए कहा कि भाजपा नेताओं द्वारा कांग्रेस नेताओं पर ओछी बयानबाजी करने पर वे जनता के बीच क्‍या संदेश देना चाहते है यह समझ से परे है। आज जबकि प्रदेश एवं जिले में कानून व्‍यवस्‍था पूरी तरह ध्‍वस्‍त हो गई है वहीं प्रदेश की जनता महंगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दों से आक्रोशित है। सड़कों की हालत एक बारिश में ही नदियों जैसी हो जाती है। देवझिरी से झाबुआ तक की रोड़ एवं कल्‍याणपुरा से झाबुआ तक की रोड पिछले 2 वर्षों में भी नहीं बन पाई है। ठेकेदार बार-बार भाग रहे है किंतु शासन-प्रशासन न तो उन्‍हें हटा पा रहा है और न ही कोई वैकल्पिक व्‍यवस्‍था हो पा रही है। आम नागरिकों का इन रास्‍तों से आना-जान जान जोखिम में डालने जैसा है। जिले में ऐसी दुर्दशा है तो ग्रामीणों की स्थिति क्‍या होगी। आज ग्रामीणजन गंदा पानी पीने को मजबूर है। पढ़ाई के लिए स्‍कुलों में शिक्षकों का अभाव है। डॉक्‍टर के अभाव में ग्रामीण क्षेत्र के मरीजों को अन्‍यत्र भटकना पड़ता है।जिला कांग्रेस ने स्‍वतंत्र सिंह को भूरिया जी से माफी मांगकर अपने वकतव्‍य वापस लेने की मांग की है अन्‍यथा जिला कांग्रेस मजबूर होकर भाजपा सरकार का विरोध करेगी।

राजपूत महिला क्लब ने श्रावण मास एवं फ्रेंडषीप डे मनाया, समधुर भजनों पर किया नृत्य

jhabua news
झाबुआ। श्रावण मास में प्रकृति जिस प्रकार हरियाली की चादर ओढ़ लेती है और चारो तरफ एक नवजीवन का सृजन आरंभ हो जाता है। इसी क्रम में राजपूत महिला क्लब झाबुआ द्वारा स्थानीय रामकृष्ण नगर में हरियाली थीम पर कार्यक्रम का आयोजन रखा गया। जिसमें महिलाओं ने ग्रीन डेªस पहनकर हिस्सा लिया तथा इस दौरान फें्रडषीप-डे भी मनाया और श्रावण मा के गीत, भजन संगीतमय प्रस्तुत किए। महिलाओं ने श्रावण माह के प्रसिद्ध भजन ‘षंकर भोलेनाथ है, हमारा-तुम्हारा ..., महांकाल की नगरी में जन्म दुबारा ... तथा झूला ब्रज का देखूंगा ..., सावन आया .... मस्ती लाया .... जैसे समधुर भजन गाकर उन पर नृत्य भी किया। बाल कृष्णजी को झूले में विराजित कर उन्हें झूलाकर सावन का आनंदमय तरीके से स्वागत किया गया। इस अवसर पर राजूपत महिला क्लब की स्भी महिलाओं ने सामूहिक रूप से अच्छी बारिष के साथ सभी की उन्नति के लिए भगवान से प्रार्थना भी की।

ये थी उपस्थित
इस अवसर पर राजपूत महिला क्लब की सुश्री रूक्मणी वर्मा, शोभा राठौर, कमला सोलंकी, अनिता चैहान, साधना चैहान, अनिता पंवार, राजेश्री परमार, अनिता बेस, हेमा परमार, माधुरी तोमर, सुषीला गेहलोद, सीमा गेहलोद, भारती राठौर, राखी सिसौदिया, सुभद्रा चैहान, ज्योत्सना चैहान, लता चैहान संतोष ठाकुर, साधना सोलंकी आदि उपस्थित थी।

