बिहार : मान-सम्मान के रूप में जमीन लेने सैकड़ों की संख्या में महिलाएं प्रखंड तक पहलकदमी की - Live Aaryaavart

Breaking

मंगलवार, 7 अगस्त 2018

बिहार : मान-सम्मान के रूप में जमीन लेने सैकड़ों की संख्या में महिलाएं प्रखंड तक पहलकदमी की

  • और खुद को रोक नहीं पाये अंचल पदाधिकारी राजेश कुमार जमीन देने का आश्वासन कर डाला 
  • ग्रामीनों ने कहा कि कहीं आश्वासन की आशा में आवासीय भूमिहीन न लटक जाए 
landless-run-to-take-land-slip
समेली,(कटिहार)। इस प्रखंड के मलहरिया पंचायत में है ग्राम खोटा। काफी संख्या में आवासीय भूमिहीन परिवार रहते हैं। इंडो ग्लोबल सोशल सर्विस सोसायटी के सॉल थ्री के सहयोग से गैर सरकारी संस्था प्रगति ग्रामीण विकास समिति द्वारा कार्य किया जाता है। खोटा ग्राम के आवासीय भूमिहीनों ने भूमि अधिकार मोर्चा गठित किया है। मोर्चा के सदस्यों ने155भूमिहीन परिवार का सर्वेक्षण कार्य।जिनके पास खुद की जमीन है। फिलवक्त अधिकांश भूमिहीन अन्यान्य की जमीन पर तिनका-तिनका जोड़ -जोड़कर झोपड़ी बनाकर रहते हैं।जो पूर्णत:अस्थाई है।बस जमीन वालों की मनमर्जी पर रहते हैं। वहीं कुछ लोग बिहार सरकार की जमीन पर रहते हैं। तो कुछ लोग सड़क के किनारे अपना जीवन गुजर-वसर कर रहे हैं । इस गांव के दलित-महादलित व अन्य पिछड़े समुदाय के भूमिहीन परिवार नारकीय जीवन जीने को बाध्य हैं। अपनी समस्याओं को लेकर तथा मानवाधिकार संबंधी मुद्दे लेकर सावन की दूसरी सोमवारी को भूमि अधिकार मोर्चा के सैकड़ों की संख्या में आवासीय भूमिहीन परिवार खासकर महिलाओं ने आवासीय भूमि की मांग को लेकर अंचल पदाधिकारी, समेली से मिलकर मांग-पत्र सौंपा । ग्रामीण महिलाओं की समस्या को देख कर कक्ष से बाहर निकलकर अंचल पदाधिकारी लोगों से रू-ब-रू हुए। उन्होंने मांग पत्र और आवासीय भूमिहीनों की सूची को गंभीरता से लिया और कहा जांचोपरांत इन परिवारों को भूमि आवंटन देने की प्रक्रिया शुरू करने का आश्वासन दिया।  प्रगति ग्रामीण विकास समिति के समेली प्रखंड के प्रखंड समन्वयक राज कुमार भारती, यूथ पावर के अध्यक्ष हरि प्रसाद मंडल, मौर्चा की तिलिया देवी,सोमन देवी, बनरी देवी, रामपरी देवी, विद्यानंद ऋषि आदि सदस्यों ने मिलकर अंचल पदाधिकारी समेली को आवासी भूमिहीनों की सूची और मांग पेश किए।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...