मधुबनी : डी.आर.डी.ए. सभागार में हिन्दी दिवस समारोह का आयोजन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 14 सितंबर 2018

मधुबनी : डी.आर.डी.ए. सभागार में हिन्दी दिवस समारोह का आयोजन

hindi diwas bihar
मधुबनी (डेस्क) 14, सितंबर 18, श्री राजेश्वर प्रसाद,वरीय उपसमाहर्ता ,मधुबनी की अध्यक्षता में शुक्रवार को डीआरडीए स्थित सभागार में हिन्दी विकास परिषद एवं राजभाषा विभाग,मधुबनी के  द्वारा हिन्दी दिवस समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन श्री राजेश्वर प्रसाद,वरीय उपसमाहर्ता ,मधुबनी के द्वारा किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री राजेष रंजन पांडेय,अध्यक्ष,हिन्दी विकास परिषद,मधुबनी के द्वारा किया गया। मंच का संचालन श्री उदय जायसवाल के द्वारा किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते वरीय उपसमाहर्ता श्री प्रसाद ने कहा कि हिन्दी भाषा सभी भाषाओं में सबसे सहज और सरल है। यह भारत जैसे विषालतम राष्ट्र को एक कोने से दूसरे कोने को जोड़ने और एकजुट रखने का सबसे बेहतर माध्यम है। हिन्दी भाषा सभी भाषाओं में सबसे पारदर्शी भाषा है। इससे अन्य सभी भाषाएं जुड़ी हुई है। उन्होंने कहा कि हिन्दी भाषा का व्यापक प्रभाव स्वतंत्रता आंदोलन में देखने को मिला। जिसमें लोगों को विभिन्न काव्य रचनाओं और अन्य माध्यमों से जागरूक करने का काम किया गया। उन्होंनें कहा कि न्यायालयों के फैसले की प्रति भी हिन्दी में उपलब्ध हो, एैसी व्यवस्था होनी चाहिए। ताकि लोगों को समझने में आसानी हो सके। कार्यक्रम में वरीय उपसमाहर्ता, श्री प्रसाद द्वारा डाॅ0 रजनीवाला अग्रवाल,पूर्व प्राचार्य,महिला काॅलेज,मधुबनी एवं श्री कार्तिक कुमार,संवाददाता को पाग-दोपट्टा से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में साहित्यकारों द्वारा काव्य पाठ भी किया गया। इस अवसर पर प्रो. जे.पी. सिंह,श्री उदय जायसवाल,डाॅ. रजनीवाला अग्रवाल,प्रो. नरेन्द्र नारायण सिंह निराला,श्री जयोति रमण झा, श्रीमानेश्वर मनुज, श्री धर्मेन्द्र कुमार,श्री भोलानंद झा, श्रीरामेश्वरनिशांत , श्री अरविंद प्रसाद, श्रीमती रानी झा,श्री पंकज सत्यम समेत दर्जनों सहित्यकार एवं बुद्धिजीवीगण उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...