श्रद्धा और तर्क पर पूज्य साध्विजी ने धर्मसभा में विज्ञान सम्मत तर्क दिये
  • प्रतिदिन हो रहे प्रवचन में श्रावक श्राविकाओं द्वारा लिया जारहा भाग ।

jhabua news
झाबुआ । श्रावण के पवित्र माह मे जैन समाज के चातुर्मास में नगर के जैन तीर्थ श्री बावन जीनालय में धर्म एवं आध्यात्म की गंगा प्रवाहित हो रही है । चातुर्मास में बिराजित  साध्वी श्री पुनितप्रज्ञाश्री जी मसा आदि ठाणा पांच की निश्रा में तप-तप एवं आराधना रूपी ज्ञान की गंगा प्रतिदिन  प्रवचन के  माध्यम से बह रही है । 10 तपस्वियों  के 28 दिवसीय अष्टापद तीर्थ तप उपवास से  चल रहा हैे वही सिर्फ चातुर्मास के सिर्फ 11 दिनों में 500 से अधिक आयंबिल की तपस्या आराधना कर चुके है । श्री संघ प्रवक्ता डा. प्रदीप संघवी ने बताया कि श्री बावन जीनालय मे  रविवार का आयोजित धर्मसभा को संबोधित करते हुए पूज्य प्रमोदयशा श्रीजी मसा ने कहा कि श्री तत्वार्थ सूत्र में पूज्य उमास्वाति जी महाराजसाहेब जी ने कहा है कि ’सम्यक दर्शन,ज्ञान,चारित्राणी मोक्षमार्ग’ अर्थात  जीवन मे किसी भी कार्य को सिद्ध करने के लिए श्रद्धा होना आवश्यक है,श्रद्धा से ही ज्ञान मिलेगा व उसी से संयम याने सिद्धि मिलेगी,परमात्मा के वचनों पर हमें विश्वास करना ही चाहिए उन पर आप जिज्ञासा रख कर कुछ पूछते है तो उचित है लेकिन उन वचनों पर शंका कर के तर्क कुतर्क करते है तो ये जिन आज्ञा के विरुद्ध है,। पूज्याश्री के अनुसार अभी के समय मे हमारी बुद्धि उतनी विकसित नही है कि हम जितना लिखा है उतना समझ सके,इसलिए भगवान के वचनों को आज्ञा मान उसे शिरोधार्य करे..।

जहाँ समझने की क्षमता हो वहां तर्क करना उचित है
उन्होने आगे कहा कि आज हम वैज्ञानिकी तर्क मानते है कि रात्रि भोजन स्वास्थ्य अनुकूल नही है,हमारे भगवान सदियों पहले बता चुके है,इसलिए श्रद्धा रखे. । आज कल के भोजन से सात्विकता खत्म हो गई है। फलस्वरूप कई बीमारियों का घर हमारा शरीर हो गया,जिनवचनानुसार यदि चलें तो स्वस्थ व अच्छी आयु वाले बनते है

कई उदाहरणों से तर्क व श्रद्धा को समझाया
द्रव्य,क्षेत्र काल बदलने से नियम भी बदलते है,लेकिन ज्ञान का फल हमेशा संयमित जीवन देता है,जहाँ सम्यक ज्ञान है वहाँ सम्यक दर्शन है ,श्रद्धा के लिए तत्व ज्ञान होना आवश्यक है,।’पूज्या श्री के अनुसार तर्क दूषण है और श्रद्धा आभूषण’ इसलिए परमात्मा के वचनों पर श्रद्धा रखे और अच्छे पुण्यो का उपार्जन करे. ।.रविवार कोें भोजन विवेक पर महिलाओं के लिए प्रश्न मंच का आयोजन व बच्चों के लिए ज्ञान शिविर का आयोजन हुआ। जिसमे भोजन विवेक पर आधारित प्रश्न पुछे गये  ििजसमे 55 महिलाओं ने भागीदारी की । 9 ग्रुप बनाये गये थे राचेक राउंड के बाद अंजना ग्रुप प्रथम, चंदनबाला ग्रुप द्वितीय एवं दमयंति ग्रुप तृतीय स्थान पर रहा । जिन्हे पुरस्कृत किया गया । वही आज अष्टमी  तिथि होने से 63 आयम्बिल तप हुए जिसका लाभ धर्मचन्द मेहता परिवार का ने लिया। इस अवसर पर शक्रस्तव अभिषेक का लाभ यशवंत भंडारी परिवार ने लिया ।श्री संघ के लोगों से धर्म आराधना प्रवचन में अधिक से अधिक सहभागी होने की अपील श्री संघ अध्यक्ष संजय मेहता,मुकेश नाकोडा, बाबुलाल कोठारी, राजा रूनवाल,जितेन्द्र जैन, अन्तिम जैन, राजेश मेहता, तेज प्रकाश कोठारी एवं रिंकु द्वारा की गई है ।

