मधुबनी : भारत-नेपाल के बीच रेल यातायात शुरू कराने को लेकर स्थल निरीक्षण एवं बैठक - Live Aaryaavart

Breaking

मंगलवार, 30 अक्तूबर 2018

मधुबनी : भारत-नेपाल के बीच रेल यातायात शुरू कराने को लेकर स्थल निरीक्षण एवं बैठक

meeting-in-madhubani-for-indo-nepal-rail
मधुबनी: भारत-नेपाल के बीच पैसेंजर रेलगाड़ी चलाने के मुद्दे को लेकर मंगलवार को जयनगर(मधुबनी) स्थित नेपाली रेलवे स्टेशन का विदेश मंत्रालय,भारत सरकार एवं रेल विभाग तथा अन्य विभाग के वरीय पदाधिकारियों द्वारा निरीक्षण किया गया। इस अवसर पर विदेश मंत्रालय,भारत सरकार के श्री तरूण हुरिया,एडभाईजर(प्रोजेक्ट्स), सुश्री चित्रांगना सिंह,डी.एस.नेपाल, भारत के वाणिज्य दूतावास,बीरगंज के डाॅ. कोट्रास्वामी एम.(काॅनसुल)ई.सी.सी.,श्री आर. के गुप्ता,कंसलटेंट, श्री देवाशीष मजूमदार,ए.सी.आई.ओ.-1, कोलकाता, श्री एस.के.सिंह,डी.सी.आई.ओ.,दरभंगा, रेल मंत्रालय,भारत सरकार के श्री संजय कुमार,सी.टी.पी.एम,ईस्ट सेन्ट्रल रेलवे,हाजीपुर,बिहार, एस.एस.बी. राजनगर के समादेष्टा, श्री अजय कुमार, केन्द्रीय बोर्ड अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क के श्री सुनील कुमार गौतम,डिप्टी कमिष्नर,मुजफ्फरपुर,बिहार तथा इरकाॅन इंटरनेषनल लिमिटेड के श्री सुरेन्दर सिंह,चीफ जेनरल मैनेजर,रेलवे प्रोजेक्टस,दिल्ली, श्री शीर्षत कपिल अशोक,जिला पदाधिकारी,मधुबनी, श्री दीपक वरनवाल,पुलिस अधीक्षक,मधुबनी, श्री दुर्गानंद झा,अपर समाहत्र्ता,मधुबनी, श्री शंकर शरण ओमी,अनुमंडल पदाधिकारी,जयनगर समेत अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे। स्थल निरीक्षण के क्रम में पटना गद्दी चौक के समीप से देवधा जानेवाली सड़क में रेलवे क्रासिंग का भी निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान इरकाॅन के पदाधिकारीगण भी उपस्थित थे। तत्पश्चात नगर पंचायत,जयनगर के प्रशासनिक भवन में भारत-नेपाल क्रास बार्डर रेल लिंक के संदर्भ में उच्च स्तरीय पदाधिकारियों के साथ बैठक आयोजित की गयी। बैठक में श्री शीर्षत कपिल अशोक,जिला पदाधिकारी,मधुबनी के द्वारा उपस्थित सभी पदाधिकारियों का स्वागत करते हुए परिचय प्राप्त किया गया एवं उनसे संबंधित समस्याओं के संदर्भ में अपनी बात रखने का अनुरोध भी किया गया। बैठक में इरकाॅन के पदाधिकारियों द्वारा जिला प्रशासन,मधुबनी से अनुरोध किया गया कि जयनगर-जनकपुर रेल लाईन के निकट जयनगर से देवधा जानेवाली रेलवे क्रासिंग से सटे मंदिर को हटाने का अनुरोध किया गया। ताकि रेल यातायात सुचारू रूप से चल सकें। इस संदर्भ में जिला पदाधिकारी,मधुबनी द्वारा इरकाॅन के प्रोजेक्ट मैनेजर से मंदिर को आस-पास ही स्थापित कराने हेतु स्थल चयनित करने को कहा गया। ताकि मंदिर को वहां स्थापित किया जा सकें। बैठक में एस.एस.बी,जयनगर के समादेष्ट द्वारा कहा गया कि नेपाली क्षेत्र से मानव व्यापार की गतिविधि काफी बढ़ गयी है। रेल परिचालन शुरू किये जाने के बाद नेपाली पुलिस के साथ संयुक्त गस्ती अभियान चलाना आवश्यक होगा। ताकि मानव तस्करी को रोका जा सकें। कस्टम विभाग के पदाधिकारियों द्वारा बताया गया कि भारत-नेपाल रेल सेवा प्रारंभ होने के बाद नेपाली रेलवे स्टेषन पर तत्काल अस्थायी एक्सरे-मशीन लगाया जाना आवश्यक है। ताकि अवैध वस्तुओं का रोकथाम किया जा सकें। इस हेतु दो कमरा कस्टम आॅफिस के लिए रेलवे प्लेटफार्म पर उपलब्ध कराने का अनुरोध किया गया। इरकाॅन के पदाधिकारियों द्वारा तत्काल एक कमरा उपलब्ध कराये जाने की बात कही गयी। डी.आर.एम.,समस्तीपुर ने बताया कि नेपाली रेलवे स्टेशन पर प्रवेश एवं निकास के लिए अलग-अलग द्वार होना चाहिए। बैठक में स्थानीय समस्याओं के निराकरण स्थानीय पदाधिकारियों से कराये जाने का निर्णय लिया गया। इसके साथ ही रेल परिचालन शुरू हाने के साथ ही सुरक्षा हेतु नियमित गस्ती कराने पर भी चर्चा की गयी।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...