बेगूसराय : मुम्बई से आये संगीतकार का गिफ्टाई सभागार में भव्य स्वागत। - Live Aaryaavart

Breaking

रविवार, 21 अक्तूबर 2018

बेगूसराय : मुम्बई से आये संगीतकार का गिफ्टाई सभागार में भव्य स्वागत।

artist-awarded-begusaray
बेगूसराय (अरुण शाण्डिल्य) आज विजया दसवीं के शुभ उपलक्ष पर मुम्बई से बेगूसराय आये संगीतकार गणेश एस पाठक और गायक सागर का भव्य स्वागत गिफ्टाई फ़िल्म के सभागार में किया गया।गणेश एस पाठक ने बताया कि बेगूसराय आकर मैं खुद में बहुत ही गौरवानवित महसूस कर रहा हूँ,यहां कला की पूजा होती है और ही भी क्यों नहीं यह धरती ही दिनकर की धरती है जिन्होंने दुनियाँ के पटल पर बेगूसराय,बिहार ही नहीं बल्कि भारत का नाम उजागर किया है।इन्होंने बताया कि सागर जी के आवाज में खनक है ये यूँ ही गाते रहे तो ये भी बेगूसराय के साथ साथ बिहार का भी नाम रौशन करेंगे।आयोजन में आए "छोटकी दुल्हिन" फ़िल्म के निर्माता अमित राज से नैय फ़िल्म बनाने पर चर्चा की गई टी इन्होंने बताया कि फ़िल्म तो बनानी है और बनायेंगे भी,इंतज़ार है तो बस सही समय का।बेगूसराय में कोई भी ऐसा व्यक्ति नहीं है जिसे फ़िल्म निर्माण का ज्ञान हो,फ़िल्म कैसे बनती है इसके लिये कोरश करना पड़ता है या जिस तरह से मैं अपना जेब खर्चा ढीला करके मुम्बई का खाक छानकर शिकहा हूँ इस तरह खाक छाननेवाला भी फ़िल्म निर्माण कार्य कर सकताआ है मगर ऐसा को है ही नहीं।रही मेरी बात तो मैं फ़िल्म के लिए सही समय के इंतजार में हूँ जैसे ही मौका मिलेगा निर्माण में लग जाऊँगा फिर कोई बात छुपी थोड़े ही रहती है।जदयू अध्यक्ष अपनी बात रखते हुए बताए कि आज तो जिसजे देखो वही फ़िल्म बनाने में लगा जाता है,मगर उस फिल्म से मिलता क्या है बाद में रोने के सिवा ये तो जो बना चुके हैं वे बेहतर समैझ रहे हैं।मौके पर महालंठ और बलमा रंग रसिया के नायक भी मौजूद थे उन्हींने बताया कि फ़िल्म आनन-फानन में इसको उसको लेकर कोई भी बना लेता है मगर अभिनय क्या होता है इसका तो ज्ञान होना चाहिए।अभिनय का कोर्स है पढ़ने के बाद ही कोई सफल अभिनेता बन सकताआ है।भोला बसंत द्वारा निर्देशित और गायक सागर द्वार गाये गीतों की आज शहर में धूम मची हुई है,गायक सागर के द्वारा गया देवी भजन "माता रानी तेरी महिमा अपार"  एवं "अम्बे माँ जगदम्बे माँ"भजन काफी सराही जा रही है।मौके पर जदयू जिला अध्यक्ष भूमिपाल राय,मारक्वटिंग डिवीजन के विक्रय पदाधिकारी राजेन्द्र दास,अभिनेता सुदिर कुमार,निर्माताआ अमित राज,भोला बसंत,देवानंद सिंह,रॉकी राजा सहित अन्य कलताकारों की भी गरिमामयी उपस्थिति रही।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...