बेगूसराय के सौजन्य से एक और काँवरिया सेवा शिविर का उद्घाटन। - Live Aaryaavart

Breaking

गुरुवार, 2 अगस्त 2018

बेगूसराय के सौजन्य से एक और काँवरिया सेवा शिविर का उद्घाटन।

kanwad-sewa-inaugrated-begusaray
बेगूसराय (अरुण कुमार) बेगूसराय काँवरिया संघ के सौजन्य से कल एक और काँवरिया सेवा शिविर का उद्घाटन किया गया।इस सेवा शिविर के उद्घाटन कर्ता बेगूसराय बीहट निवासी,वर्तमान भागलपुर डी आई जी श्री विकाश बैभव के कर कमलों द्वारा फीता काटकर सम्पन्न हुआ।मुख्य अतिथि के रुप में बाँका एस पी श्री चन्दन कुशवाहा जी थे,स्वागत भाषण प्रभाकर राय ने दी और मंच संचालन का कार्यभार बेगूसराय के चर्चित कवि श्री प्रफुल्ल चन्द्र मिश्रा ने सम्भाला।संचालन के दौरान मिश्रा जी ने दर्शकों से काफी शाबासी और तालियाँ बटोरी।साथ ही अपने काव्यपाठ से दर्शक के रुप में काँवरियों और स्थानीय दर्शकों का मन मोह लिया।मंचासीन उद्घाटन करता विकास बैभव,मुख्य अतिथि चन्दन कुशवाहा के साथ,प्रफुल्ल चन्द्र मिश्रा,प्रभाकर राय आदि सभी को मिथिला पेन्टिंग द्वारा निर्मित शिव-पार्वती की तस्वीर बनी शॉल से सम्मानित किया गया।यह शिविर पुरे एक महीना यानी कि श्रावणी पूर्णमासी तक चलाई जाएगी।इस शिविर का मुख्य उद्देश्य शिविर में विश्राम करने वालों को निःशुल्क सेवा जैसे:-दवाई,गरम पानी,ठंढा पानी के साथ साथ दोनो वक्त का भोजन और फलाहारी को फल,मेवा आदि निःशुल्क प्रदान किया जाएगा।व्यवस्थापक के रुप में नन्दन चौधरी,शंकर सिंह (मुखिया)अमृत जी,सुभाष जी,सुरेन्द्र सिंह (सेठ जी) मणिकान्त बाबू,नारायण जी और मो•शहाबुद्दीन जी,कमलेश बाबू (जी डी कॉलेज)के विभागाध्यक्ष और अतिथि पत्रकार सुधांशु जी ने मंच की गरिमा में चार चान्द लगा लगाया।और अंत मे कुन्दन जी धन्यवाद ज्ञापित करते हुए आभार प्रकट किया। उपर्युक्त चर्चित शिविर का उद्घाटन सुईया पहाड़ से कुछ ही दूरी पर शिवलोक में किया गया। 

begusarai-road-and-water
अब एक झाँकी बेगूसराय नगर निगम पर यदि डालें तो अभी बारिश के शुरुआती दौर में ही नाव चलने जैसी स्थिति बन जाती है तो आगे जब बारिश अपने पूर्ण जवानी पर होगा तो क्या होगा ये कहा नहीं जा सकता है परन्तु प्रशासनिक व्यवश्था और नगर आयुक्त का ध्यान इस ओर जाता भी है या नहीं,और अगर जाता है तो ये परेशानी आज की नहीं आज से पूर्व से ही यह परेशानी बरकरार है और आम जनता इसका भुक्तभोगी जो चुपचाप इस परेशानियों को झेल रहा है।मगर यहाँ के कोई भी एम एल ए,एम पी,सांसद आदि को इस बात को लेकर कोई फिक्र ही नहीं है।बेचारी निरीह जनता सिर्फ बारिश की ही नहीं अनेकों प्रकार के परेशानियों से परेशान ही रहने पर बिवस है।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...