फुलों से श्रृंगारित होगी गोवर्धननाथजी की हवेली इन्दौर के पुष्पकलाकारों द्वारा सजाया जावेगा आकर्षक झुला

झाबुआ । श्रावण माह में भगवान श्रीकृष्ण के स्वरूप गोवर्धन नाथ जी के दर्शन, वंदन, पूजा, आराधना का विशेष महत्व रहता है । पुष्टिमार्गीय सम्प्रदाय के रजवाडी समय में निर्मित नगर के हृदय स्थल पर राजस्थानी वास्तुकला के अनुपम उदाहरण के प्रतिक श्री गोवर्धन नाथ जी भगवान की हवेली में श्रावण मास में प्रति दिन भगवान गोवर्धननाथजी को लाड दुलार के साथ सायंकाल झुले मे झुलाने का क्रम बरसों से अनवरत जारी है । आचार्य दिलीप जी की सेवा सुश्रुषा का परिणाम ही है कि भगवान गोवर्धननाथ जी के मंदिर में प्रतिदिन सैकडो की संख्या में श्रद्धालुजन नियत समय परभगवान की झलक पाने के लिये दौडे चले आत है और दर्शन वंदन का लाभ प्राप्त कर रहे है । आज 6 अगस्त श्रावण के सोमवार के पावन अवसर पर भगवान गोवर्धननाथ जी की हवेली में अजय रामावत परिवार की ओर से फुलों का विशेष श्रृंगार आकर्षण का केन्द्र रहेगा । अजय रामावत द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार श्रावण सोमवार के अवसर पर इन्दौर से विशेष रूप  से पधारे पांच फुल मालियों द्वारा रंग बिरगें फुलों एवं पत्तियों से गोवर्धननाथजी की हवेली का तथा भगवान के झुले का आकर्षक श्रृगार किया जावेगा तथा सायंकाल ठीक 7 बजे भगवान श्री गोवर्धननाथजी के झुला दर्शन का अभिनव एवं दर्शनीय आयोजन किया गया है। मंदिर में इस अवसर पर पण्डित रमेश त्रिवेदी एवं उनके सहयोगियों द्वारा परम्परागत भजन एवं कीर्तन का संगीतमय गायन भी होगा तथा भगवान गोवर्धन नाथ जी के झुले का दर्शन हर श्रद्धालु अपलक निहार कर अपने आप को धन्य महसूस करेगें । श्री रामावत  ने नगर की सभी सभी धर्म प्रेमी जनता से श्री गोवर्धननाथजी के पुष्प श्रृगांरित झुले का अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित रह कर दर्शन लाभ लेने की अपील की है  ।

श्री पंचदेव राम दरबार रंगपुरा पर आज होगा षिवजी का अभिषेक, आरती एवं प्रसादी का आयोजन
  • श्रावण माह के प्रत्येक सोमवार को हो रहा कार्यक्रम

झाबुआ। शहर के समीपस्थ श्री पंचदेव राम दरबार रंगपुरा पर श्रावण माह के प्रत्येक सोमवार को विषेष कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इसी क्रम में 6 अगस्त दूसरे सोमवार को भी मंदिर मे षिव मंदिर में  षिवलिंग का अभिषेक, आरती पश्चात् प्रसादी वितरण होगा। यह जानकारी देते हुए श्री पंचदेव राम दरबार रंगपुरा समिति के सचिव रघुवीरसिंह खतेड़िया ने बताया कि सुबह 9.30 बजे राम दरबार में भगवान भोलेनाथजी के मंदिर में षिवलिंग पर समिति के पदाधिकारी एवं सदस्यों द्वारा मंत्रोच्चार के साथ जल एवं दूध से अभिषेक करने के पश्चात् भगवान की विषेष आरती बाद सभी को प्रसादी वितरण किया जाएगा। यह आयोजन समिति की पूर्व में हुई बैठक में लिए गए निर्णयानुसार प्रत्येक सोमवार को होगा। समिति अध्यक्ष यषवंत भंडारी के साथ पदाधिकारियों में मनीष व्यास, मगनलाल राठौड़, राजेष तिवारी, नीरजसिंह राठौर, राजेष नागर, अमितसिंह जादौन, महेष राठौर, मीडिया प्रभारी दौलत गोलानी, रिंकू रूनवाल आदि द्वारा समिति के सभी पदाधिकारी एवं सदस्यों से उक्त कार्यक्रम में उपस्थित होकर धर्मलाभ लेने की अपील की है।

