विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में सायना, सिंधु, प्रणीत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 3 अगस्त 2018

विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में सायना, सिंधु, प्रणीत

saina-sindhu-parinit-quarter-final
नानजिंग (चीन), 2 अगस्त, भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल, पी.वी. सिंधु और बी.साई. प्रणीत ने गुरुवार को सफलता हासिल करते हुए विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया है। इसके अलावा, मिश्रित युगल जोड़ी अश्विनी पोनप्पा और सात्विकसाईराज रेंकीरेड्डी ने भी क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई है। हालांकि, भारतीय पुरुष खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत को हार का सामना कर चैम्पियनशिप से बाहर होना पड़ा। डेनमार्क के खिलाड़ी हेंस क्रिस्टियन विटिंग्स से पिछले तीनों मैचों में मिली हार का बदला पूरा करते हुए प्रणीत ने क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया है। विटिंगस और प्रणीत के बीच हुआ, यह चौथा मुकाबला था, जिसमें भारतीय खिलाड़ी ने जीत हासिल की। वर्ल्ड नम्बर-26 प्रणीत ने पुरुष एकल वर्ग के प्री-क्वार्टर फाइनल में विटिंगस को 38 मिनटों के भीतर सीधे गेमों में 21-13, 21-11 से मात देकर अंतिम-8 में जगह बनाई। विटिंगस के खिलाफ 2013 में फ्रेंच ओपन, 2016 में ऑल इंग्लैंड ओपन और 2017 में डेनमार्क ओपन में खेले गए मुकाबले में प्रणीत ने हार का सामना किया था। प्रणीत का सामना अब अंतिम-8 में जापान के वर्ल्ड नम्बर-7 केंटो मोमोटा से होगा। मोमोटा के खिलाफ प्रणीत ने दो मैच खेले हैं और दोनों में जीत हासिल की है। पिछले साल विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप में रजत पदक जीतने वाली सिंधु ने महिला एकल वर्ग के प्री-क्वार्टर फाइनल में वर्ल्ड नम्बर-3 सिंधु ने दक्षिण कोरिया की सुंग जी ह्यून को मात दी।

सिंधु ने वर्ल्ड नम्बर-9 ह्यून को 42 मिनटों के भीतर सीधे गेमों में 21-10, 21-18 से मात देकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया है। साल 2013 और 2014 में विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप का कांस्य पदक अपने नाम करने वालीं सिंधु का सामना अब क्वार्टर फाइनल में जापान की वर्ल्ड नम्बर-6 और उनकी चिर प्रतिद्वंद्वी नोजोमी ओकुहारा से होगा। पिछले साल विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप के फाइनल में ही सिंधु को ओकुहारा के हाथों हार का सामना करना पड़ा था और इस कारण वह स्वर्ण पदक हासिल करने से चूक गईं। विश्व जूनियर चैम्पियन रहीं भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल ने गुरुवार को अपनी चिर प्रतिद्वंद्वी थाईलैंड की दिग्गज रतचानोक इंतानोन को हराकर विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया है, जहां उनका सामना स्पेन की कैरोलीना मारिन से होगा। पिछले साल इस चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाली वर्ल्ड नम्बर-10 सायना ने आठवीं बार क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई है। उन्होंने 2015 में रजत पदक जीता था। सायना ने 47 मिनट तक चले मैच में वर्ल्ड नम्बर-4 रतचानोक को सीधे गेमों में 21-116, 21-19 से मात दी। वर्ल्ड नम्बर-39 डारेन लियू के हाथों एक बार फिर उलटफेर का शिकार होकर श्रीकांत चैम्पियनशिप से बाहर हो गए। 2013 के बाद से अब श्रीकांत का सामना डारेन से हुआ और एक बार फिर मलेशिया के खिलाड़ी ने बाजी मारी।

इससे पहले, डारेन ने 2012 मलेशिया ओपन और 2013 मलेशिया ग्रांप्री में वर्ल्ड नम्बर-10 श्रीकांत को मात दी थी। उन्होंने गुरुवार को खेले गए विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप के पुरुष एकल वर्ग प्री-क्वार्टर फाइनल में खराब फॉर्म से जूझ रहे श्रीकांत को 41 मिनटों के भीतर सीधे गेमों में 21-18, 21-18 से मात देकर बाहर का रास्ता दिखाया। इसके अलावा, बड़ा उलटफेर करते हुए भारतीय मिश्रित युगल जोड़ी अश्विनी पोनप्पा और सात्विक साईराज रंकीरेड्डी ने गुरुवार को विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया है। दोनों पहली बार मिश्रित युगल वर्ग के अंतिम-8 में पहुंचे हैं। सात्विक-अश्विनी की वर्ल्ड नम्बर-40 जोड़ी ने मिश्रित युगल के तीसरे दौर में मलेशिया की शेवोन जेमी लाई और गोह सून हुआत की जोड़ी को मात दी। भारतीय जोड़ी ने पहला गेम 20-22 से हारने के बाद बाकी के दोनों गेमों में शेवोन और सून की वर्ल्ड नम्बर-7 जोड़ी को 21-14, 21-6 से हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया। क्वार्टर फाइनल में अश्विनी और सात्विक की जोड़ी का सामना चीन की झेंग सुवेई और हुआंग याकियोंग से होगा। पोनप्पा ने कहा, "हम इस बात से खुश हैं कि हमने इतना लंबा रास्ता तय किया है, लेकिन अभी यह सफर समाप्त नहीं हुआ है और अभी लंबा सफर बाकी है। कल (शुक्रवार) का मैच निश्चित तौर पर हमारे लिए महत्वपूर्ण है। इसलिए, हम पूरी तैयारी के साथ इस मैच में उतरेंगे।" सात्विक ने कहा, "हमने अपने प्री-क्वार्टर फाइनल मैच से पहले झेंग और हुआंग का मैच देखा था और मैं उनके खेलने के तरीके को देखकर आत्मविश्वास से भर गया हूं। उन्हें हराने के लिए तैयार हूं।"
एक टिप्पणी भेजें