स्कूल परिसर में नाबालिग छात्रा से गैंगरेप, नौ लोग गिरफ्तार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 18 सितंबर 2018

स्कूल परिसर में नाबालिग छात्रा से गैंगरेप, नौ लोग गिरफ्तार

gang-rape-in-school-9-arrest
देहरादून (उत्तराखंड), 18 सितंबर,  जिले के सहसपुर क्षेत्र में एक निजी आवासीय विद्यालय परिसर में चार छात्रों द्वारा एक नाबालिग छात्रा से कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार किए जाने के मामले में पुलिस ने आरोपी छात्रों सहित नौ लोगों को गिरफ्तार किया है। उत्तराखंड के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) अशोक कुमार ने बताया कि एक महीने पहले हुई यह घटना सामने आने पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपी छात्रों, एक आया और स्कूल प्रबंधन के कर्मचारियों सहित कुल नौ लोगों को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि 10वीं और 12 वीं में पढने वाले चारों आरोपी छात्र भी नाबालिग हैं। उनकी उम्र 16—18 साल के बीच बतायी जा रही है। पुलिस ने इस संबंध में स्कूल की निदेशक लता गुप्ता, प्रधानाचार्य जितेन्द्र शर्मा, स्कूल के प्रशासनिक अधिकारी दीपक मल्होत्रा, उनकी पत्नी तनु मल्होत्रा और स्कूल की आया मंजू को गिरफ्तार किया है। सोलह वर्षीय पीड़िता दसवीं की छात्रा है। उसके गर्भवती होने की बात पता चलने पर उसी बोर्डिंग स्कूल में पढने वाली उसकी बड़ी बहन ने अपने एक रिश्तेदार को इस बारे में बताया जिन्होंने पुलिस में शिकायत की। पुलिस को प्राप्त शिकायत के मुताबिक यह घटना पिछले माह 14 अगस्त की है।  प्राप्त जानकारी के अनुसार, गत 14 अगस्त को पीड़िता का एक सहपाठी उसे छात्रावास के पीछे यह कहकर बुलाकर ले गया कि वहां उसे एक श़िक्षक बुला रहे हैं । जब वह वहां पहुंची तो एक अन्य सहपाठी तथा दो अन्य सीनियर छात्र पहले से वहां पहले से मौजूद थे । ये लोग उसे जबरदस्ती झाड़ियों में ले गये और उसके साथ कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म किया । छात्रा की बड़ी बहन ने छात्रावास की आया से लेकर स्कूल प्रबंधन के अधिकारियों तक को घटना के बारे में बताया। लेकिन सभी ने उसे मुंह बंद रखने को कहा और इसकी शिकायत करने पर स्कूल से निकाल देने की धमकी तक दी। कुछ दिन पहले तबियत बिगड़ने पर स्कूल प्रबंधन उसे एक निजी अस्पताल ले गया जहां उसके गर्भवती होने का पता चला । यह भी आरोप है कि प्रबंधन ने बालिका का गर्भपात कराने का भी प्रयास किया लेकिन इसी बीच पीड़िता की बहन ने देहरादून में रह रहे अपने एक रिश्तेदार को जानकारी दे दी । 
एक टिप्पणी भेजें