वोटरो ने देखा किसको मिला उनका वोट, करडावद, पिटोल के वोटरो ने वीवीपैट और ईवीएम से वोट डालने की प्रक्रिया को समझा
       
jhabua news
झाबुआ । मध्यप्रदेश में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव में पहली बार वीवीपैट वोटिंग मषीन का इस्तेमाल होगा। मतदान-प्रक्रिया को निष्पक्ष एवं पारदर्शी बनाने के लिये मतदाताओं को ईवीएम और वीवीपैट के संबंध में जानकारी देने के लिये जागरुकता वैन झाबुआ के ग्राम करडावद खुर्द, करडावद बडी, खेडी, बावडी, पिटोल एवं भीमफलिया मे पहुंची एवं ग्रामीणो को वोट डालने की प्रक्रिया से अवगत कराया। वैन मे उपस्थित अधिकारियो ने मतदाताओ को बताया कि इस बार ईवीएम के साथ साथ वीवीपैट मषीन भी मतदान के समय रहेगी, जिसमे से एक पर्ची 7 सेकण्ड के लिये मषीन की विन्डो पर दिखाई देगी, जिसे देखकर मतदाता यह जान पाएगा कि उसने जिस प्रत्याषी का बटन दबाया है उसी प्रत्याषी को उसका वोट मिला है या नही। ग्रामीणो ने स्वयं मषीन का बटन दबाकर देखा कि उनका वोट किसे मिला है।  मतदाता जागरूकता वैन में प्रचार प्रसार के लिये एलसीडी, ईवीएम मषीन और वीवीपैट मषीन रखकर विषेषज्ञो द्वारा मशीनों के बारे में जानकारी दी जा रही है। तथा प्रचार सामग्री भी वितरित की जा रही है। वैन में एलसीडी के माध्यम से लघु फिल्मे दिखाकर वीवीपैट और ईवीएम का प्रदर्शन करके मतदाताओ को वोट डालने की प्रक्रिया समझाई जा रही है।

प्रपत्र-2/प्रपत्र-3 की डाटा इंट्री हेतु प्रषिक्षण पोलेटेक्निक काॅलेज मे 06 अगस्त को 1 बजे से
       
झाबुआ । विधानसभा चुनाव 2018 हेतु अधिकारी/कर्मचारी की जानकारी प्रपत्र-2/प्रपत्र-3 की डाटा इंट्री आॅनलाइन विभाग/कार्यालय के माध्यम से की जायेगी, जिसके संबंध मे प्रषिक्षण कार्यक्रम का आयोजन 06 अगस्त 2018, सोमवार को दोपहर 1.00 बजे से पोलेटेक्निक काॅलेज, झाबुआ मे रखा गया हैं। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री आषीष सक्सेना ने सभी विभाग प्रमुख तथा कार्यालय प्रमुखो को निर्देषित किया है कि इस प्रषिक्षण मे डाटा इंट्री अथवा कम्प्यूटर कार्य मे दक्ष लिपिक को अनिवार्य रूप से भेजना सुनिष्चित करे ताकि निर्वाचन आयोग द्वारा नियत समय सीमा मे कार्य संपन्न हो सके।

