पूर्णियां : हर घर जल नल योजना में बरती जा रही अनियमितता, नहीं लगाए जा रहे गुणवत्तापूर्ण सामान - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 19 सितंबर 2018

पूर्णियां : हर घर जल नल योजना में बरती जा रही अनियमितता, नहीं लगाए जा रहे गुणवत्तापूर्ण सामान

- नगर निगम में हर घर जल नल योजना के द्वारा वार्ड नंबर 7 में जो कार्य कराया जा रहा है वहां व्यापक रूप से विसंगतियां कार्यकारी एजेंसी के द्वारा अपनाई जा रही है
- जिसके कोपभाजन का शिकार उक्त वार्ड के वार्ड पार्षद को भी होना पड़ रहा है

har-ghar-nal-jal-purniyan
पूर्णिया : नगर निगम क्षेत्र के सभी वार्डों में सात निश्चय योजनान्तर्गत हर घर जल नल योजना से आमजनों को बिहार राज्य जल पर्षद के द्वारा स्वच्छ जल मुहैया कराना है। खासकर जहां जहां फ्लोराइड, अार्सेनिक व आयरन प्रभावित टोले या फिर वार्ड हैं वहां रिमुवल ट्रिटमेंट प्लांट लगाकर हरेक घरों में स्वच्छ जल पहुंचाना है और इस कार्य में सरकारी तौर पर लगातार चरणबद्ध तरीके से राशि भी उपलब्ध कराई जा रही है। लेकिन दुर्भाग्य की बात यह है कि अबतक नगर निगम के सिर्फ कुछ वार्डों में ही स्वच्छ जलापूर्ति के नाम पर पाइप और टोंटी लगाने का कार्य संबंधित एजेंसी के द्वारा किया गया है। जो कि विसंगतियों से युक्त है। कई वार्डों में तो अबतक पानी के भंडारण के लिए जलमिनार निर्माण को ले नगर निगम द्वारा जमीन भी उपलब्ध नहीं कराई गई है। जहां से वार्ड में जल आपूर्ति की पाइपलाइन गुजरेगी। जिस कारण कई जगहों पर जलमिनार का निर्माण अबतक नहीं हो पाया है। 

...बरती जा रही है अनियमितताएं : 
बता दें कि नगर निगम में हर घर जल नल योजना के द्वारा वार्ड नंबर 7 में जो कार्य कराया जा रहा है वहां व्यापक रूप से विसंगतियां कार्यकारी एजेंसी के द्वारा अपनाई जा रही है। जिसके कोपभाजन का शिकार उक्त वार्ड के वार्ड पार्षद को भी होना पड़ रहा है। कार्यकारी एजेंसी के द्वारा कार्य में गुणवत्तायुक्त पाइप, नल आदि सामानों की आपूर्ति नहीं की जा रही है। जगह जगह आवश्यकतानुसार घर तक जलापूर्ति के लिए पाइप की भी आपूर्ति नहीं की जा रही है। साथ ही पीतल के नलके की जगह प्लास्टिक की टोंटी लगाई जा रही है। जहां जहां जलापूर्ति के लिए सड़क क्रॉसिंग है वहां सड़क को क्षतिग्रस्त कर छोड़ दिया जा रहा है और सड़क के जीर्णोद्धार का कार्य भी नहीं कराया जा रहा है। इन विसंगतियों के लिए आम जनता वार्ड पार्षद को ही दोषी मान रही है। 

...पार्षदों को नहीं है कोई जानकारी : 
इस योजना के संबंध में अबतक किसी भी तरह की कोई जानकारी वार्ड पार्षदों को मुहैया नहीं कराई गई है और न ही किसी बोर्ड बैठक में इसकी चर्चा की गई है। उक्त कार्य को तीन चरणों में पूरा किया जाना है। कई जगहों पर तो यह कार्य शुरू हुआ है और कई जगह इसकी सुगबुगाहट तक नहीं हो पाई है। जबकि जल नल के लिए नगर निगम में विगत लगभग दो वर्षों से कार्य चल रहा है। जिस कारण जहां कार्य नहीं हो पा रहा है वहां के पार्षदों को आम जनता के कोपभाजन का शिकार होना पड़ रहा है। इस संबंध में वार्ड नंबर 22 की पार्षद सरिता राय ने कहा कि कार्यकारी एजेंसी मनमाने तरीके से अपने लाभ के अनुसार अपना कार्य कर रही है। जबकि ऐसा ज्ञात हुआ है कि कार्यकारी एजेंसी इस संदर्भ में लगातार प्रगति रिपोर्ट सरकार को भेज रही है तो फिर क्या वजह है कि इस संदर्भ में न तो कोई समीक्षा और न ही अबतक किसी बोर्ड की बैठक में अबतक पार्षदों के संज्ञान में मामले को लाया गया। यह दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने नगर आयुक्त से इस संदर्भ में आवश्यक जांच कराए जाने व आगामी बोर्ड बैठक में इस प्रस्ताव को रखने की मांग की है। साथ ही उन्होंने जलापूर्ति योजना की जांच कर आवश्यक कार्रवाई किए जाने की भी मांग की। 

...कराई जाएगी जांच : 
शहर में जलापूर्ति योजना के तहत हो रहे कार्यों की जांच कराई गई है। कुछ दिनों पूर्व ही जलमिनार निर्माण की स्थलीय जांच की गई थी। जिसके बाद त्वरित कार्रवाई के तहत कार्य के निष्पादन का आदेश संबंधित जांच एजेंसी को दिया गया है। पार्षदों की शिकायत पर एजेंसी को ससमय कार्य पूरा किए जाने का दिशा निर्देश दिया जाएगा। 
एक टिप्पणी भेजें