शिवराज चौहान ने राहुल गांधी पर तंज कसा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 16 सितंबर 2018

शिवराज चौहान ने राहुल गांधी पर तंज कसा

shivraj-sarcastic-over-rahul-gandhi
राजगढ़, (मध्य प्रदेश) 16 सितम्बर, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की भोपाल यात्रा के एक दिन पहले रविवार को उन पर तंज कसते हुए कहा कि जिस नेता को यह भी नहीं पता कि मिर्ची के पौधे में मिर्च सीधी लगती है या उल्टी, आज उनको किसानी और किसान याद आ रहे हैं। जिले के नरसिंहगढ़ में एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए चौहान ने कहा, ‘‘ राहुल जी, आपकी सरकार किसानों को 18 प्रतिशत ब्याज पर कर्ज देती थी। हमने ब्याज जीरो प्रतिशत कर दिया। अपने शासन काल में किसानों के लिये कुछ नहीं करने वाली कांग्रेस को किसानों की बात करने का कोई हक नहीं है।’’ चौहान प्रदेशभर में निकाली जा रही अपनी जन आशीर्वाद यात्रा के तहत रविवार को राजगढ़ जिले में पहुंचे थे।  प्रदेश में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा की केंद्र और प्रदेश सरकारों ने किसानों को समृद्ध बनाने का संकल्प लिया है। उस दिशा में हम लगातार आगे बढ़ रहे हैं। अलग-अलग योजनाओं और प्रोत्साहन के रूप में भाजपा की प्रदेश सरकार ने 32,701 करोड़ रूपये किसानों के खाते में डाले हैं। चौहान ने राहुल गांधी को आड़े हाथों लेते हुए उन पर सवालों की बौछार कर दी। उन्होंने भाजपा और कांग्रेस की सरकारों में अंतर बताते हुए कहा कि सरकार-सरकार में फर्क होता है। कांग्रेस सरकार आई, सड़के गायब हो गयीं, हमने सड़कों का जाल बिछाया। कांग्रेस सरकार में प्रदेश में अंधेरा हो गया था, हमने 24 घंटे बिजली देने का काम किया। मुख्यमंत्री ने कहा,‘‘राहुल भोपाल आ रहे हैं, मैं उनसे पूछता हूं कि तुम्हारी सरकारों के समय प्रदेश से बिजली, पानी और सड़क क्यों गायब हो गयी थी।’’  उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने अपने शासनकाल में प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था चौपट कर एक पूरी पीढ़ी को बर्बाद करने का सबसे बड़ा अपराध किया है।

एक टिप्पणी भेजें