विश्व स्तनपान सप्ताह 7 अगस्त तक मनाया जायेगा
        
झाबुआ । विश्व स्तनपान सप्ताह 7 अगस्त तक मनाया जायेगा, जिसमे स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता और आशा सहयोगी व्दारा गर्भवती महिला एवं धात्री महिलाओ को जन्म के तुरंत बाद बच्चो को स्तनपान कराने के लाभ व उसके महत्व की जानकारी प्रत्येक ग्राम मंे बैठक लेकर दी जायेगी। साथ ही प्रत्येक प्रसव केन्द्र पर प्रसूता महिलाओ की कांउन्सलिंग कर उन्हें स्तनपान जीवन का आधार एवं पोषण है के बारे मे समझाईश दी जावेगी तथा मां का दूध शिशु के लिए सम्पूर्ण आहार है शिशु को निमोनिया तथा दस्त से बचाता है, शिशु को आगे जीवन में होने वाले गैर संचारी रोगों के खतरे को कम करता है, मानसिक विकास में वृद्धि करता है, शिशु को जन्म के 1 घण्टे के अन्दर स्तनपान अवश्य शुरू करें, 6 माह के बाद उसे धीरे-धीरे उपरी आहार जिसमें मस्ला हुआ केला, आलू, खिचड़ी आदि देवे तथा कम से कम दो 2 वर्षो तक स्तनपान जारी रखें इस संबंध में समझाईश दी जायेगी। स्तनपान और उचित अनुपूरक आहार देने से बच्चो मे कुपोषण रोकने मे मदद मिलती है, बच्चो को विभिन्न बीमारियो से बचाया जा सकता है साथ ही स्तनपान करवाने से माॅ को भी फायदा होता है जिसमे रक्तस्त्राव मे कमी आती है।

संस्थागत प्राथमिकता के लिये 10 अगस्त तक ह¨गी काउंसलिंग
         
झाबुआ । प्रदेश में बी.ई/बी. आर्किटेक्चर/बी.डी. फार्मेसी पाठ्क्रम¨ं में संस्थागत प्राथमिकता सीट¨ं के लिए (पदेजपजनजपवदंस चतममितमदबम ेमंजे) काउंसलिंग 10 अगस्त, 2018 तक ह¨गी। काउंसलिंग उन संस्थाअ¨ं में आय¨जित ह¨गी, जिन्ह¨ंने इन सीट¨ं के लिये सहमति पत्र के साथ निर्धारित तिथि तक आवेदन किया है। संस्थागत प्राथमिकता सीट¨ं के अन्तर्गत एआईसीटीई द्वारा  स्वीकृत प्रवेश क्षमता के 10 प्रतिशत स्थान¨ं तक ही प्रवेश की कार्यवाही की जायेगी। इन सीट¨ं पर प्रवेश पश्चात संस्था द्वारा घ¨षित वार्षिक शिक्षण शुल्क ही लिया जायेगा। संस्थागत प्राथमिकता सीट¨ं के के लिये उपलब्ध संस्थान¨ं की सूची अ©र उनके द्वारा इन सीट¨ं पर प्रवेशित अभ्यर्थिय¨ं से लिये जाने वाला शिक्षण शुल्क तथा विस्तृत प्रक्रिया वेबसाइट ूूू.कजम.उचवदसपदम.हवअ.पदएवं ूूू.कजमउचबवनदेमससपदह.वतह पर उपलब्ध है।

