राफेल की सीबीआई जांच से 'चौकीदार' का सच सामने आ जाता : राहुल - Live Aaryaavart

Breaking

सोमवार, 29 अक्तूबर 2018

राफेल की सीबीआई जांच से 'चौकीदार' का सच सामने आ जाता : राहुल

truth-of-rafel-deal-must-have-come-out-by-cbi-investigation-says-rahul
उज्जैन 29 अक्टूबर, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने यहां सोमवार को राफेल खरीदी और केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के निदेशक को दो बजे रात में हटाए जाने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि सीबीआई जांच हो जाती तो चौकीदार का सच सामने आ जाता। देश की जनता को पता चल जाता कि चौकीदार कौन है। दो दिनी दौरे पर मध्यप्रदेश पहुंचे राहुल गांधी ने उज्जैन में महाकाल के दर्शन करने के बाद दशहरा मैदान में जनसभा को संबोधित किया। राफेल लड़ाकू विमान खरीदी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, "सीबीआई का डायरेक्टर राफेल पर जांच शुरू करने जा रहा था, जिससे दूध का दूध और पानी का पानी हो जाता। सबको पता चल जाता कि देश के चौकीदार ने क्या किया? मगर देश के चौकीदार ने रात को दो बजे डरकर, कांपते हुए सीबीआई डायरेक्टर को हटाया। मोदी डरते हैं कि जिस दिन सीबीआई में राफेल की इन्क्वायरी शुरू हुई, उस दिन सच सामने आ जाएगा।" उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार ने कहा था कि एचएएल के पास अनुभव है और उसे लड़ाकू हवाईजहाज बनाने का कांट्रैक्ट मिलेगा। हर हवाईजहाज की कीमत 526 करोड़ रुपये होगी। मगर ऐसा नहीं हुआ, कुछ और ही हो गया।


राहुल ने कहा, "मोदीजी फ्रांस गए, उनके साथ अनिल अंबानी गए। राफेल डील से एचएएल को बाहर कर दिया गया। कारगिल की लड़ाई में पाकिस्तान की सेना पर जो हवाईजहाज बम गिरा रहे थे वे मिग-सुखोई और मिराज सरकारी एचएएल कंपनी ने ही बनाए थे।" उन्होंने कहा कि एक महिला जो एक यूनिट तक बिजली नहीं जलाती, उसे एक लाख रुपये का झूठा बिजली बिल दिया जाता है, जब वह उसे चुका नहीं पाती तो उसे जेल भेज दिया जाता है, वहीं देश के वित्तमंत्री अरुण जेटली से संसद में 9500 करोड़ रुपये का चोर विजय माल्या मुलाकात करता है और उन्हें बताकर लंदन भाग जाता है। कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि अगर एक अपराधी भाग जाता है तो सुरक्षा में तैनात सिपाही को निलंबित कर दिया जाता है, लेकिन देश के वित्तमंत्री पर कोई कार्रवाई नहीं होती। राहुल ने आगे कहा कि सिर्फ माल्या ही नहीं, मेहुल चोकसी, नीरव मोदी हजारों करोड़ रुपये का कर्ज लेकर भाग जाता है, वहीं अनिल अंबानी की जेब में 35 हजार करोड़ रुपये डाल दिए जाते हैं। अमीरों का तो कर्ज भी माफ कर दिया जाता है, मगर किसानों का कर्ज माफ करने के लिए प्रधानमंत्री और वित्तमंत्री तैयार नहीं हैं। कांग्रेस अध्यक्ष ने वादा किया कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आते ही 10 दिनों के भीतर किसानों का कर्ज माफ कर दिया जाएगा और जो मुख्यमंत्री ऐसा नहीं करेगा, उसे बदल दिया जाएगा।

एक टिप्पणी भेजें
Loading...