बिहार : तीन दिवसीय प्रशिक्षण खत्म - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 10 अगस्त 2018

बिहार : तीन दिवसीय प्रशिक्षण खत्म

three-day-training
समेली : प्रगति ग्रामीण विकास समिति के सचिव प्रदीप प्रियदर्शी जी के निर्देश पर डूमर पंचायत में रहने वाले आलोक कुमार और कुर्सेला प्रखंड क्षेत्र निवासी प्रदीप कुमार कोलकाता गए थे.वहां से एम.आई. एस.का प्रशिक्षण लेकर वापस आ गए.  प्रदीप कुमार ने कहा कि तीन दिवसीय एम.आई.एस.का प्रशिक्षण  राधानाथ प्रसाद  चौधरी,52 सील लाइन टेंगड़ा में स्थित सेवा केंद्र ,कोलकाता में किया गया था.इसमें विभिन्न जगहों से आकर 45 एन.जी. ओ.प्रतिनिधिगण शामिल हुए. बता दें कि गैर सरकारी संस्था आई.जी.एस.एस.एस.( इंडो ग्लोबल  सोशल सर्विस)भारत देश के पन्द्रह राज्य मे कार्यरत है. इस समय उनका सॉल lll नामक कार्यक्रम संचालित है.जो मुख्यत: आजीविका को वैकल्पिक आधार स्तंभ देने की योजना है. वह चाहे कृषि का हो अथवा गैर कृषि का दोनों को मिलाकर आमदनी में इजाफा करना है.यह सोच है कि एक साल की प्रायलेट प्रोजेक्ट केवल 10 प्रतिशत ही बदलाव हो तो प्रोजेक्ट के लिए हितकर साबित होगा. यह प्रोजेक्ट लक्ष्य समूह की पहचान,गांव की पहचान व परिणाम की ओर इशारा करने वाली ऐप के सहारे संचालित है. कोई 20 गांव का सर्वे किया गया है.जो अनुसूचित जाति,अनुसूचित जन जाति,अत्यंत पिछड़ी जाति के हैं.कृषि व गैर कृषि कार्य पर फोकस किया गया है.जो 20 गांवों में रहने वालों का सर्वे किया गया है.उसे 1000 के आसपास रखा गया है. इन्हीं निर्धारित लक्ष्य समूह के साथ कार्य करना है.हां बहुत ही कम सर्वे के बाहर के लोगों के साथ कार्य किया जा सकता है. अगर कोई लक्ष्य समूह से  मर जाते हैं तब ही  क्लिक कर डिलिट किया जा सकता है. ऐसा करने के बाद नाम विलुफ्त हो जाएगा. पलायन व सर्विस वालों को क्लिक नहीं करना है. प्रोजेक्ट किस तरह से तैयार किया जाता है.उसके बारे में बताया.काफी चर्चा की गयी. इनपुट व आउट का प्रपत्र दिया गया.इसे भरकर देना था.जो सभी के लिए टफ कार्य था.एन.जी.ओ.चीफ को सर्वे और प्रपत्र को अंतिम लूक देने को कहा गया.जो सॉल lll के अधिकारी कर रहे हैं. एम.आई.एस.में ऐप है.उसका फिडिग करने को बताया गया और स्वयं फिड करने को कहा गया.मोबाइल में ऐप है. लेपटॉप से हिंदी और अंग्रेजी में रिपोर्ट भेजी जा सकती है.पी.सी.और पार्टनर रिपोर्ट प्रेषित करेंगे.लास्ट लूक पार्टनर का ही होगा.फील्ड कोर्डिनेटर फील्ड का अप टू डेट करते रहे.ऑफ लाइन पर कार्य करेंगे.बाद में ऑन लाइन करेंगे.इनका ई-मेल बनेगा. जो हमेशा के लिए रहेगा.पासवर्ड को बदला जा सकता है.ऑन लाइन हो जाने के बाद पीसी और पार्टनर बदलाव कर सकेंगे. जो भी कार्यक्रम हुआ है उसे एकाउंटेंट फिड करेंगे.कार्यक्रम नहीं हुआ तो सॉल lll से अनुमति लेकर किया जा सकता है.कोई परेशानी होने पर संपर्क करने को कहा गया है.
एक टिप्पणी भेजें