महीने के प्रथम मंगलवार को मनेगा राजस्व दिवस
        
झाबुआ । राज्य शासन द्वारा प्रत्येक माह के प्रथम मंगलवार को राजस्व दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया है। राजस्व विभाग से संबंधित कार्यों को समय-सीमा में पूरा करने और नागरिकों को समय पर सुविधाएँ उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से यह निर्णय लिया गया है। प्रदेश में सभी राजस्व न्यायालयों में एक वर्ष से अधिक समय से लंबित प्रकरणों की सूची तैयार कर आपसी सहमति से निराकृत करने के प्रयास किये जायेंगे। यदि आपसी सहमति से निराकृत नहीं हो पाते हैं, तो 10 दिन में तिथि निर्धारित कर गुण-दोष के आधार पर प्रकरण निराकृत करने के निर्देश दिये गये हैं। इसका उद्देश्य एक वर्ष से अधिक समय के सभी प्रकरणों का निराकरण सुनिश्चित करना है। नामांतरण, बँटवारा और सीमांकन के लंबित प्रकरणों की समीक्षा राजस्व दिवस में की जायेगी। जिन प्रकरणों में स्थल निरीक्षण जरूरी है, उनमें तिथि निर्धारित कर शीघ्र निरीक्षण करवाया जायेगा। राजस्व दिवस पर एक माह से अधिक की समयावधि से लंबित प्रत्येक प्रकरण का संक्षिप्त प्रतिवेदन लिया जायेगा। त्वरित निराकरण वाले राजस्व मामले जैसे आदेशों की प्रविष्टि पोर्टल पर करना, खसरा/नक्शा/राजस्व प्रकरण की नकल देना, ऋण पुस्तिका प्रदान की जाना, प्रमाण-पत्र बनाया जाना आदि प्रकरणों का निराकरण राजस्व दिवस के दिन ही करें। पीठासीन अधिकारियों द्वारा विगत माह में राजस्व प्रकरणों में पारित आदेशों के अमल की समीक्षा की जायेगी। प्रत्येक राजस्व दिवस पर सभी पीठासीन अधिकारी अपने अधिकार क्षेत्र के अंतर्गत सी.एम. हेल्पलाइन के 5 प्रकरण, जिनमें आवेदक द्वारा असंतुष्टि दर्ज कराई गई है, की व्यक्तिगत सुनवाई करेंगे। कलेक्टर्स को निर्देशित किया गया है कि राजस्व दिवस पर सभी पीठासीन अधिकारियों एवं अधीनस्थ राजस्व अमले को अन्य सभी कार्यों से मुक्त रखा जाये। राजस्व दिवस पर सभी राजस्व निरीक्षक एवं पटवारी बस्ता सहित तहसील मुख्यालय पर उपस्थित रहेंगे। किसी भी नागरिक का कार्य तहसील या अनुविभाग कार्यालय में लंबित हो, तो वह राजस्व दिवस पर उपस्थित होकर आवेदन कर सकेगा। आवेदनों के निराकरण की जानकारी आवेदक को अनिवार्य रूप से दी जायेगी।

राजस्व दिवस की प्राथमिकताएँ एवं लक्ष्य
तहसील/अनुविभाग अंतर्गत विगत माह की राजस्व विभाग संबंधी समस्याओं का निराकरण। निराकरण संभव होने के बाद भी लंबित रहने वाले प्रकरणों का चिन्हांकन। एक माह से अधिक लंबित सामान्य प्रकरणों का निराकरण।सी.एम. हेल्पलाइन में लंबित एवं असंतुष्टि वाले प्रकरणों में शिकायतकर्ता से समक्ष में चर्चा कर समाधान करना। राजस्व दिवस पर प्राप्त आवेदन-पत्रों का निराकरण करना। राजस्व विभाग द्वारा किये जा रहे कार्यों की जानकारी देना। राजस्व संबंधी कार्यों में विश्वसनीयता और गुणवत्ता बढ़ाना।

लक्ष्य पूर्ति करने वाले जिले, जनपद और ग्राम पंचायत होंगे पुरस्कृत
        
झाबुआ । प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) में उत्कृष्ट कार्य करने वाले जिले, जनपद और ग्राम पंचायतों को पुरस्कृत किया जाएगा। जिला स्तर पर 31 दिसम्बर तक 2 तिहाई लक्ष्य पूर्ति करने वाले प्रत्येक जिले को 2.50 लाख रुपये, जनपद स्तर पर 80 प्रतिशत आवास पूर्ण करने वाली प्रत्येक जनपद को एक लाख रुपये तथा शत-प्रतिशत लक्ष्य पूर्ति करने वाली ग्राम पंचायत को पंच-परमेश्वर योजना के तहत सी.सी. सड़क और पक्की नाली निर्माण के लिए तीन लाख रुपये का अतिरिक्त आवंटन प्रदान किया जाएगा।

मलेरिया होने पर खून की जांच अवश्य करवाएं, बारिश के मौसम में होने वाली बीमारियां और उनसे बचाव के उपाय
       
झाबुआ । बारिश के मौसम में दूषित जल के उपयोग के कारण होने वाली बीमारियां ही मुख्य रूप से देखी जाती हंै। इस दौरान उल्टी, दस्त, पेचिश, हैजा, टायफाइड, पीलिया, कृमि संक्रमण, त्वचा एवं आंखों के रोग, मच्छरों एवं मक्खियों से फैलने वाले रोग प्रमुख हैं। मलेरिया से बचाव हेतु घर के आसपास जल जमा न होने दें और रूके हुए पानी में मिट्टी का तेल या जला हुआ ऑइल डालें। अपने घरों के कूलर, फूलदान, फ्रीज, ट्रे आदि को सप्ताह में एक बार अवश्य साफ करें। सोते समय मच्छरदानी का उपयोग करें। कीटनाशक का छिडकाव करवायें। मलेरिया रोग हो जाने पर खून की जांच अवश्य करायें और चिकित्सकों की सलाह से पूर्ण उपचार लिया जाना चाहिये।

दूषित पानी का उपयोग बिल्कुल न करें
बारिश के दौरान दूषित पानी के कारण प्रायः दस्त रोग फैलता है और यह मुख्य रूप से बच्चों में अधिक होता है। इस दौरान सबको शुद्ध पेयजल का ही उपयोग करना चाहिये और जहां तक हो सके पानी उबालकर एवं छानकर पीने में उपयोग में लाना चाहिये। दस्त रोग की रोकथाम के लिये शुद्ध पेयजल एवं शुद्ध भोजन का उपयोग करना चाहिये। सड़े-गले फल एवं खाद्य पदार्थों का उपयोग न करें और खाना खाने से पहले एवं शौच के बाद साबुन से अवश्य हाथ धोएं। खुले में शौच न करें और शौचालय का उपयोग किया जाये। घर के आसपास साफ-सफाई रखें। दस्त लग जाने पर ओआरएस एवं जिंक टेबलेट का उपयोग चिकित्सक की सलाह के अनुसार किया जाये। खाने-पीने की वस्तुओं को ढंककर रखा जाये। मक्खियों से बचाव किया जाये। हरी सब्जी एवं फलों का उपयोग करने के पहले साफ पानी से धोकर उसका उपयोग किया जाये।

आंखों के रोग एवं खुजली होने पर साफ तोलिये या रूमाल का ही उपयोग करें
वर्षा ऋतु में होने वाली बीमारियों में कई लोगों को आंखों में रोग हो जाता है और खुजली आदि होती है। इस दौरान आंखों में खुजली एवं आंखें लाल हो जाने एवं सफेद व पीले रंग का पदार्थ जमा होने के कारण आईफ्लू, कंजक्टिवाईटिस या आंखें आने के रूप में जाना जाता है। यह रोग एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है और इसका कारण संक्रमित उंगलियां, तौलिया, रूमाल आदि का उपयोग एक-दूसरे व्यक्ति के बीच में होना भी प्रमुख कारण है। इन सबसे बचने के लिये आंखें आने पर बार-बार अपने हाथ एवं चेहरे को शुद्ध ठण्डे पानी से धोयें, परिवार के सभी सदस्य अपने अलग-अलग तोलिये एवं रूमाल का उपयोग करें। स्वच्छ पानी का उपयोग करें और बार-बार आंखों को हाथ न लगायें। धूप के चश्मे का प्रयोग किया जाये और चिकित्सक को दिखाया जाये।

आगामी नेषनल लोक दिनांक 08 सितम्बर 2018 को

झाबुआ । राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली के निर्देषानुसार एवं माननीय जिला न्यायाधीष/अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण झाबुआ श्री ए.के. तिवारी के मार्गदर्षन में नेषनल लोक अदालत का आयोजन दिनांक 08 सितम्बर 2018 को जिला न्यायालय झाबुआ एवं तहसील न्यायालय थांदला एवं पेटलावद में किया जावेगा। नेषनल लोक अदालत में न्यायालय के लंबित व्यवहार वाद, राजीनामा योग्य आपराधिक प्रकरण, राजस्व प्रकरण (जो जिला कोर्ट में लंबित हो), भूमि अधिग्रहण संबंधी प्रकरण, चैक बाउन्स (धारा 138 एन.आई.एक्ट), मोटर दुर्घटना दावा क्लेम प्रकरण,  विद्युत एवं जल बिल के प्रकरण, वैवाहिक प्रकरण, बैंक वसूली के प्रकरण इत्यादि एवं प्रीलिटिगेषन प्रकरण बैंक वसूली, विद्युत बिल, नगर पालिका के सम्पत्तिकर, जलकर, बी.एस.एन.एल. बिल इत्यादि प्रकार के प्रकरणों का निराकरण आपसी सुलह समझौता के माध्यम से किया जायेगा।  अतः पक्षकरों से अपील है कि उक्त लोक अदालत में प्रकरणों का निराकरण करवाकर लोक अदालत का लाभ लेवें।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...